Loading...    
   


BHOPAL: पत्नी की हत्या कर लाश को घसीटा, बेटी को पास में लिटा खुद भी सो गया - MP NEWS

भोपाल।
 मध्य प्रदेश राजधानी भोपाल के कमला नगर क्षेत्र की मांडवा बस्ती में छह साल की मासूम के सामने उसके पिता ने मां की मुंह दबाकर हत्या कर दी। घटना रविवार-सोमवार दरमियानी की रात दो बजे की है। सुबह आरोपित पति खुद ही थाने पहुंचा और पुलिस को गुमराह कर कहानी सुनाई कि पत्नी रात में खाना खाकर सोयी थी, लेकिन सुबह देखा तो मृत मिली।   

नृशंस हत्या का पूरा घटनाक्रम 

भोपाल में महिला की नृशंस हत्या में पुलिस के सामने चौकाने वाली कहानी निकलकर सामने आई है। आरोपी पति का कहना है कि वह हत्या करने के बाद 27 साल की पत्नी को घसीटते हुए घर के बाहर लेकर आया था। शव पर पानी डालकर उसे उठाने की कोशिश भी की थी, लेकिन वह नहीं उठी। मैंने उसे अंदर ले जाकर बिलख रही 6 माह की बेटी के पास सुला दिया। उस पर इस तरह मारने का जुनून सवार था कि बेटी की सिसकियां भी उसके शराब के नशे को कम नहीं कर पाई।उसने पत्नी को सिर्फ इसलिए मार दिया, क्योंकि उसने घर खर्च के लिए उससे रुपए मांग लिए थे। आरोपी एक हजार रुपए होने के बाद भी उससे छिपाकर शराब पर उड़ाना चाह रहा था। 

यह खुलासा खुद आरोपी ने पुलिस के सामने किया। अब महिला की मौत के बाद उसकी बच्चियों की कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है, ऐसे में बच्चियों को बालिका गृह भेजने की तैयारी की जा रही है। मांडवा बस्ती बस्ती निवासी आरोपी मनोज बाल्मिकी ने बताया कि रविवार रात को वह शराब पीकर घर पहुंचा। 27 साल की उसकी पत्नी नेहा शर्मा उससे पैसे मांग रही थी। लेकिन उसने पैसे देने से मना कर दिया। उसने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है। नेहा ने उसकी तलाशी ली, तो उसे जेब में हजार रुपए मिल गए थे। वह यह रुपए शराब पीने के लिए किसी से उधार लेकर आया था।
 
इसको लेकर उनके बीच बहस हो गई, क्योंकि नेहा घर खर्च के लिए पैसे मांग रही थी और मैंने देने से मना कर दिया था। कुछ देर की बहस हाथापाई में बदल गई। नेहा के धक्का देने से मैं नीचे गिर गया। मैंने अंदर पड़ी ईट उठाकर उसके सिर पर मार दी। उस दौरान उसकी बेटियां वहीं थीं और रो रही थीं। नेहा की आवाज बाहर ना जाए इसलिए मैंने चादर से ही उसका मुंह एक हाथ से दबा दिया।

पैर छटपटाना बंद होने पर नेहा के मुंह से हाथ हटा लिया। दोनों बेटियों को उसके पास ही सुला दिया और खुद भी वहीं सो गया। रात करीब 3 बजे नींद खुली, तो नेहा को आवाज लगाई, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। उसे खींचता हुआ बाहर तक लाया और उसके ऊपर पानी डाला, लेकिन नेहा में तब भी कोई हरकत नहीं हुई।

यह देख मैं थोड़ी देर वहां खड़ा रहा। चारों तरफ देखा, लेकिन कोई नजर नहीं आया। डर के कारण मैं नेहा को घर के अंदर ले गया और बिस्तर पर बेटियों के पास सुला दिया। सुबह करीब 9 बजे के पहले मोहल्ले वालों को बताया कि नेहा सो कर नहीं उठ रही। उसके बाद खुद ही थाने पहुंचकर पुलिस को बुला लाया।

आरोपी मनोज के बताए घटनास्थल पर पहुंचते ही पुलिस को संदेह हो गया। पुलिस ने सबसे पहले मनोज को हिरासत में ले लिया। बड़ी बेटी से बात की। उसने बताया कि मम्मी-पापा के बीच रात को झगड़ा हुआ था। उसके बाद पापा ने मम्मी के सिर पर ईट मार दी थी। मनोज ने भी अपना जुर्म कबूल कर लिया।

टीआई कमला नगर विजय सिसोदिया ने बताया कि आरोपी ने करीब 5 साल पहले नेहा से लव मैरिज की थी। अभी उनकी साढ़े 5 साल और 6 महीने की दो बेटियां है। नेहा की मां ने बच्चियों को रखने में असमर्थता जताई है। जिसके बाद बालिका गृह से संपर्क किया है।

पुलिस बच्चियों के बेहतर भविष्य के लिए उन्हें बालिका गृह में रखवाने के लिए प्रयास कर रही है। इसके साथ ही कुछ एनजीओ से भी संपर्क किया गया है। फिलहाल दोनों बच्चियां अपनी नानी के यहां श्यामला हिल्स में हैं।

मनोज ने बताया कि वह कुछ ज्यादा कमाई नहीं कर पाता था। घर में भी पैसों की तंगी थी। इसी कारण नेहा से झगड़ा होता था। वह हमेशा घर खर्च के लिए पैसे मांगती रहती थी। उनके झगड़े के बारे में सभी को पता था। रविवार रात भी उसी के कारण उनके बीच झगड़ा हुआ था। उसे नहीं पता था कि नेहा की जान चली जाएगी।

09 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here