शिरडी के साईं बाबा मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित, कोरोना के कारण कार्रवाई- Hindi News

शिरडी
। महाराष्‍ट्र में ओमिक्रोन के बढ़ते संक्रमण के चलते अब धार्मिक पर्यटन पर भी असर देखा जा रहा है। इस क्रम में ताजा खबर यह है कि अब शिरडी में साईं बाबा मंदिर भक्तों के लिए बंद रहेगा। श्री साईं बाबा संस्थान शिरडी के अधिकारियों ने रविवार को घोषणा की कि महाराष्ट्र में रात 9 बजे से 6 बजे रात के कर्फ्यू के कारण साईं बाबा मंदिर रात के समय अब बंद रहेगा। 

इसके साथ ही यहां पर नियमित रूप से सुबह और रात की आरती भी भक्तों के लिए बंद रहेगी। शाम 4 बजे और रात 10 बजे की जाने वाली विशेष पूजा केवल मंदिर के पुजारियों की उपस्थिति में की जाएगी और किसी भी भक्त को अनुमति नहीं दी जाएगी। रात 9 बजे के बाद मंदिर बंद होने के कारण मंदिर का प्रसादालय भी बंद रहेगा।

शिरडी मंदिर को रात में बंद करने का निर्णय उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी नए कोविड दिशा-निर्देशों के संबंध में लिया गया है। कोविड -19 के नए ओमिक्रोन वैरियंट के बढ़ते खतरे को देखते हुए, महाराष्ट्र सरकार ने रात के दौरान शिरडी साईं बाबा मंदिर को बंद रखने का फैसला किया है। अब यह मंदिर भक्तों के लिए रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेगा और केवल दिन के समय सुबह 6 बजे से रात 9 बजे तक ही खुलेगा।

महाराष्ट्र सरकार ने जारी की है नई गाइडलाइन

महाराष्ट्र सरकार ने ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों और आगामी छुट्टियों के मौसम के मद्देनजर शुक्रवार को नए कोविड -19 दिशा-निर्देश जारी किए। अपने हालिया आदेश में राज्य सरकार ने कहा कि पूरे महाराष्ट्र में सार्वजनिक स्थानों पर पांच से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने पर रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक प्रतिबंध रहेगा। सामाजिक, राजनीतिक या धार्मिक आयोजनों के अलावा अन्य समारोहों में, बंद स्थानों में उपस्थित लोगों की संख्या कुल क्षमता के 50% से अधिक नहीं होनी चाहिए जहाँ सीटें स्थिर और अचल हों।

उपस्थित लोगों की संख्या क्षमता के 25% से अधिक नहीं होनी चाहिए जहां सीटें तय नहीं हैं। खेल आयोजनों में, लोगों की संख्या आयोजन स्थल की क्षमता के 25% से अधिक नहीं हो सकती। जिम, स्पा, होटल, थिएटर और सिनेमा हॉल अधिकतम 50% क्षमता पर काम कर सकते हैं। क्रिसमस से पहले जारी किए गए नए दिशा-निर्देश आधी रात से लागू कर दिए गए हैं। भारत की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया Hindi News पर क्लिक करें.