MP NEWS- कमलनाथ के हेलीकॉप्टर पर 4% और किसान के ट्रैक्टर पर 26% वैट टैक्स

भोपाल
। प्रचारित किया जा रहा है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने पेट्रोल डीजल पर 4% वेट टैक्स कम करके जनता को बड़ी राहत दी है लेकिन असली राहत तो हवाई जहाज संचालित करने वाली कंपनियों को दी गई है। हवाई जहाज के फ्यूल यानी ATF (एविएशन टरबाइन फ्यूल) पर 21% टैक्स कम करने का निर्णय लिया गया है। सरल हिंदी में समझाएं दो मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार कमलनाथ से उनके हेलीकॉप्टर के फ्यूल पर मात्र 4% टैक्स लेगी जबकि किसान के ट्रैक्टर पर 26% VAT TAX और बेरोजगार की बाइक पर 29% VAT + EXTRA TAX वसूले जा रहे हैं। 

ATF पर कितना टैक्स लेती थी सरकार, घटाने के बाद कितना रह जाएगा 

हवाई जहाज संचालित करने वाली कंपनियों पर शिवराज सिंह चौहान सरकार की कृपा शुरू से बनी रही है। जब मध्यप्रदेश में कामकाजी माता बहनों और बेरोजगारों से उनके पेट्रोल पर 33% और किसानों से उनके डीजल पर 30% टैक्स वसूल किया जाता था तब हवाई जहाज के फ्यूल पर मात्र 25% टैक्स लगाया गया था। इस कटौती के बाद मध्यप्रदेश में पेट्रोल पर 29% और डीजल पर 26% टैक्स लगेगा लेकिन हवाई जहाज के फ्यूल (एविएशन टरबाइन फ्यूल) पर मात्र 4% टैक्स लगेगा।

मिडिल क्लास से लेकर अमीरों और गरीबों को देती है सरकार 

चाणक्य ने कहा था कि उत्तम शासन व्यवस्था वह है जो अमीरों से लें और गरीबों में बांटे यानी मध्यमवर्गीय से ना ले ना दे परंतु मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार मिडिल क्लास से सबसे ज्यादा टैक्स वसूल करती है और अमीरों एवं गरीबों में बांट देती है। मध्यप्रदेश में मिडिल क्लास के लिए कोई योजना नहीं है। सभी योजनाएं करोड़ोंपतियों अथवा निर्धन नागरिकों के लिए है।

यदि आप मध्य प्रदेश में 100 करोड़ से ज्यादा का उद्योग स्थापित करना चाहते हैं तो आपके लिए बहुत सारी चीजें फ्री हो जाएंगी। यदि आप ठेला लगाना चाहते हैं तो उसके लिए सरकार मदद करेगी, बिना ब्याज का लोन देगी, मात्र ₹10 प्रतिदिन पर प्राइम लोकेशन पर 10X10 की जगह देगी परंतु यदि आपने पढ़ाई कर ली, और आप मिडिल क्लास से हैं तो आपको स्वरोजगार के लिए कुछ नहीं मिलेगा। लोन के लिए 2-3 लेकिन उसमें भी आबादी की तुलना में लक्ष्य बहुत कम होते हैं, इसलिए लोन नहीं मिलता। कमीशनखोरी तो खुलेआम चलती है। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here