Loading...    
   


GWALIOR: चीनोर तहसीलदार का रीडर रिश्वत लेते गिरफ्तार - MP NEWS

ग्वालियर।
 मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में लोकायुक्त की टीम ने बुधवार को भितरवार अनुविभाग के चीनोर में तहसील के बाबू को 15 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। आरोपित बाबू को लोकायुक्त की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है और कागजी कार्रवाई कर रही है।  

बाबू ने फरियादी से उसकी जमीन से कब्जा हटवाने के लिए 20 हजार रूपये रिश्वत में मांगे थे। लेकिन बाद में सौदा 15 हजार में तय हो गया था। इसके बाद फरियादी ने लोकायुक्त की मदद ली और बाबू को रंगे हाथों पकड़वा दिया। चीनोर निवासी प्रमोद कुशवाह की जमीन पर गांव के लोगों ने कब्जा कर रखा है। इस कब्जे को हटाने के लिए उसने चीनोर तहसील में आवेदन दिया था। लेकिन उस पर कार्रवाई नहीं हो रही थी। कार्रवाई कराने के लिए उसने तहसील के बाबू सहायक ग्रेड 3 कुलवेन्द्र रावत जो तहसीलदार का रीडर है, से बात की। 

बातचीत में कुलवेंद्र रावत ने प्रमोद कुशवाह से 20 हजार रूपये कब्जा हटवाने के लिए मांगे। अन्यथा किसी तरह की कार्रवाई न होने की बात कही। बाद में कुलवेंद्र 15 हजार रूपये लेकर कब्जा हटवाने के लिए राजी हो गया। इसके बाद रिश्वत मांगने की शिकायत प्रमोद ने लोकायुक्त टीम से की। मामले को अपने तरीके से वेरीफाई करने के बाद लोकायुक्त की टीम ने प्रमोद को रंग लगे हुए नोट दिए और कुलवेंद्र को देने के लिए कहा। रिश्वत लेने के लिए कुलवेन्द्र ने चीनारे रोड स्थित सात नंबर पुलिया पर प्रमोद को बुलाया। प्रमोद के साथ मौके पर लोकायुक्त की टीम भी पहुंची और दूर खड़ी हो गई। 

प्रमोद ने जैसे ही 15 हजार रूपये कुलवेंद्र को दिए। वैसे ही लोकायुक्त की टीम ने उसे दबोच लिया। इसके बाद उसकी जेब से 15 हजार रूपये बरामद कर लिए। साथ ही उसके हाथ व पैंट को धुलवाया तो वे नोटों पर लगे रंग से रंगीन हो गए। इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया और अपनी कागजी कार्रवाई शुरू कर दी।

31 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here