COVID- सारे प्रतिबंध हटा दिए तो तीसरी लहर सबसे खतरनाक होगी: AIIMS डायरेक्टर ने कहा

नई दिल्ली।
AIIMS - All India Institute Of Medical Science के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का कहना है कि यदि सभी प्रकार के प्रतिबंध हटा दिए गए तो तीसरी लहर अब तक की सबसे खतरनाक लहर होगी। उन्होंने कहा कि 'एक भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के मॉडल से यह प्रदर्शित होता है कि यदि सारी पाबंदियां हटा दी जाती हैं और यदि वायरस (का स्वरूप) भी इम्युनिटी को चकमा देने वाला हो, तो अगली लहर दूसरी लहर से कहीं अधिक बड़ी हो सकती है।

कई राज्यों की सरकारें लापरवाह होती जा रही हैं 

उल्लेखनीय है कि भारत में कई राज्यों की सरकारें लापरवाह होती जा रही हैं। पूरे देश में कोरोनावायरस संक्रमण का ग्राफ नीचे गिरने के कारण कुछ राज्यों में यह मान्यता बनती जा रही है कि फिलहाल तीसरी लहर नहीं आएगी। आएगी भी तो वैक्सीनेशन हो जाने के कारण ज्यादा खतरनाक नहीं होगी। आधिकारिक सरकारी संवाद के दौरान प्रोटोकॉल की बात की जाती है परंतु सरकारी कार्यक्रमों में प्रोटोकॉल का पालन होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा। याद रखना होगा कि दूसरी लहर भी इसी लिए खतरनाक हो गई थी क्योंकि नेताओं ने प्रोटोकॉल का पालन बंद कर दिया था और जनता यह समझ बैठी थी कि जब मंत्री निश्चित है इसका मतलब कोरोनावायरस खत्म हो गया है।

इस तरह कम होगी तीसरी लहर की गंभीरता

रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने एक कार्यक्रम में कहा कि सामाजिक दूरी के नियमों का पालन, मास्क पहनना और टीका लेने जैसे कोविड से जुड़े नियमों का अनुपालन कर तीसरी लहर की गंभीरता को घटाया जा सकता है। उन्होंने कहा, 'यदि कुछ पाबंदियां बनाए रखी जाती है और वायरस भी स्थिर रहता है तो मामले ज्यादा नहीं होंगे और यदि हम अधिक पाबंदियां लगाएंगे तो मामले और भी कम होंगे।

अब तक नए वैरिएंट पर काम कर रही है कोरोना वैक्सीन

रणदी गुलेरिया ने कहा कि यदि कोरोना के नए वैरिएंट उभरते भी हैं तो मौजूदा टीकों में कुछ बदलाव किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर अन्य देशों में देखी जा रही है, लेकिन मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या घटी है, जिससे संकेत मिलता है कि टीके काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोवैक्सीन, कोविशील्ड और स्पूतनिक वी के अलावा कई अन्य टीकों पर देश में काम चल रहा है।

16 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- नगर एवं पंचायत चुनाव के लिए टाइम लिमिट तय
MP BOARD NEWS- कक्षा 9 एवं 10 में गणित की जगह संगीत अथवा कंप्यूटर का विकल्प
MP NEWS- गंजबासौदा बच्चे को बचाने आई भीड़ कुएं में गिरी, रेस्क्यू ऑपरेशन LIVE
MP NEWS- शिक्षकों के स्थानांतरण के नाम पर शासन का झुन-झुना, लास्ट डेट बढ़ाई जाए: कर्मचारी संघ
MP NEWS- कमलनाथ- फैसला सुरक्षित, नफा नुकसान की नापतोल जारी 
MP NEWS- मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विवेक तन्खा की मांग तत्काल स्वीकार की 
MPPEB POLICE भर्ती परीक्षा कब होगी, यहां पढ़िए
JABALPUR NEWS- घर से भागी 2 लड़कियों को भोपाल में ऑटो चालक ने बचाया
Khula Khat- रोजगार मेले लगाने वाली सरकार चयनित शिक्षकों को नियुक्त क्यों नहीं दे रही है 
MP CORONA- क्यों जोखिम ले रही है शिवराज सरकार, टोटल लॉकडाउन से धारा 144 अच्छी है
MP EMPLOYEE NEWS- अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा का गठन: केन्द्र के समान डीए, रोकी गई वेतन-वृद्धि मांगी
BHOPAL NEWS- महिला डॉक्टर ब्लैकमेलिंग एवं शोषण का शिकार, दोस्त पर विश्वासघात का आरोप
GWALIOR NEWS- छोटी बहन का वीडियो दिखाकर बड़ी बहन का भी शोषण किया
INDORE NEWS- पुलिस को डॉ रावत की तलाश, मिस्टर एक्स की एंट्री
TRUE LOVE STORY- बचपन के प्यार से धोखा- जिस लड़की ने डॉक्टर बनवाया उसी को छोड़कर भाग गया

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

inspirational story in hindi- महिला सफाई कर्मी ने किस्मत बदली, RAS अफसर बन गई
GK in Hindi- मादा कोयल की आवाज मधुर नहीं होती, वह तो अपराधी होती है
GK in Hindiरात 9 के बाद पत्नी से बहस करना किस देश में अपराध
GK in Hindiगाय को माता क्यों मानते हैं, दूध तो भैंस भी देती है 
GK in HindiDISC BRAKE बाइक के अगले पहिए में क्यों लगाते हैं, पिछले में क्यों नहीं
GK in Hindiकैसे पता करें TV-AC फ्रिज ने 1 महीने में कितनी यूनिट बिजली खर्च की 
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here