Loading...    
   


DGM के यहां लोकायुक्त का छापा, हर हस्ताक्षर के ₹5000 लेता था, घर में बार बना रखा था - BHOPAL NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के डीजीएम रितेश श्रीवास्तव के यहां लोकायुक्त पुलिस ने छापामार कार्रवाई की। लोकायुक्त पुलिस का दावा है कि उन्होंने रितेश श्रीवास्तव को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि रितेश श्रीवास्तव हर फाइल पर हस्ताक्षर करने के ₹5000 लेता था। उसके घर में बीयर बार भी मिला है।

रितेश श्रीवास्तव उप महाप्रबंधक बिजली कंपनी ब्यावरा गिरफ्तार

SP लोकायुक्त भोपाल मनु व्यास ने बताया कि 36 साल के रितेश श्रीवास्तव पिता एनके वर्मा 173 प्रीमियम ऑर्चिड पीपुल्स मॉल के पीछे भोपाल में रहते हैं। मूलत: बनारस निवासी रितेश संभाग मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड ब्यावरा जिला राजगढ़ में उप महाप्रबंधक (संचालन एवं संधारण) के पद पर हैं।

एनके वर्मा बनारस वालों का बेटा है रितेश श्रीवास्तव

उसने ब्यावरा निवासी बिजली के ठेकेदार सुरेंद्र गुर्जर से योजना के तहत किसानों के ट्रांसफार्मर लगाने के लिए रिश्वत मांगी थी। उनसे हर फाइल के 5 हजार रुपए तय किए थे। सत्यापन के दौरान ही रितेश 15 हजार रुपए ले चुका था। सुरेंद्र ने इसकी शिकायत 17 दिसंबर को की थी। लोकायुक्त की टीम ने जांच के बाद सोमवार को ब्यावरा स्थित ऑफिस से रितेश को रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा। इसके साथ ही उसके भोपाल स्थित घर पर भी छापा मारा गया। टीम ने बड़ी मात्रा में कागजात जब्त किए। 

घर में मिनी बार तक मिला

पुलिस की टीम को भोपाल स्थित रितेश के मकान में मिनी बार मिला। इसके अलावा पूरे घर में एसी लगे हुए थे। घर पर चारों तरफ कांच और लाइटिंग लगी मिली। टीम ने रितेश के घर से फाइलों और कागजात को जब्त किया है। बताया जाता है कि रितेश हर फाइल पर कम से कम 5 हजार रुपए चार्ज करता था।

21 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here