Loading...    
   


MPPEB भर्ती विज्ञापन की रूल बुक में संशोधन - खुला खत का असर - NEWS IMPACT BHOPALSAMACHAR.COM

भोपाल।
मध्य प्रदेश का सबसे लोकप्रिय न्यूज़ पोर्टल भोपाल समाचार डॉट कॉम एक बार फिर मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए उपयोगी साबित हुआ। कृषि छात्रों ने MPPEB द्वारा ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी (कार्यपालिक) पदों पर भर्ती के लिए जारी रूलबुक पर "खुला-खत" के माध्यम से आपत्ति उठाई थी और सीएम शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल संशोधन के निर्देश दे दिए।

कृषि छात्रों को क्या आपत्ति थी और क्या समाधान हुआ 

म.प्र. प्रोफेशनल बोर्ड, भोपाल द्वारा किसान कल्याण तथा विकास विभाग भोपाल के अंतर्गत ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी (कार्यपालिक) पदों की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित की जा रही है। इस परीक्षा के लिए एमपी पीईबी द्वारा जारी रूल बुक में लिखा था कि पूरे भारत और नेपाल के नागरिक रिक्त पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

कृषि छात्रों को इस पर आपत्ति थी। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नाम "खुला-खत" लिखा जो भोपाल समाचार डॉट कॉम पर प्रकाशित किया गया (पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)। इसमें मुख्यमंत्री को याद दिलाया गया कि उन्होंने सरकारी नौकरियां मध्यप्रदेश के मूल निवासी बेरोजगारों के लिए आरक्षित करने का वादा किया है। तत्पश्चात जनसंपर्क कार्यालय की ओर से एक प्रेस नोट जारी करके बताया गया कि "इन पदों की भर्ती में केवल म.प्र. के मूल निवासी ही आवेदन कर सकते है।" 

मात्र 8 घंटे में हुआ समस्या का समाधान, कृषि छात्रों ने मुख्यमंत्री का आभार जताया 

भोपाल समाचार डॉट कॉम पर मुख्यमंत्री के नाम "खुला-खत" प्रकाशन के मात्र 8 घंटे के भीतर कृषि छात्रों की समस्या का समाधान हो गया। पत्र लेकर विवेक एवं उनके सभी साथियों ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को धन्यवाद ज्ञापित किया है। 

भोपाल समाचार डॉट कॉम के "खुला-खत" कैटेगरी में क्या होता है 

"खुला-खत" कैटेगरी के तहत भोपाल समाचार डॉट कॉम मध्यप्रदेश शासन की नीतियों एवं नियमों की समीक्षा की जाती है। मध्य प्रदेश के विद्वान नागरिक एवं प्रभावित लोग अपने शब्दों में सरकार के सामने अपनी बात रखते हैं। प्रश्न करते हैं एवं समस्याओं का समाधान बताते हैं। मध्य प्रदेश की व्यवस्था को बनाए रखने के लिए एवं व्यवस्था में मौजूद खामियों को दूर करने के लिए "खुला-खत" सरकार और आम जनता के बीच एक माध्यम का काम करता है। इस कैटेगरी के तहत मध्य प्रदेश का कोई भी जागरूक एवं विद्वान नागरिक अपनी बात सरकार और समाज तक पहुंचा सकता है। 

भोपाल समाचार डॉट कॉम की टीम अपनी वचनबद्धता दोहरा ती है कि मध्यप्रदेश एवं उसके 7.50 करोड़ नागरिकों के हित में बिना मिलावट वाली पत्रकारिता करते रहेंगे।

12 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here