डॉक्टर ने कोरोना मरीज को घर में भर्ती किया, नर्स की जगह बहू की ड्यूटी लगाई, मरीज तो बच गया बहू की मौत : आरोप - INDORE NEWS

इंदौर।
MAYANK HOSPITAL INDORE के डायरेक्टर डॉ संजय गुप्ता और उनके बेटों के खिलाफ पुणे महाराष्ट्र में FIR दर्ज की गई है। आरोप है कि उन्होंने दूसरी लहर के समय कोरोनावायरस से संक्रमित एक मरीज को अस्पताल में जगह न होने के कारण घर में भर्ती कर लिया। नर्स की जगह अपनी बहू ऐश्वर्या गुप्ता की ड्यूटी लगा दी। सुरक्षा उपकरण भी नहीं दिए। नतीजा बहू संक्रमित हो गई। कहीं अस्पताल सील ना हो जाए इसलिए बहू की जांच नहीं करवाई। अंततः उसकी मौत हो गई।

शादी के समय दहेज मांगा था लेकिन रिश्तेदारों के कारण चुप रह गए थे

मामला एडवोकेट ऐश्वर्या कटारिया निवासी कोरेगांव (पुणे) की मौत से जुड़ा है। 24 जनवरी 2021 को उसकी शादी इंदौर के प्रसिद्ध मयंक हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ संजय गुप्ता के बेटे मयंक गुप्ता निवासी स्कीम 54 से हुई थी। ऐश्वर्या के मां का आरोप है कि शादी के पहले ही ससुराल पक्ष ने दहेज में 20 लाख के जेवरात सहित काफी मांग थी, लेकिन रिश्तेदारों की सहमति के बाद शादी हुई। फिर भी ससुराल पक्ष के लोग दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे।

डॉक्टर संजय गुप्ता पर आरोप- कोविड-19 पॉजिटिव मरीज को घर में भर्ती कर लिया, नर्स की जगह बहू से सेवा करवाई

इस बीच कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से दौरान उसके ससुर डॉ. संजय गुप्ता 6 मई को सौम्या बंसल नाम एक कोविड पॉजिटिव रिश्तेदार को अपने घर ले आए। मां आरती का आरोप है कि ऐश्वर्या को बिना किसी सुरक्षा के उसकी देखभाल करने के लिए कहा गया। इस दौरान उन्होंने उसे मास्क तक उपलब्ध नहीं कराए, जिससे 9 मई को ऐश्वर्या भी संक्रमित हो गई। 

फेफड़ों में इन्फेक्शन का पता चला फिर भी RT-PCR नहीं करवाया

11 मई को उसका एक्स-रे किया गया पता चला कि फेफड़ों में इन्फेक्शन है, लेकिन ससुर गुप्ता ने RT-PCR टेस्ट नहीं करवाया। कहा कि अगर संक्रमित पाई गई तो पूरे परिवार का टेस्ट कराना होगा। अस्पताल को भी बंद करना पड़ सकता है, जिससे उन्हें नुकसान होगा।

डॉक्टर संजय गुप्ता ने कोरोना को मलेरिया बताया: मां का आरोप

ससुर डॉ. गुप्ता ने 15 मार्च को ऐश्वर्या की मां आरती कटारिया को बताया कि उसे मलेरिया है। 16 मई को फिर ऐश्वर्या का सीटी चेस्ट स्कैन किया गया तो उसके फेफड़ों में 70 फीसदी इन्फेक्शन निकला। उसका ऑक्सीजन लेवल कम होना शुरू हो गया, लेकिन फिर भी ससुर ने उसे अस्पताल में भर्ती नहीं किया। ऐश्वर्या की मां आरती और भाई आकाश इंदौर पहुंचे। आरती के मुताबिक इस दौरान भी ससुर ने गुमराह किया और कहा कि ऐश्वर्या के फेफड़ों में केवल 20 फीसदी ही इन्फेक्शन है।

ऑक्सीजन मास्क हटा दिया जिससे कार्डियक अरेस्ट हुआ और मौत हो गई

करीब 10 दिन जब 18 मई को जब उसकी हालत ज्यादा खराब हुई तो ससुर ने उसे अपने ही मयंक अस्पताल में भर्ती किया, जिसमें गंभीर कोविड मरीजों के उचित इलाज की व्यवस्था नहीं थी। हालत बिगड़ने पर बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। आरती कटारिया का आरोप है कि यहां पर ससुराल वालों ने ऑक्सीजन मास्क हटा दिया, जिससे ऐश्वर्या की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई।

