BHOPAL NEWS- स्पेशल डीजी के बंगले पर PWD कर्मचारी बंधक, वीडियो वायरल

भोपाल
। सोशल मीडिया पर अचानक एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें लोक निर्माण विभाग का एक कर्मचारी बता रहा था कि उसे स्पेशल डीजी शैलेश सिंह के बंगले पर बंधक बना लिया गया है। उसे अपने बेटे को अस्पताल लेकर जाना है और सुबह से खाना भी नहीं खाया है। मामले में पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट और पुलिस डिपार्टमेंट द्वारा तत्काल एक्शन दिया गया। एडीजी शैलेश सिंह का कहना है कि कर्मचारी बिजली सुधारने आया था, लेकिन सुधार नहीं पाया। कार्रवाई से बचने के लिए इस तरह का वीडियो वायरल किया है।

सुबह 10:30 बजे दो कर्मचारी बंगले पर आए थे

जानकारी के मुताबिक, चार इमली C2/8 में स्पेशल डीजी शैलेष सिंह रहते हैं। कई दिनों से उनके घर की बिजली सप्लाई में प्रॉब्लम आ रही थी। इसे लेकर उन्होंने PWD को सूचना दी थी। बुधवार सुबह करीब 10:30 बजे दो कर्मचारी रतीराम और राजेन्द्र बिजली सुधारने के लिए यहां पहुंचे। कर्मचारियों को काम बताकर डीजी शैलेष सिंह ड्यूटी चले गए। घर में उनकी पत्नी सुनीता सिंह थीं।

दोपहर में वीडियो वायरल हुआ

दोपहर में एक कर्मचारी ने सोशल मीडिया के जरिए वीडियो भेजा। उसने बताया कि बंगले का काम पूरा हो चुका है। फिर भी उसे बंधक बनाए रखा गया है। उसे बेटे को अस्पताल लेकर जाना था। सुबह से खाना-पीना नहीं खाया है। वीडियो वायरल होने के बाद PWD के अधिकारी बंगले पर पहुंचे। तब तक एडीजी शैलेष सिंह भी ऑफिस से पहुंच चुके थे।

काम नहीं कर पाया इसलिए मनगढ़ंत आरोप लगा रहा है: श्रीमती सुनीता सिंह

स्पेशल डीजी की पत्नी सुनीता सिंह ने बताया कि 7 घंटे में कर्मचारी बिजली नहीं सुधार पाए। बिजली सप्लाई में गड़बड़ी की वजह से दो ट्यूब लाइट में विस्फोट हुआ, एसी, फ्रिज खराब हो गए। PWD ने मजदूरों को बिजली सुधारने भेज दिया था। उन्हें बिजली सुधारने का नॉलेज नहीं था। जो कर्मचारी आरोप लगा रहा है, वह बंगले में सुबह 11 बजे आया। साढ़े पांच बजे चला गया। काम नहीं कर पाने की वजह से कर्मचारी मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं। कर्मचारी का वीडियो सामने आने के बाद भोपाल पुलिस के अधिकारी यहां पहुंचे।

मुझे घर के बाहर खड़ा मिला, कोई बंधक नहीं था: एडीजी शैलेश सिंह

स्पेशल डीजी शैलेष सिंह ने बताया कि वह सुबह ड्यूटी पर चले गए थे। शाम करीब पौने छह बजे लौटे तो बिजली सुधारने आए कर्मचारी मुझे बंगले के बाहर खड़ा मिला। उसके साथ तीन-चार अन्य लोग थे। मैंने उससे समस्या पूछी, तो वह चला गया। बंधक बनाने का आरोप निराधार है। बंगले की बिजली अब तक नहीं सुधरी है। अनट्रेंड कर्मचारियों को बिजली बनाने के लिए भेजा गया था। उनके पास सुरक्षा के इंतजाम नहीं थे।

09 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- तहसीलदार ने किसान के मुंह पर मोबाइल फेंक कर मारा
BHOPAL NEWS- डिंडोरी के कारोबारी सहित दो नेता गिरफ्तार, होटल में नाबालिग लड़की बुलाई थी
मध्य प्रदेश मानसून- 13 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी
महिला टीचर ने छात्रा का हाथ तोड़ दिया, पुलिस ने FIR नहीं लिखी - INDORE NEWS 818
GWALIOR NEWS- लड़की को मंत्री के नाम पर धमकाया, ब्लैकमेल करके कई बार रेप किया
MP NEWS- आउटसोर्स कर्मचारियों पर कंट्रोल के लिए गाइडलाइन
पत्नी को भरण पोषण देने के बाद क्या पति दूसरी शादी कर सकता है - The Hindu Marriage Act,1955
MP CORONA NEWS- सावधान, नागपुर-मुंबई में तीसरी लहर शुरू, एमपी से डायरेक्ट कनेक्ट है

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiबिजली के तार को कैसे पता होता है, पंखे को 60 वाट और एसी को 1160 वाट बिजली देना है
GK in Hindiउल्लू घोंसला क्यों नहीं बनाते, खंडहर में क्यों रहता है
GK in Hindiशहद की बोतल पर एक्सपायरी डेट क्यों नहीं होती
GK in Hindiयदि पृथ्वी के 4 टुकड़े हो जाएं तो क्या सभी वैसे ही घूमते रहेंगे
GK in Hindiदर्पण के पीछे कौन सा पदार्थ लगा होता है, जो पारदर्शी से परावर्ती बन जाता है 
GK in Hindiभगवान विष्णु विश्राम मुद्रा में क्यों रहते हैं, सिंहासन पर क्यों नहीं बैठते
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here