MP TET VARG-3 TOPIC- समाजीकरण से संबंधित सिद्धांत

Theories related with socialization

अरस्तु (Aristorle) के अनुसार मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। एडवर्ड एल्सवर्थ रॉस (Edward Alsesworth Ross) के अनुसार- समाजीकरण सहयोग करने वाले व्यक्तियों में 'हम' भावना का विकास करता है। 

किंबल यंग(Kimball Young) के अनुसार सामाजीकरण वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा व्यक्ति सामाजिक, सांस्कृतिक क्षेत्र में प्रवेश करता है एवं समाज के विभिन्न समूहों का सदस्य बनता है। जिसके द्वारा समाज के मूल्यों एवं मान्यताओं को स्वीकार करने की प्रेरणा मिलती है। 

समाजीकरण की प्रक्रिया कुछ सिद्धांतों के अनुसार होती है अलग-अलग विचारकों ने अपने अलग-अलग विचार दिए।

1. चार्ल्स हार्टन कूले का स्व दर्पण सिद्धांत (self glass theory of Charles Horton Cooley)

इस सिद्धांत के अनुसार समाजीकरण, सामाजिक अंतर्क्रिया पर आधारित होता है। समाज तथा अन्य लोगों के संपर्क में आने से बच्चों में स्वधारणा यानी स्वयं के बारे में सोचने की भावना विकसित होती है। इसी सिद्धांत के अनुसार कहा गया है कि समाज हमारे लिए एक दर्पण का कार्य करता है। 

2.  जीएच मीड का मैं और मुझे का सिद्धांत (i and Me theory  of  G. H. Mead) 

इस सिद्धांत के अनुसार हम समाज में अपनी भूमिका का निर्वाह करते हैं। बच्चों में धीरे-धीरे यह अवधारणा विकसित होने लगती है कि उसकी बातों और व्यवहारों का अन्य व्यक्तियों पर कैसा प्रभाव पड़ता है इसके माध्यम से बच्चों में, मैं की भावना का विकास होता है और उसका सामाजीकरण होना तीव्र गति से आरंभ हो जाता है। 
मैं और मुझे का मिश्रित रूप ही "स्व" है। यह दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। 

3. एमिल दुर्खिम का सामूहिक प्रतिनिधित्व का सिद्धांत (Group Representative Theory of Emile Durkheim) 
इनके अनुसार प्रत्येक समाज में अपनी विचारधारा, मूल्य, भाव, विश्वास, आदर्श, संस्कार तथा मान्यताएं प्रगतिशील अवस्था में होती हैं। जिसे समाज के व्यक्तियों द्वारा स्वीकृति मिली हुई होती है। बच्चे जिस समाज में जन्म लेते हैं, उस समाज के लोगों द्वारा किए गए आचरण एवं व्यवहार का अनुकरण करते हैं और समाजीकरण की क्रिया अपनी गति से चलती रहती है। 

इसके अतिरिक्त यूरी ब्रॉन्फेंब्रेनर इकोलॉजिकल सिस्टम थ्योरी (Urie Bronfennbrenner'sEcological System Theory) के अनुसार बच्चे और उसके पर्यावरण के बीच जो भी परिवर्तन होता रहता है, उसी के अनुसार उसका समाजीकरण होता है। इस सिद्धांत के 5 मॉडल है जिन्हें हम विस्तार से अगले आर्टिकल में जानेंगे।
 मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के इंपोर्टेंट नोट्स के लिए कृपया mp tet varg 3 notes in hindi पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here