MP TET VARG 3 TOPIC- नोम चोमस्की का भाषा अर्जित करने का सिद्धांत

Principle of Language Acquisition by Noam Chomsky

नोम चोमस्की जो कि आधुनिक भाषाविज्ञानी (Modern Linguistic) हैं, उन्होंने कहा कि बच्चे शब्दों की निश्चित संख्या से कुछ निश्चित नियमों का अनुसरण करते हुए वाक्यों का निर्माण करना सीख जाते हैं। इन वाक्यों का निर्माण बच्चे जिन नियमों के अंतर्गत करते हैं, उन्हें चोम्स्की ने सार्वभौमिक व्याकरण (Universal Grammar Or  Generative Grammar or Transformative Grammar) कहा। 

उन्होंने बताया कि हमारे ब्रेन में लैंग्वेज को सीखने के कुछ ऐसे स्ट्रक्चर होते हैं जिनके कारण हम भाषा को सहज ही सीख जाते हैं। जैसे- एक बच्चा यह आसानी से सीख जाता है कि उसे संज्ञा या सर्वनाम से ही वाक्य को शुरू करना है। कभी हंसी मजाक में वह उल्टा-पुल्टा बोल दे वह अलग बात है परंतु उसको इसे सीखने में कोई खास परेशानी नहीं होती, जब तक कि कोई विकार ना हो।  
मैं खाना खाता हूं, मैं जाता हूं, यह वह आसानी से ही सीख जाता है। हूँ खाना खाता में,  हूँ जाता मैं, ऐसे वह कम ही बोलता है। 

Noam chomsky के ही अनुसार हमारे ब्रेन में भाषा अधिग्रहण यंत्र (LAD, Language Acquisition Device) है जो कि एक हाइपोथेटिकल डिवाइस है परंतु इस डिवाइस के कारण ही हमारे ब्रेन में भाषा को अर्जित करने की आंतरिक क्षमता (Innate capasity) पाई जाती है और यह एलएडी, 2 से 6 साल तक के बच्चों में काफी तेजी से काम करता है। इसी कारण अगर बच्चे के परिवार में 2 भाषाएं भी बोली जाती हैं तो वह उन्हें बचपन में आसानी से सीख जाता है, जबकि बड़ा होने पर यह लैड (LAD) कम प्रभावी होने लगता है। 

इसी कारण बच्चा अपनी मातृभाषा (Mother Tongue) को सहज अर्जित कर लेता है, परंतु दूसरी लैंग्वेज को सीखने के लिए उसे सीखने के लिए उसे कुछ प्रयास करने पड़ते हैं परंतु यदि दूसरी लैंग्वेज को सीखने के लिए भी हमें अनुकूल वातावरण मिले तो हम इसे भी अर्जित कर सकते हैं। 

उदाहरण के लिए-  हमारी मातृभाषा हिंदी है तो, हिंदी तो हम आसानी से सहज अपने आसपास के वातावरण से अर्जित कर लेते हैं परंतु दूसरी भाषा अंग्रेजी या तमिल, मराठी और तेलुगू आदि को सीखने के लिए हमें अनुकूल वातावरण की जरूरत होती है। इसी कारण हम बच्चों को इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ने के लिए भेजते हैं, जहां उन्हें इंग्लिश का वातावरण मिल सके, जिससे कि वह उसे आसानी से अर्जित कर सके और थोड़े प्रयास करके उसे सीख भी जाता है। मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के इंपोर्टेंट नोट्स के लिए कृपया mp tet varg 3 notes in hindi पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here