MP BOARD- 12वीं पेपर लीक मामला: DEO, शिक्षक और कोचिंग संचालक के खिलाफ FIR की संभावना

भोपाल
। माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश, भोपाल से संबंधित स्कूलों में अर्धवार्षिक परीक्षा के दौरान कक्षा 12 के पेपर लीक करने के मामले में भिंड जिले के एक कोचिंग संचालक, उसके शिक्षक पिता एवं भिंड के जिला शिक्षा अधिकारी के खिलाफ FIR दर्ज होने की संभावना है। 

कक्षा 12 के पेपर लीक की कहानी 

मध्यप्रदेश में कक्षा 12 की अर्धवार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं। सोशल मीडिया पर लगातार सभी पेपर लीक हो रहे थे। भिंड कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस को अपने नेटवर्क से पता चला कि सभी पेपर एक कोचिंग संचालक ऋषि श्रीवास द्वारा लिखे जा रहे हैं। कोचिंग संचालक ऋषि श्रीवास के पिता कमलेश श्रीवास शासकीय शिक्षक हैं एवं फूप के शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल में परीक्षा प्रभारी हैं। 

कलेक्टर को यह भी पता चला कि इस मामले की जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी हरभजन सिंह तोमर को थी परंतु उन्होंने अपराध को छुपाने की कोशिश की। मामले का खुलासा होने के बाद कलेक्टर ने डीईओ को फटकार लगाई और कारण बताओ नोटिस दिया है। नोटिस मिलने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने फूप के शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल में परीक्षा प्रभारी कमलेश श्रीवास को सस्पेंड कर दिया गया। 

किस-किस के खिलाफ FIR की संभावना 

कलेक्टर ऑफिस की प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन के अनुसार कोचिंग संचालक ऋषि श्रीवास ने पेपर लीक किए इसलिए, उनके खिलाफ FIR तय मानी जा रही है। 
कोचिंग संचालक के पिता शिक्षक एवं परीक्षा प्रभारी हैं। अतः यह आरोप लगाया जा सकता है कि पिता ने बेटे की मदद करने के लिए पेपर लीक किए। 
जिला शिक्षा अधिकारी ने मामले की जानकारी होने के बावजूद कलेक्टर को अवगत नहीं कराया और जानकारी को छुपाने की कोशिश की। 
जिला शिक्षा अधिकारी ने पदेन कर्तव्य का पालन नहीं किया। 
जिला शिक्षा अधिकारी ने अपराध की जानकारी होने के बावजूद FIR दर्ज नहीं करवाई। 
जिला शिक्षा अधिकारी ने अपराध को वरिष्ठ अधिकारियों से छुपाकर अपराधी की मदद की। 
मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here