Loading...    
   


JABALPUR NEWS TODAY: LATEST HINDI NEWS 19th NOVEMBER 2020 / जबलपुर :आज के महत्वपूर्ण समाचार

मध्य प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर के महत्वपूर्ण समाचारों में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने की पुलिस कर्मियों की सराहना, गन कैरिज फैक्ट्री में बनने वाली धनुष तोप बनी सेना की ताकत, दीपावली के बाद भी ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट 200 के ऊपर, शहर में नहीं थम नहीं हिंसक वारदात, नर्मदा रोड स्थित फूड स्ट्रीट की दुकानें तोड़ी गई, कोरोना संक्रमण के कारण केंट व अवंती बाई वार्ड रेड जोन में शामिल और भी महत्वपूर्ण खबरें:-

घायलों को पीठ पर लादकर अस्पताल पहुंचाने वाले ASI सहित पांच पुलिस कर्मचारी पुरस्कृत

जबलपुर में चरगवां रोड पर मंगलवार दिनांक 17.11.2020 की सुबह हुए एक सड़क हादसे में 27 मजदूर घायल हो गए थे। अस्पताल में स्ट्रेचर की व्यवस्था ना होने के कारण पुलिसकर्मियों ने स्वयं ही घायलों को अपनी पीठ पर लाद-लाद कर अस्पताल में भर्ती कराया था। पुलिसकर्मियों के इस जज्बे के सीएम शिवराज सिंह भी कायल हो गए। उन्होंने ट्वीट कर चरगवां थाने में पदस्थ एएसआई संतोष सेन (57 वर्ष) की सराहना की। साथ ही आज बुधवार को आईजी भगवत सिंह चौहान ने एएसआई संतोष सेन सहित पांच पुलिसकर्मियों को प्रशंसा पत्र एवं  ₹1000 के पुरस्कार से सम्मानित भी किया।

GSF जबलपुर में बनी धनुष तोप भारतीय सेना के अफसर उत्साहित

जबलपुर, गन कैरिज फैक्ट्री (जीएसएफ) में स्वदेशी तकनीक से तैयार की गई धनुष तोप सेना की ताकत बनती जा रही है। जीएसएफ में तैयार 6 धनुष तोपों का ओडिशा के बालासोर में परीक्षण चल रहा है। परीक्षण में धनुष तोप 155/ MA/45 calliber gan की एक से बढ़कर एक खूबियों को देखकर सभी सैन्य अफसर उत्साहित हैं। जीएसएफ को, सेना द्वारा कुल 114 धनुष तोप बनाने का आदेश मिला था। जिसमें से 18 इस वर्ष यानी कि 2020 में बनानी थी। अप्रैल व जुलाई में 6-6 धनुष तोप जीएसएफ ने सेना को सौंप दी हैं। अब 6 तोप दिसंबर तक बनाने का लक्ष्य है। कोरोना संक्रमण के कारण कुछ देरी हुई परंतु अब फिर से काम चालू हो गया है। धनुष तोप, बोफोर्स तोप को स्वदेशी तकनीक से उन्नत कर बनाई गई है। कारगिल की लड़ाई में यह सेना को काफी पसंद आई थी। यह फुली ऑटोमेटिक सिस्टम पर काम करती है।

जबलपुर-मुंबई गरीब रथ में यात्रियों की भीड़, एक्स्ट्रा कोच लगाए

जबलपुर। दीपावली के बाद भी ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट 200 के ऊपर पहुंच गई है। जबलपुर से सीधे मुंबई तक चलने वाली एकमात्र ट्रेन गरीब रथ है। जिसे कोरोना काल में बंद कर दिया गया था। रेलवे ने हाल ही में इसका संचालन शुरू किया है परंतु गरीब रथ में लंबी वेटिंग की वजह से अतिरिक्त कोच लगाना पड़ रहा है। बुधवार को जबलपुर - एलटीटी गरीब रथ में 22 कोच लगे थे लेकिन ट्रेन मे एक अतिरिक्त कोच लगाया गया। ट्रेन में करीब 1100 यात्री सवार थे।

नीरज सोंधिया और मोंटी शुक्ला पर चाकू से जानलेवा हमला

जबलपुर। गोरखपुर और आधारताल थाना क्षेत्र में दो युवकों पर रंजिश के चलते चाकुओं से जानलेवा हमला किया गया। गोरखपुर पुलिस ने बताया कि गुप्तेश्वर निवासी नीरज सोंधिया (28 साल) पर विक्की ठाकुर नाम के युवक ने विक्की सोनकर व राहुल के साथ मिलकर चाकू से हमला किया, जिसके कारण नीरज गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं आधार ताल थाना क्षेत्र में भड़पुरा निवासी मोंटी शुक्ला (22 साल) पर चांदीमारी तलैया निवासी विनय अज्जू और आशिक ने हमला किया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

