EMPLOYEE NEWS- मात्र 1 साल पुराने कर्मचारियों को भी ग्रेच्युटी मिलेगी

नई दिल्ली।
गवर्नमेंट की तरफ से कंफर्म नहीं है लेकिन सूत्रों का कहना है कि केंद्र सरकार दिनांक 1 अक्टूबर 2021 से नया लेबर कोड लागू करने वाली है। कर्मचारियों को इसका सबसे बड़ा फायदा यह मिलेगा कि वह अपनी सेवा के 1 साल के बाद ही ग्रेच्युटी के हकदार हो जाएंगे। वर्तमान में ग्रेच्युटी के लिए कर्मचारी को कम से कम 5 साल नियमित सेवा अनिवार्य है। 

ग्रेच्युटी क्या होती है, क्या प्राइवेट कर्मचारियों को भी मिलती है 

किसी भी प्राइवेट कंपनी में कर्मचारी को वेतन प्राप्त करने, प्रोविडेंट फंड में नियोक्ता की हिस्सेदारी और पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने का अधिकार है। ठीक इसी प्रकार जब कर्मचारी को नियमित सेवाएं देते हुए 5 वर्ष से अधिक का समय बीत जाता है तो कर्मचारी को ग्रेच्युटी प्राप्त करने का भी अधिकार मिल जाता है। यह रकम उसे रिटायरमेंट के समय एक मुफ्त मिलती है। स्थाई विकलांगता अथवा मृत्यु की स्थिति में नियम शिथिल हो जाते हैं।

ग्रेच्युटी की गणना कैसे करें?

ग्रेच्युटी की रकम 2 फैक्टर पर निर्भर है- पहला, कंपनी में कितनी सालों तक सर्विस दी और दूसरा, आपकी अंतिम सैलरी। ग्रेच्युटी की गणना एक तय फॉर्मूले के आधार पर होती है। इसका फॉर्मूला है- कुल ग्रेच्युटी की रकम = (अंतिम सैलरी) x (15/26) x (कंपनी में कितने साल काम किया)।

मान लीजिए कि किसी कर्मचारी ने 5 साल एक ही कंपनी में काम किया। उस कर्मचारी की अंतिम सैलरी 20,000 रुपये (बेसिक सैलरी और महंगाई भत्ता मिलाकर) है। यहां महीने में 26 दिन ही काउंट किया जाता है, क्योंकि माना जाता है कि 4 दिन छुट्टी होती है। वहीं एक साल में 15 दिन के आधार पर ग्रेच्यु​टी का कैलकुलेशन होता है। इस प्रकार से उस कर्मचारी की कुल ग्रेच्युटी की रकम = (20000 वेतन) x (15/26) x (5 साल)= 57692 रुपये

17 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

सोमवार से शिक्षक भर्ती शुरू हो जाएगी: अब मुख्यमंत्री ने कहा
MP BOARD- त्रैमासिक परीक्षा का सिलेबस जारी, यहां पढ़िए
MP NEWS- पुलिस, शिक्षक, पटवारी भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी: CM शिवराज सिंह
मध्य प्रदेश मानसून- 3 जिलों बादल तोड़, 28 जिलों में मूसलाधार वर्षा की चेतावनी
MP BOARD- त्रैमासिक परीक्षा का संशोधित टाइम टेबल जारी
MP NEWS- मध्य प्रदेश में राशन की दुकानों का संचालन महिलाएं करेंगी: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा
BHOPAL NEWS- रेलवे ने प्लेटफार्म टिकट सस्ते किए
MPBOU BHOPAL की सलाहकार मैडम सुर्खियों में, आइएएस अफसर पर नेपोटिज्म का आरोप
MP BOARD- त्रैमासिक परीक्षा का टाइम टेबल जारी, यहां पढ़िए
GWALIOR NEWS- नगर निगम कमिश्नर और जिला पंचायत सीईओ बदले
MP NEWS- मात्र 35000 की सैलरी में चार आलीशान बंगले, लग्जरी लाइफ

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiशेरों के शिकार की परंपरा क्यों बनाई, उसका तो मांस भी नहीं खाया जाता
GK in Hindiगेहूं की रोटी में हवा कैसे भर जाती है, ज्वार और मक्का की रोटी में क्यों नहीं भरती
GK in Hindiजब अमेरिका 110V बिजली से जगमगाता है तो भारत में 220V बिजली सप्लाई क्यों की जाती है
GK in Hindiदुनिया की पहली डामर रोड कहां और कब बनी थी
GK in Hindiउल्लू घोंसला क्यों नहीं बनाते, खंडहर में क्यों रहता है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here