Dr SANJAY GUPTA INDORE के खिलाफ FIR दर्ज

घटना के बाद पीड़िता की मां आरती कटारिया ने पुणे में पुलिस को शिकायत की और मामला इंदौर पुलिस को रेफर हुआ तो विजय नगर पुलिस ने ऐश्वर्या के पति मयंक, ससुर डॉ. संजय गुप्ता, सास पूजा, देवर मयंक व डॉ. दीपक बंसल के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, दहेज प्रताड़ना, षड्यंत्र, साक्ष्य मिटाने आदि धाराओं में केस दर्ज किया।

शादी में जितने लोग शामिल हुए हैं सबको बयान के लिए इंदौर लाओ: सीएसपी ने कहा

इसके बाद ऐश्वर्या की मां आरती व भाई आकाश CSP राकेश गुप्ता से मिले। ऐश्वर्या के परिवार वालों का आरोप है कि CSP द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार न कर उन्हें बचाया जा रहा है। CSP का कहना है मामला गैरइरादतन हत्या का नहीं है, इसलिए धारा 304-बी हटा दी जाएगी। फिर कहा कि ऐश्वर्या की शादी में मायके पक्ष के जितने लोग शामिल थे, उन सभी को बयान के लिए इंदौर लाओ।

CSP ने 2 नोटिस भेजें, शादी में आए मेहमानों के नाम नंबर मांगे

CSP ने 4 अगस्त और 2 सितंबर को ऐश्वर्या की मां को दो नोटिस भेजा। नोटिस में कहा गया कि मायके पक्ष के 16 लोगों के पते और मोबाइल नंबर दें, जिससे उनके बयान हो। आरती का कहना है कि इसके बाद जब CSP से बात की तो उन्होंने कहा कि शादी में जितने भी रिश्तेदार शामिल थे, सभी के बयान होंगे।

अभी तो बयान हो रहे हैं: सीएसपी राकेश गुप्ता

इस मामले में जब पत्रकारों ने सवाल किया तो CSP राकेश गुप्ता ने बताया कि केस से धारा 304-बी (गैरइरादतन हत्या) को हटाने जैसे कोई बात ही नहीं है। अभी विवेचना चल रही है जिसमें आधे लोगों के बयान हुए हैं। बाकी लोगों के बयानों व विवेचना के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

आरोपी डॉक्टर संजय गुप्ता का बयान

मुझे और मेरे परिवार पर लगाए आरोप निराधार हैं। बहू ऐश्वर्या की तबीयत 1 मई से खराब थी। सौम्या हमारी रिश्तेदार है और उसके माता-पिता के लंग्स में इंफेक्शन था, इसलिए उसे 6 मई को हम अपने घर पर लाए थे तब वह पॉजिटिव नहीं थी। उसकी रिपोर्ट 10 मई को पॉजिटिव आई थी। ऐश्वर्या का ऑक्सीजन लेवल 98 था। बाद में उसकी तबीयत खराब होने पर पहले मयंक और फिर बॉम्बे हॉस्पिटल भर्ती किया, जहां 11 लाख रु. मैंने खुद ने खर्च किए। ऐश्वर्या को बचपन से दिल में छेद की बीमारी थी।
डॉ. संजय गुप्ता, ऐश्वर्या के ससुर (डायरेक्टर, मयंक हॉस्पिटल, इंदौर)

24 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कर्मचारियों का प्रमोशन- अजाक्स और सपाक्स के साथ दूसरे दौर की बैठक भी बेनतीजा
मध्य प्रदेश मानसून- बंगाल के काले बादल हो रहे हैं, मूसलाधार बारिश होगी
MP ELECTION NEWSमध्यप्रदेश नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव- सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचा आयोग
SCHOOL EDUCATION NEWSभारत के सभी स्कूलों में समान पाठ्यक्रम की रूपरेखा हेतु राष्ट्रीय संचालन समिति
MP NEWSSDM चौहान के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज, साथी गिरफ्तार
असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती घोटाला- चयनित उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जांच के आदेश
MP NEWS- मप्र के सचिवालय में खुलेआम रिश्वत खोरी, ऊर्जा विभाग के अधिकारी गिरफ्तार
EASY VASTU TIPSवास्तु दोष का निवारण मात्र ₹5 के नमक से
BHOPAL NEWS- लोकायुक्त को देखते ही रिश्वत की रकम ठेले पर रखकर भागा कर्मचारी

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiध्रुव तारा की दिशा क्यों नहीं बदलती, हमेशा उत्तर में ही क्यों दिखता है
GK in Hindi- iPhone के विज्ञापन में हमेशा 9:41 टाइम क्यों दिखाते हैं
GK in Hindi- किचन में सिर्फ डिनर सेट क्यों होता है, लंच सेट क्यों नहीं होता
GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
GK in Hindiशिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाते हैं, कोई वैज्ञानिक कारण है या बस परंपरा
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here