Loading...    
   


गैस सिलेंडर ब्लास्ट, महिला के चीथड़े उड़ गए, मौत, घर का छप्पर उड़ा, गहस्थी खाक - JABALPUR MP NEWS

सिहोरा जिला जबलपुर।
सिहोरा से चार किलोमीटर दूर सिलोडी महगवां गांव में बुधवार को घरेलू सिलेंडर में ब्लास्ट होने से एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई। हादसा दोपहर करीब एक से डेढ बजे के बीच का बताया जा रहा है। ब्लास्ट इतना भीषण था कि घर का छप्पर तक उड गया वहीं पूरी गहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया। 

ब्लाॅस्ट इतना तेज था कि उसकी आवाज से पूरा गांव गूंज उठा। हादसे की खबर लगते ही भारी संख्या में ग्रामीणों की भीड मौके पर पहुंची और आग को बुझाने की कोशिश लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। मौके पर पहुंची सिहोरा पुलिस ने महिला का आग से जला क्षत-विक्षत शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। 

पुलिस से हासिल जानकारी के मुताबिक ग्राम महगवां निवासी लली बाई ठाकुर 35 दोपहर में खाना बनाने के बाद कमरे में सो रही थी। करीब एक से डेढ बजे के लगभग अचानक तेज धमाके के साथ घर से आग की पलटें महिला के ससुर रमेश सिंह 65 ने उठती देखीं। देखते ही भारी संख्या मंे ग्रामीणों की भीड जमा हो गई। ग्रामीणों ने आग को बुझाने की कोशिश की लेकिन लपटें इतनी तेज थी कि उनकी सारी कोशिश नाकाम हो गई। गांव के लोगों ने तत्काल घटना की सूचना सिहोरा थाना पुलिस और फायर बिग्रेड सिहोरा को दी। 

पूरी तरह जल चुकी थी महिला क्षत-विक्षत हालत में मिला शव 

हादसे की सूचना के बाद सिहोरा थाना का अमला और फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची। मशक्कत के बाद घर में लगी आग को फायर बिग्रेड अमले ने काबू में किया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। सिलेंडर ब्लास्ट से लगी आग की चपेट में आने से ललि बाई पूरी तरह जल चुकी थी। पुलिस ने लली बाई का जला हुआ क्षत-विक्षत हालत में शव घर से बरामद किया।

घर का छप्पर उडा गहस्थी का सामान खाक 

सिलेंडर का ब्लास्ट इतना तेज था कच्चे घर का छप्पर उड गया। वहीं आग लगने के कारण पूरी गहस्थी का समान जलकर खाक हो गया। आग पहले कमरे में लगने के बाद दूसरे कमरे तक जा पहुची थी। समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता आज-बाजू के दोनों घर पूरी तरह जलकर राख में तब्दील हो जाते। 
 

पति हुआ बेसुध परिवार के लोगों का रो रोकर बुरा हाल 

इस दर्दनाक हादसे के बाद लली बाई के पति हिम्मत सिंह ठाकुर बेसुध सा हो गया है। उसे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि उसकी पत्नी अब इस दुनिया में नहीं रही। घटना के समय वह मजदूरी करने सिहोरा आया था। वहीं महिला की सास माया बाई छोटे भाई अशोक और उसकी पत्नी यशोदा का भी इस घटना के बाद रो-रोक कर बुरा  हाल है। 

देवरानी के बच्चे गए थे स्कूल नहीं तो हो जाती बडी घटना 

ललि बाई और हिम्मत की शादी को 22 साल हो गए थे लेकिन उनकी कोई औलाद नहीं थी। देवर अशोक और यशोदा के बच्चे रोज दोपहर ललि के पास आ जाते थे लेकिन बुधवार को स्कूल जाने के कारण दोनों ललि के पास नहीं आए। अगर दोनों घर में ही होते तो हादसे के शिकार हो जाते। 

गैस सिलेंडर का उपरी हिस्सा फटा पुलिस मामले की जांच में जुटी 

पुलिस ने घटनास्थल से सिलेंडर बरामद किया है। गैस सिलेंडर का उपरी हिस्सा फट गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है कि आखिर सिलेंडर में ब्लास्ट हुआ कैसे।

10 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here