JABALPUR NEWS- शहर के पूरे अस्पताल फुल, फर्श पर पड़े हैं मरीज, डेंगू का कहर

जबलपुर
। मच्छर मारना सरकार की जिम्मेदारी है, इसके लिए पूरा मलेरिया डिपार्टमेंट बनाया गया है। नगर निगम को भी मच्छर मारने के लिए टैक्स दिया जाता है। बावजूद इसके जबलपुर शहर में डेंगू मच्छरों की संख्या बेतहाशा बढ़ती जा रही है। नतीजा आम नागरिक डेंगू बुखार से पीड़ित हो रहे हैं। हालात ये हैं कि शहर के सभी अस्पताल फुल हो गए हैं। लोग गलियों में और फर्श पर बिस्तर डालकर पड़े हुए हैं। 

जबलपुर में डेंगू का कहर और SDP किट खत्म

जबलपुर शहर के विक्टोरिया-मेडिकल सहित सभी प्राइवेट हॉस्पिटल डेंगू बुखार के मरीजों से भरे हुए हैं। रांझी, अधारताल, महाराजपुर, उजारपुरवा, गढ़ा, गोकलपुर, घमापुर सहित दर्जन भर क्षेत्रों में हर घर में कोई न कोई बीमार है। विक्टोरिया में तो फर्श पर बिस्तर डालकर मरीजों को भर्ती करना पड़ रहा है। ऊपर से मुश्किल ये है कि शहर में SDP किट खत्म हो गई है।

मौत का डर दिखाकर प्लेटलेट्स के नाम पर कालाबाजारी

डेंगू के कहर के बीच अस्पताल संचालकों की लूट भी शुरू हो गई है। 50 हजार प्लेटलेट्स होते ही अस्पताल संचालक मरीजों के परिजनों को डरा कर प्लेटलेट्स लाने का दबाव डाल रहे हैं। आलम ये है कि शहर के ब्लड बैंकों में अफरा-तफरी का आलम है। वहां प्लेटलेट्स के लिए जरूरी SDP किट का ही टोटा पड़ गया है। प्लेटलेट्स के लिए डोनर की जैसे-तैसे परिजन व्यवस्था कर ब्लड बैंक पहुंचते हैं तो वहां SDP किट ही नहीं होती। ब्लड बैंकों में SDP किट के लिए नंबर लगाने पड़ रहे हैं, जो चंद घंटों में ही समाप्त हो जा रही है।

प्लेटलेट्स- उपलब्धता के बजाय प्रशासन ने पाबंदियां लगा दी

अस्पतालों की ओर से मरीज को प्लेटलेट्स की जरुरत बताएं जाने पर संबंधित मरीज के ताजा प्लेटलेट्स काउंट की रिपोर्ट भी लगाना अनिवार्य कर दिया है। ब्लड बैंकों को निर्देशित किया है कि वे 20 हजार से ज्यादा प्लेटलेट्स काउंट वाले मरीजों के लिए SDP/PRP की मांग करने वाले संबंधित अस्पताल से संपर्क करें। अस्पताल की ओर से बताएं गए विशेष कारण की जानकारी से हेल्थ विभाग को भी रोज अवगत कराएं।

डॉक्टरों से कहा SDP/PRP लिखें 

जबलपुर शहर में केवल दो ब्लड बैंक में SDP- Single donor platelet की सुविधा उपलब्ध है जबकि 5 ब्लड बैंक में PRP-pooled random donor की सुविधा उपलब्ध है। SDP की तुलना में PRP ज्यादा आसानी से उपलब्ध है और शुल्क भी कम लगता है बावजूद इसके डॉक्टर SDP लिख रहे हैं। ताकि परिजनों को परेशान होना पड़े और कालाबाजारी का धंधा फलता फूलता रहे। प्रशासन ने डॉक्टरों से कहा है कि SDP/PRP लिखें, ताकि परिजनों को यदि सिंगल डोनर प्लेटलेट नहीं मिलती तो वह पूल्ड रेंडम डोनर की सुविधा का उपयोग कर सकेंगे। 

