अनूपपुर की बेटी ने भोपाल में खंडवा के युवक की जान बचाई, मां को छोड़ मरीज को ले गई- BHOPAL NEWS

भोपाल
। अच्छे लोग कहीं भी हो, वह हमेशा अच्छे होते हैं। अनूपपुर की बेटी जया सिंह बिसेन भोपाल के रानी कमलापति स्टेशन पर अपनी मां को रिसीव करने के लिए आई थी। तभी देखा एक व्यक्ति की हालत गंभीर है। उसे मेडिकल इमरजेंसी की जरूरत है। अपनी मां को स्टेशन पर ही छोड़कर मरीज को कार में बिठाया और अस्पताल में भर्ती कराया। जया सिंह बिसेन की इस मदद के कारण खंडवा के विजय मसानी जिंदा है और स्वस्थ हैं। 

जया सिंह के पिता श्री आरसी सिंह बिसेन अनूपपुर जिला एवं सत्र न्यायालय में न्यायाधीश है। जया सिंह की मां अनूपपुर से भोपाल आईं थीं। जया सिंह उन्हीं को रिसीव करने के लिए रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पहुंची थी। वह अपनी मां को लेकर जाने ही वाली थी कि तभी उसने देखा पार्किंग एरिया में एक व्यक्ति की तबीयत खराब है और RPF के अधिकारी कर्मचारी एंबुलेंस का इंतजार कर रहे हैं। जया ने तत्काल डिसीजन लिया। बीमार व्यक्ति को मेडिकल इमरजेंसी की जरूरत थी। उसे अपनी कार में बिठाया और तत्काल नजदीक के प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया। 

खंडवा से पत्नी का एडमिशन कराने भोपाल आए थे विजय मसानी

विजय मसानी खंडवा के रहने वाले हैं। पेशे से फोटोग्राफर है। अपनी पत्नी का B.Ed में एडमिशन कराने के लिए पंजाब मेल से खंडवा से भोपाल आ रहे थे। रास्ते में सीने में हल्का दर्द हुआ। रेलवे स्टेशन पर उतरते ही दर्द तेज हो गया। थोड़ी ही देर में बेहोश होकर जमीन पर गिर गए। RPF जवान दीपक कुमार ने तत्काल उन्हें संभाला और एंबुलेंस एवं अपने अधिकारियों को कॉल किया। 

एक डॉक्टर तक नहीं है, काहे का आधुनिक रेलवे स्टेशन

रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को भारत के सबसे अच्छे रेलवे स्टेशनों में से एक बताया जा रहा है। जोर शोर से प्रचार हुआ था। लोग रेलवे स्टेशन की आधुनिकता देखने के लिए लाइन लगाकर गए थे, लेकिन यदि किसी रेलवे स्टेशन पर प्रायमरी ट्रीटमेंट के लिए मेडिकल स्टाफ तक नहीं है। ऐसे रेलवे स्टेशन को आधुनिक कैसे कहा जा सकता है। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें.