MP NEWS- शिवपुरी बैंक घोटाले में चार अधिकारियों सहित 14 सस्पेंड

भोपाल।
सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा है कि सहकारिता विभाग में भ्रष्ट्राचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति सख्ती के साथ लागू है। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक शिवपुरी में गबन और घोटाला करने की गड़बड़ी का मामला सामने आने पर उन्होंने 13 सदस्यीय जाँच कमेटी गठित कर गड़बड़ी के हर पहलू और उससे जुड़े प्रत्येक अधिकारी-कर्मचारी की भूमिका की जाँच के आदेश दिये थे। जाँच कमेटी द्वारा एक माह की समय-सीमा में जाँच कर प्रतिवेदन दिया। 

बैंक में गबन और गड़बड़ी के मामले में शिवपुरी के जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक में समय-समय पर पदस्थ रहे 4 मुख्य कार्यपालन अधिकारियों, शिवपुरी बैंक के प्रबंधक, लेखापाल और लिपिक संवर्ग के कुल 10 कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध पाई गई। जाँच समिति के प्रतिवेदन पर आरोपी अधिकारियों - कर्मचारियों पर तुरंत कार्यवाही करते हुए बैंक केडर के प्रथम श्रेणी के 3 अधिकारी, द्वितीय श्रेणी की एक अधिकारी और बैंक के 10 कर्मचारियों को निलम्बित किया गया है। गबन करने वालों की सम्पत्ति को बैंक द्वारा सीज भी कर लिया गया है।

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक शिवपुरी में हुए गबन और धोखाधड़ी के प्रकरण में समय-समय पर शिवपुरी में सीईओ के पद पर पदस्थ रहे जिन 4 बैंक अधिकारियों को निलम्बित किया गया है, उनमें वर्तमान में टीकमगढ़ में मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद पर पदस्थ श्री ए.एस. कुशवाह, वर्तमान में मुरैना में मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद पर पदस्थ श्री डी.के. सागर, वर्तमान में रीवा में मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद पर पदस्थ श्री वाय.के. सिंह और वर्तमान में मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवपुरी में पदस्थ श्रीमती लता कृष्णन शामिल हैं। 

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक शिवपुरी में श्री ए.एस. कुशवाह एक जनवरी, 2006 से 22 जून, 2012 और 21 अगस्त, 2015 से 8 मार्च, 2019 तक पदस्थ रहे। इस दौरान श्री कुशवाह ने अपने कर्त्तव्यों का ठीक ढ़ंग से निर्वाह नहीं किया। कर्त्तव्यों के निर्वहन में घोर लापरवाही बरती। इसके परिणाम स्वरूप बैंक की शाखा कोलारस में गबन का घोटाला हुआ। समिति की जाँच ने अपने प्रतिवेदन में श्री कुशवाह की बैंक गबन और घोटाले में संलिप्तता होने का उल्लेख किया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक शिवपुरी में 6 मार्च, 2014 से 21 मार्च, 2015 तक पदस्थ रहे श्री डी.के. सागर, 11 मार्च, 2019 से 8 जुलाई, 2020 तक पदस्थ रहे श्री वाय.के. सिंह और 6 जुलाई, 2020 से अब तक पदस्थ श्रीमती लता कृष्णन को भी जाँच दल ने कर्त्तव्यों के निर्वहन में लापरवाही और उपेक्षापूर्ण कार्य-प्रणाली से बैंक में गबन और घोटाला होने के लिये जिम्मेदार माना है।

प्रशासक अपेक्स बैंक श्री नरेश पाल कुमार द्वारा निलम्बित चारों अधिकारियों में श्री कुशवाह, श्री सागर, श्री सिंह प्रथम श्रेणी केडर के अधिकारी हैं, जबकि श्रीमती लता कृष्णन द्वितीय श्रेणी केडर की अधिकारी हैं। चारों निलम्बित अधिकारियों को निलम्बन अवधि में अलग-अलग मुख्यालय से संबद्ध किया गया है। श्री कुशवाह को सहकारी बैंक शाखा सागर, सीईओ श्री सागर को राज्य सहकारी बैंक शाखा ग्वालियर, श्री सिंह को राज्य सहकारी बैंक शाखा रीवा और श्रीमती कृष्णन को राज्य सहकारी बैंक मुख्य शाखा टी.टी. नगर भोपाल से संबद्ध किया गया है। प्रशासक राज्य सहकारी बैंक द्वारा जारी आदेश में हवाला दिया गया है कि आर्थिक अनियमितता और गबन के संबंध में डॉ. अनिल कुमार को जाँच दल का प्रमुख बनाया गया था। डॉ. अनिल कुमार के साथ 12 अन्य अधिकारी-कर्मचारी जाँच दल से संबद्ध थे।

28 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

BHOPAL JOBS- आईटीआई मंडीदीप में अप्रेंटिसशिप मेला, 12 कंपनियां आएंगी
MP NEWSमध्य प्रदेश के 10 जिलों में 11 नए सरकारी कॉलेज खोले जाएंगे: उच्च शिक्षा मंत्री 
REAL INSPIRATIONAL STORY-IAS INTERVIEW- एक जवाब ने पूरे बोर्ड को इंप्रेस कर लिया 
CORONA NEWS- सावधान! पतझड़ शुरू, CORONA बढ़ सकता है, मुख्यमंत्री की बहन की मौत, पढ़िए बचने के लिए क्या करें
MP NEWS- PM AWAS YOJANA में कितनी रिश्वत लेना है, महिला विधायक ने समझाया
MP BOARD- सेंट्रल सेक्टर स्कॉलरशिप के लिए योग्य उम्मीदवारों की लिस्ट
MP NEWS- अक्टूबर में दीपावली की शॉपिंग और साफ सफाई के लिए सरकारी छुट्टियां
REAL INSPIRATIONAL STORY12वीं की पढ़ाई के दम पर UPSC टॉप किया, AIR 2nd जागृति अवस्थी की कहानी 
MP PEB EXAM CALENDAR 2021-22 UPDATE- दिसंबर में चार परीक्षाएं, शेष अगले साल
REAL INSPIRATIONAL STORY- पिता मोटर वाइंडिंग करते हैं, बेटा कलेक्टर बनकर सिस्टम ठीक करेगा 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiपहले स्कूटर का आविष्कार हुआ या मोटरसाइकिल का, दोनों में बेसिक अंतर क्या है
GK in Hindiपानी की टंकी ऊपर तो पेट्रोल टैंक जमीन के नीचे क्यों बनाते हैं
GK in Hindiक्या इनवर्टर से चार्ज करने पर मोबाइल खराब हो जाता है
GK in Hindiपितृपक्ष में कौए को भोजन क्यों कराते हैं, संदेशवाहक कबूतर को क्यों नहीं
GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here