Small business ideas- सिवनी में सीताफल का बगीचा लगाइए, मोटा मुनाफा और सरकारी अनुदान भी

यदि आप अपना स्वरोजगार शुरू करना चाहते हैं, तो मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में आपके पास एक अच्छा विकल्प है। आप सीताफल का बगीचा लगा सकते हैं। मध्य प्रदेश शासन के उद्यानिकी विभाग द्वारा इसके लिए अनुदान की घोषणा की गई है। अनुदान की राशि ₹25000 प्रति हेक्टेयर बताई गई है। वैसे भी सीताफल की खेती कम लागत में मोटा मुनाफा वाली खेती कही जाती है।

उद्यानिकी विभाग द्वारा सिवनी जिले के किसानों के खेतों में सीताफल के बगीचे लगाये जाने हेतु नेशनल मिशन ऑन सस्टे नेबल एग्रीकल्चरर के घटक रेनफेड एरिया डेवलपमेंट(RAD) अंतर्गत 25.000 हेक्टेयर के लक्ष्य जारी किये गये है। उपरोक्त बगीचों का रोपण कतार से कतार 4 मीटर एवं पौधे से पौधे की दूरी 4 मीटर रख कर रोपण किया जाना है। 

योजना प्रावधान अनुसार पात्र हितग्राहियों को तीन वर्षो में 25000/- रूपये प्रति हेक्टेयर अनुदान दिया जायेगा। रोपण पश्चात प्रथम वर्ष में पौध उत्तर जीवितता प्रतिशत 75% होने पर 15000/- रूपये, द्वितीय वर्ष में पौध उत्तिर जीवितता प्रतिशत 90% होने पर 5000/- रूपये एवं तृतीय वर्ष में पौध उत्तणर जीवितता प्रतिशत 100% होने पर 5000/- रूपये अनुदान देय होगा। रोपण हेतु सीताफल की नवीन किस्मों – एनएमके 1 गोल्डरन, बालानगर आदि के ग्राफ्टेड पौधे विभाग द्वारा उपलब्ध  कराया जायेगा, पौधों की राशि का समायोजन अनुदान राशि से किया जायेगा।

उपरोक्त योजना का लाभ लेने हेतु कृषक उद्यानिकी विभाग के ऑनलाईन पंजीयन पोर्टल https://mpfsts.mp.gov.in में जाकर आवेदन कर योजना का लाभ ले सकते है। योजनान्तवर्गत प्रति कृषक न्यू.नतम 0.250 हेक्टे. एवं अधिकतम 4.000 हेक्टेौ. तक पौध रोपण का लाभ ले सकते है। योजना की अधिक जानकारी के लिए विकासखण्ड. स्तर पर कार्यालय वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी अथवा जिला स्तर पर कार्यालय सहायक संचालक उदयान जिला सिवनी से कार्यालयीन समय में सम्पर्क स्थापित किया जा सकता है।

सीताफल की खेती में कितना मुनाफा होता है 

मध्यप्रदेश के सीहोर जिले की युवा किसान विजय यादव बताते हैं कि उन्होंने धबोटी क्षेत्र में सन 2017 में 14 एकड़ जमीन में सीताफल की खेती शुरू की थी। उनकी लागत ₹80000 आई थी। पहला साल छोड़कर दूसरे साल से औसत 18 क्विंटल प्रति वर्ष फल प्राप्त हो रहे हैं। मंडी में सीताफल का भाव न्यूनतम ₹70 किलो होता है। यानी हर साल करीब ₹1000000 का सीधा फल प्राप्त होता है। सरकारी नौकरी और करियर से जुड़े अन्य समाचारों के लिए कृपया CAREER UPDATE पर क्लिक करें


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here