Loading...    
   


JABALPUR हाई प्रोफाइल फैमिली की लड़की ब्लैकमेलिंग का शिकार - MP NEWS

जबलपुर
। शहर की हाई प्रोफाइल फैमिली की MNC में जॉब करने वाली 28 वर्षीय युवती जीवनसाथी मेट्रोमोनियल वेबसाइट की मदद से पति की तलाश कर रही थी लेकिन ठगी और ब्लैकमेलिंग का शिकार हो गई। दिल्ली के एक जालसाज ने लड़की को जाल में फंसाया, शादी के सपने दिखाए और फिर इमोशनल ड्रामा करके 3:50 लाख रुपए ठग लिए, किस्सा यहीं खत्म नहीं हुआ। ठगी के बाद ब्लैक मेलिंग भी शुरू कर दी। जालसाज ने जीवनसाथी मैट्रिमोनियल पर विजय जोशी के नाम से प्रोफाइल बनाई है। 

जीवनसाथी मैट्रिमोनियल पर फर्जी जानकारी अपलोड करके फंसाया

जबलपुर की युवती मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती है। पारिवारिक बैकग्राउंड भी स्ट्रांग है। युवती ने जुलाई 2020 को जीवनसाथी मैट्रिमोनियल साइट पर रजिस्ट्रेशन कराया था। 11 सितंबर को उसका प्रोफाइल विजय जोशी नाम के युवक से मैच हो गया। विजय जोशी ने सोशल चैटिंग के माध्यम से खुद के बारे में बताया कि वह यूके में जॉब करता है, लेकिन नवंबर में इंडिया में सेटल होगा। यहां उसे जॉब भी मिल गई है। युवती ने उसके सोशल चैटिंग वाले नंबर को क्राॅस चेक किया, तो वह यूके का निकला।

बोला: मां-बहन USA में रहतीं हैं, हिंदी नहीं आती

विजय जोशी ने युवती को बताया कि उसकी मां USA में सिस्टर के पास है। नवंबर में वह भी आ जाएगी, तब वह उसके घर रिश्ते की बात करने आएंगे और दिसंबर में शादी कर लेंगे। विजय हमेशा उससे अंग्रेजी में ही बात करता था। उसने युवती को बताया था कि उसे हिन्दी नहीं आती। हालांकि मां को हिन्दी-मराठी आने की बात कही थी। इसके बाद दोनों के बीच चैटिंग के साथ फोन पर बातचीत होने लगी।

भरोसा जीतने के बाद ठगी की शुरूआत हुई

युवती के मुताबिक आरोपी ने 17 सितंबर को काॅल किया। कहा कि उसका कजिन दिल्ली में है। उसे पैसे चाहिए, लेकिन यहां से सेंड नहीं हो रहे हैं। युवती ने उसके कहे अनुसार 30 हजार रुपए दिल्ली में कजिन के बताए बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद 21 सितंबर को कॉल किया और इमोशनल ब्लैकमेल करते हुए कहा कि उसकी मौसी की तबियत खराब हो गई है। अर्जेंट ऑपरेशन नहीं हुआ, तो मर जाएगी। उसने युवती से दिल्ली जाने के लिए कहा। युवती ने जाने से मना कर दिया और उसके कहे अनुसार 60 हजार रुपए जमा कर दिए।

ठगी के बाद ब्लैकमेलिंग शुरू कर दी 

इसके बाद विजय जोशी ने 29 नवंबर को इंडिया आने की बात कही। उसने युवती के पास ब्रिटिश एयरबस की टिकट और दिल्ली बोर्डिंग का रसीद सोशल साइट के माध्यम से भेजा। इस पर युवती का विश्वास और बढ़ गया। उसने एयरपोर्ट पर चैकिंग में पैसे लगने की बात कही। इसके बाद मौसी के खाते में 60 हजार रुपए युवती से और जमा कराए। 4 नवंबर को उसने जबलपुर आने की बात कही थी। 29 अक्टूबर को उसने दिल्ली एयरपोर्ट पर कस्टम द्वारा पकड़े जाने की सूचना दी और बातचीत में खुद को घबराया हुआ दर्शाता रहा। उसने 29 से तीन नवंबर के बीच उसने अलग-अलग तरीके से उससे 80 हजार रुपए और ऐंठ लिए। उसने दिल्ली कस्टम में पदस्थ एक महिला से भी बात कराई। मनी लाॅड्रिंग में फंसाए जाने का हवाला देकर भी उसने युवती को ब्लैकमेल किया।

8 नवंबर को बैंक से डिटेल्स पता की

युवती ने 4 नवंबर को विजय का इंतजार किया। वह नहीं आया। 8 नवंबर को उसने पैसे जमा करने वाले बैंक खाते से एक मोबाइल नंबर पता किया, तो वह दिल्ली का किसी सुनीता शर्मा के नाम पर निकला। उस नंबर पर काॅल किया, तो अंग्रेजी में किसी ने बात की और फिर किसी महिला ने फोन ले लिया। बताया कि बात करने वाला उसकी बहन का पति है, जो साउथ अफ्रीका का रहने वाला है। उसने विजय जोशी के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि दो दिन पहले उसने सिम लिया है। गुरुवार को वह स्टेट साइबर सेल शिकायत करने पहुंची थी।

04 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here