INDORE में केमिकल से कत्था बनाकर 3 राज्यों में सप्लाई किया जाता था, पकड़ा गया - MP NEWS

इंदौर।
पुलिस की क्राइम ब्रांच और खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने संयुक्त रुप से नीरज कुमार माहेश्वरी की बालाजी इंडस्ट्रीज फैक्ट्री पर छापा मार कार्रवाई की। पुलिस ने दावा किया कि इस फैक्ट्री में केमिकल से कत्था बनाया जाता था, जिसे महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्य प्रदेश में सप्लाई किया जाता था। नीरज माहेश्वरी को हिरासत में ले लिया गया है। सबसे ज्यादा सप्लाई महाराष्ट्र जलगांव, राजस्थान अजमेर, कटनी, जबलपुर, गुना और ग्वालियर शहर में की जा रही थी।

नीरज कुमार माहेश्वरी की बालाजी इंडस्ट्रीज पर छापामार कार्रवाई

इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर खाद्य एवं औषधि के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए बालाजी इंडस्ट्रीज फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई की। पुलिस ने बताया कि बेहद गंदगी के माहौल में खैर की जगह केमिकल पाउडर का प्रयोग कर के मशीनों से कत्थे का निर्माण कर उसकी पैकिंग की जा रही थी। वही फैक्ट्री से 6 पेटी अवैध देशी शराब भी बरामद हुई है, घटनास्थल के आसपास चोरी छिपे इसकी बिक्री भी की जाती थी। टीम को मौके पर संचालक नीरज कुमार पिता सुरेन्द्र कुमार माहेश्वरी (49) निवासी शक्ति नगर कनाड़िया उपस्थित मिला।

पिछले 5 साल से केमिकल से बना रहे थे नकली कत्था: पुलिस का दावा

छापामार टीम ने बताया कि आरोपी ट्राईटेनियम डाई ऑक्साइड, पोटेशियम मेटाबिसल्फेट, चिमोलियम, माईक्रोन्यूज्ड आदि केमिकल पदार्थों का सम्मिश्रण कर अमानक मिलावटी और नकली कत्था बनाया जा रहा था। आरोपी ने बताया कि पिछले 05 वर्षों से इस प्रकार के मिलावटी कत्था बनाकर वह कई राज्यों में खपा रहा था। 

नकली कत्था के कारोबार में सालाना एक करोड़ का टर्नओवर

फैक्ट्री का अनुमानित टर्नओवर एक करोड़ रुपए वार्षिक है। पुलिस के अनुसार आरोपी ने बताया कि वह इस प्रकार के पाउडर को रत्नागिरी महाराष्ट्र से खरीदता था और कभी-कभी खैर की लकड़ी के साथ सम्मिश्रण कर भी कत्था बनाता था। ज्यादा मात्रा में उत्पादन करने करने के लिए चिमोलियम और पोटेशियम मेटाबिसल्फेट को मिलाता था। फैक्ट्री से लगभग 10 लाख रुपए कीमत की सामग्री बरामद की गई। जिसमें पेस्ट के पाउच, बोतल और डिब्बे आदि कई प्रकार की पैकिंग के करीबन 300 कार्टून सहित बड़ी मात्रा में कच्चा माल बरामद हुआ है।

बहार पेस्ट नाम से माल सप्लाय किया जाता था नकली कत्था

पामार टीम ने बताया कि नकली कत्था बहार पेस्ट नाम से माल सप्लाय किया जाता था। कारखाने में लाखों रुपए कीमत की मशीने लगी हैं। फैक्ट्री मालिक और संचालक जीजा-साले हैं। फैक्ट्री से मिला समस्त माल नकली और मिलावटी है। खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने सैंपल लिए हैं, जिनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर वर्तमान में संचालक को हिरासत में लेकर थाना लसूड़िया में प्रकरण दर्ज करवाया है।



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here