Loading...    
   


वफादार कुत्ता - किसान की जान बचाने मौत के मुंह में कूद गया - MP NEWS

रतलाम
। इंसानों में ईमानदारी और वफादारी भले ही कम हो गई हो परंतु जानवरों में अभी भी उतनी ही जिंदा है। यहां एक किसान की जान बचाने की कोशिश में उसके पालतू कुत्ते ने अपनी जान दे दी। इस हादसे में किसान और उसके कुत्ते दोनों की मौत हो गई। 

समझदार कुत्ते ने करंट का तार खींचने की कोशिश की लेकिन...

पुलिस के अनुसार जिला अस्पताल में चिकित्सक रहे डॉ. अभय ओहरी के चचेरे भाई झरखेड़ी निवासी 33 वर्षीय गजेंद्र पिता कैलाशचंद्र ओहरी बुधवार सुबह खेत में कीटनाशक छिड़क रहे थे। खेत में बिजली के खंबे से टूटा तार पड़ा था। कीटनाशक छिड़कते समय गजेंद्र का पैर तार पर पड़ा और करंट से बेहोश हो गए। उनकी पालतू कुतिया ने मुंह से पकड़कर बिजली का तार खींचा तो करंट से उसकी भी मौत हो गई। खेत पर काम कर रहीं काकी 47 वर्षीय रामकन्या पति गोवर्धन ओहरी भी दौड़ीं तो उनके भी पैर पर करंट लगा। शोर सुनकर आस-पास के खेत में काम कर रहे लोग आ गए। काकी रामकन्या ने अपना स्वेटर उतारकर दिया। स्वेटर से पकड़कर तार हटाया। 

परिजन दोनों को जिला अस्पताल ले गए जहां गजेंद्र को मृत घोषित कर दिया। उनकी काकी रामकन्या ओहरी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। डॉ. ओहरी ने बताया काकी रामकन्या बेहोश हो गईं थीं। उनकी हालत अब ठीक है।

लाइनमैन ने बताया-किसी ने जंपर जोड़ दिया
लाइनमैन रतनलाल चौहान ने बताया बिजली का तार टूटने पर करंट सप्लाई रोकने के लिए पोल से जंपर काट दिए थे। गांव के किसी व्यक्ति ने जंपर के तार जोड़ दिए होंगे जिसके कारण करंट लगा। 

श्वान का भी अंतिम संस्कार किया : 
डॉ. अभय ओहरी ने बताया श्वान को गजेंद्र ही खाना खिलाता था। खेत में रखवाली के लिए वह भी साथ जाती थी। श्वान का भी अंतिम संस्कार दफनाकर किया गया है।

14 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here