MP मेडिकल यूनिवर्सिटी घोटाला- जांच के बाद एक और जांच की तैयारी - HINDI NEWS

जबलपुर
। Madhya Pradesh Medical Science University, Jabalpur परीक्षा घोटाला प्रमाणित हो जाने और एडमिशन घोटाले का खुलासा हो जाने के बाद शिवराज सिंह चौहान सरकार पर दागियों के विरुद्ध FIR का दबाव बढ़ने लगा था, इसी बीच ब्रेकिंग न्यूज़ मिली है कि अब तक हुई जांच को फाइल में बंद कर के नए सिरे से नई जांच कराई जाएगी। सवाल यह है कि क्या जांच के बाद फिर से जांच का प्रावधान है और फिर से जांच कराने की जरूरत ही क्या है। 

क्या कुलपति दुबे को इसीलिए इस्तीफे के लिए मजबूर किया था

बताया जा रहा है कि चिकित्सा शिक्षा विभाग मंत्रालय के अफसरों और विश्वविद्यालय के अधिकारियों के बीच फिर से जांच कराने के मुद्दे पर सहमति बन गई। नवनियुक्ति कुलसचिव डॉ. प्रभात बुधौलिया के मुताबिक चिकित्सा शिक्षा विभाग का निर्देश मिलते ही समिति में सदस्यों के नाम और उसकी जांच का दायरा तय कर दिया जाएगा। जांच समिति में आइटी विशेषज्ञों को भी शामिल किया जाएगा। (यहां स्वाभाविक प्रश्न उपस्थित होता है कि क्या पूर्व कुलपति दुबे दोबारा जांच के लिए तैयार नहीं थे, इसीलिए उन्हें अपमानित किया गया और इस डीपी के लिए मजबूर कर दिया गया।)

मध्य प्रदेश पुलिस की साइबर सेल से अच्छी जांच कौन कर सकता है 

नवनियुक्ति कुलसचिव डॉ. प्रभात बुधौलिया का कहना है कि जांच समिति में आईटी विशेषज्ञों को शामिल किया जाएगा। मध्यप्रदेश में आईटी से संबंधित अपराधों की जांच एवं कार्यवाही के लिए पुलिस डिपार्टमेंट की साइबर सेल ना केवल एक्सपर्ट है बल्कि एक्सपीरियंस भी है। मेडिकल यूनिवर्सिटी में परीक्षा और एडमिशन घोटाला कंप्यूटर सर्वर की मदद से किया गया है। इस मामले की जांच मध्य प्रदेश पुलिस की साइबर सेल से ज्यादा अच्छा कौन कर सकता है।

मुख्यमंत्री हस्तक्षेप क्यों नहीं कर रहे 

सीएम शिवराज सिंह चौहान भ्रष्टाचार और माफिया के खिलाफ हमेशा अभियान का एलान करते हैं। 15 अगस्त को ही उन्होंने देशभक्ति की नई परिभाषा सिखाई है। प्रश्न यह है कि मध्य प्रदेश मेडिकल यूनिवर्सिटी परीक्षा एवं एडमिशन घोटाला के मामले में मुख्यमंत्री हस्तक्षेप क्यों नहीं कर रहे हैं। क्यों सरकार की गतिविधियां कुछ इस प्रकार की है कि उसकी मंशा पर संदेह किया जाए। वह कौन लोग हैं जिनके नाम सामने आने के कारण सरकार को नुकसान हो सकता है और चिकित्सा शिक्षा मंत्री कैलाश विश्वास सारंग किस घोटालेबाज के दबाव में हैं।

17 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- CM शिवराज सिंह के गले में संक्रमण, सभी कार्यक्रम रद्द
MP SPS TRANSFER LIST- एडिशनल एसपी स्तर के अधिकारियों की तबादला सूची
BHOPAL NEWS- एक्स्ट्रा पैसा कमाने बैतूल जाती थी यासमीन, पकड़ी गई
मध्य प्रदेश मानसून- 15 जिलों को हिमालय से लौटते बादलों का इंतजार, पढ़िए बारिश कब होगी
MP EMPLOYEE NEWS- अनुकंपा नियुक्ति प्राप्त शिक्षकों को चपरासी बनाने वाले आदेश पर हाई कोर्ट का स्टे
MP NEWS- दो मंत्रियों के बाद कलेक्टर की तबीयत बिगड़ी, समारोह के बीच में से रवाना
GWALIOR NEWS- विवाहिता को फ्लर्ट करना भारी पड़ गया, सिरफिरा शादी के लिए पीछे पड़ गया
CM Sir, एक तो नौकरी अस्थाई ऊपर से वेतन भी 7000, अच्छी बात है क्या - Khula Khat
INDORE NEWS- कावेरी बिल्डिंग में झंडा वंदन का विरोध, पथराव, वाहन तोड़े
BHOPAL NEWS- 12वीं की छात्रा ने सल्फास ट्राई करके देख रही थी, मौत 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiइमरजेंसी में कार लॉक हो जाए तो जान बचाने के लिए क्या करें
GK in Hindi- चंद्रमा को मामा क्यों कहते हैं, पढ़िए वैज्ञानिक कारण
GK in Hindiकार का साइलेंसर पीछे, ट्रक का साइड में और ट्रैक्टर का सामने क्यों होता है
GK in Hindiअंग्रेजी के अक्षरों में i और j के ऊपर बिंदी क्यों लगाई जाती है
GK in Hindiमाचिस की तीली किस लकड़ी से बनती है, माचिस का आविष्कार किसने और कब किया 
GK in Hindiदुबई के सभी शेख अमीर क्यों होते हैं, कोई कंगाल क्यों नहीं होता
GK in Hindiपरिक्रमा को इंग्लिश में क्या कहते हैं और हिंदी में इसका अर्थ क्या है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here