प्लेटलेट्स के 20 हजार काउंट कोई खतरा नहीं

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी अस्पतालों और ब्लड बैंक को जारी किए गए आदेश में विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन का हवाला दिया गया है, जिसमें 10 हजार से कम प्लेटलेट्स काउंट पर ही मरीज के ब्लड टांसफ्यूजन की बात कही गई है, हालांकि मरीजों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने WHO की गाइडलाइन से दोगुनी प्लेटलेट्स की संख्या शहर में डेंगू मरीजों के उपचार को लेकर तय की है।

पांच लीटर पानी का करें सेवन

डेंगू के संक्रमण के बीच निजी अस्पताल में पदस्थ डॉ. शैलेंद्र राजपूत ने बताया कि डेंगू ग्रस्त मरीजों को घबराने की जरूरत नहीं है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन के हिसाब से प्लेटलेट्स की मात्रा 10 हजार से कम होने या रक्तस्त्राव की स्थिति में ही मरीज को प्लेटलेट्स चढ़ाने की जरूरत पड़ती है।

डेंगू पीड़ित मरीज को पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए। इस दौरान काढ़ा आदि से बचना चाहिए। इसका उपयोग करने से डिहाइड्रेशन का खतरा रहता है, जो जानलेवा साबित होता है। वहीं ओवर द काउंटर दवाएं खरीदने की बजाए डॉक्टर की सलाह पर ही दवा लें। आकस्मिक स्थिति में सिर्फ पैरासिटामोल खरीदना चाहिए।

31 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- आईएएस लोकेश जांगिड़ का एक और विवाद, लड़की ने चैट वायरल कर दी
MPBJP युवा मोर्चा प्रदेश पदाधिकारियों की लिस्ट जारी
BREAKING NEWS- 19 वर्षीय युवती, नाबालिग बालक को भगा ले गई, FIR दर्ज, गिरफ्तार, जेल भेजा
कलयुग में श्री राधा-कृष्ण के प्रेम विवाह की कथा, आज भी मंदिर में स्थापित हैं
INDORE NEWS- स्कूल में भाई बनकर बातचीत शुरू की थी, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा- FIR में आरोप
MP NEWS- स्कूलों ने पूरी फीस वसूली तो हाई कोर्ट की अवमानना होगी, मामला अटक गया
मध्य प्रदेश मानसून- हवाएं बदलीं, 5 जिलों में मूसलाधार, आधे प्रदेश में भारी बारिश की संभावना
GK in Hindiश्री कृष्ण पृथ्वी पर कितने साल तक रहे ,पढ़िए आज उनकी आयु कितनी हो गई
MPPSC DSP EXAM- मध्य प्रदेश पुलिस डीएसपी के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी
MP NEWS- स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए गाइडलाइन
MP COLLEGE EXAM NEWS- नए सत्र में परीक्षा का पैटर्न भी बदल गया है, मक्कारी के नंबर कटेंगे

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiशू-लेस में लगे प्लास्टिक या धातु के लॉक को क्या कहते हैं
GK in HindiBANK सबको HOME LOAN देता है लेकिन खुद किराए के भवन में रहता है, ऐसा क्यों
GK in Hindiपृथ्वी पर हिमालय लेकिन ब्रह्मांड का सबसे ऊंचा पर्वत कौन सा है
GK in Hindiएक गांव जहां कोबरा सांप और इंसान साथ-साथ रहते हैं, अच्छे पडोसियों की तरह
GK in Hindiबिस्किट्स में छोटे-छोटे छेद क्यों होते हैं, सिर्फ डिजाइन है या कोई टेक्नोलॉजी
GK in Hindi- ताश की गड्डी का चौथा राजा सुसाइड क्यों कर रहा है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here