जबलपुर कैंट बोर्ड फूड स्ट्रीट कार सामान कबाड़ में बेचेगा

जबलपुर। कैंट बोर्ड ने क्षेत्र के नगरीय निकाय के बेरोजगार युवकों को रोजगार मुहैया कराने की योजना के अंतर्गत 4000000 रुपए लगाकर 46 गुमठीयाँ बनवाई और 56 लाख रुपए की कमाई की। गुमठियो का नाम फूड स्ट्रीट रखा गया परंतु नर्मदा रोड स्थित फूड स्ट्रीट में कुछ समय तक तो अच्छा व्यवसाय चला परंतु कैंट बोर्ड और नगर निगम के बीच जमीन की जंग छिड़ गई। जिसके कारण कैंट बोर्ड ने दुकानों को गलत ठहरा दिया व दुकानों को तोड़कर निकाला गया सामान विवेकानंद मॉडल स्कूल, कटंगा में रख दिया। करीब एक साल में अब यह सामान कबाड़ में बदल चुका है, जिससे कैंट बोर्ड ₹600000 में बेचेगा।

अतिथि विद्वान नियुक्ति के लिए हाई कोर्ट में याचिका खारिज

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट, जबलपुर ने एक महत्वपूर्ण फैसले में स्पष्ट किया है कि गेस्ट फैकल्टी के आवेदक को आगामी शैक्षणिक सत्रो के लिए नियुक्ति का आधार नहीं बनता है। एक्टिंग चीफ जस्टिस संजय यादव और जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की डिवीजन बेंच ने गेस्ट फैकल्टी की नियुक्ति के लिए दायर याचिका खारिज कर दी है। खंडवा के सुनील कुमार शर्मा ने यह याचिका दाखिल की थी। सुनील कुमार शर्मा ने ऑनलाइन भर्ती परीक्षा पास कर ली थी और चयन सूची में उसका नाम था परंतु फिर भी उसे नियुक्ति नहीं दी गई थी।

दीपावली पर कोरोना ब्लास्ट हुआ या नहीं, 10 दिन में पता चल जाएगा

जबलपुर। विशेषज्ञों का मानना है कि बाहर से आए लोगों के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। अगले 10 से 12 दिनों में पता चल जाएगा कि संक्रमण कितना फैला। सितंबर महीने में कोरोना का पीक बीतने के बाद अब दूसरी लहर मुहाने पर है परंतु मेडिकल कॉलेज कॉविड प्रभारी डॉ संजय भारती का कहना है कि अब व्यवस्थाएं अधिक होने से स्थिति अंडर कंट्रोल जैसी है। दीपावली में जिस तरह लोगों ने बेफिक्री दिखाई, उसका असर 10 दिनों में सामने आ जाएगा।

जबलपुर की कैंट एवं अवंती बाई वार्ड रेड जोन में

जबलपुर ,50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को कोरोना महामारी के गंभीर खतरे से बचाने के लिए शुरू किया गया वृद्ध जन सुरक्षा अभियान में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। 1 से 13 नवंबर तक मिले मरीजों की संख्या के आधार पर कैंट व अवंती बाई वार्ड रेड जोन में आ गए हैं परंतु राहत की बात यह है कि शहर में 79 वार्ड में से 77 वार्ड फिलहाल ग्रीन जोन में हैं। जहां 50 साल से ज्यादा उम्र के सबसे कम लोग ही कोरोना की चपेट में आए हैं।

जबलपुर के ग्रामीण अंचल में मड़ई मेलों का आयोजन शुरू

जबलपुर, पांच दिवसीय दीपोत्सव जरूर समाप्त हो गया है परंतु अभी भी उत्सव का माहौल जारी है। जबलपुर के छोटे-छोटे गांव में लगने वाले मडई मेलों का आयोजन शुरू हो गया है। जो देवउठनी एकादशी तक चलता रहेगा। इन मेलों में खेल-खिलौने, चाट-फुलकी, कपड़े, ज्वेलरी ,मिट्टी के खिलौने, गुल्लक ,झूले सभी के मन को लुभाते हैं।

19 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here