Loading...    
   


नर्मदा और क्षिप्रा नदी के किनारे वाले इलाकों में बाढ़, मंदिर, गांव और खेत सब डूब गए / MP NEWS

इंदौर। मध्य प्रदेश के एक बड़े भूभाग को जीवन देने वाली नर्मदा और क्षिप्रा नदी के किनारे वाले इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए हैं। दोनों नदियों के किनारे स्थित मंदिर, गांव और खेत सब पानी में डूब गए हैं। सैकड़ों करोड़ की संपत्ति और मवेशी पानी में बह गए। हजारों करोड़ की फसलें तबाह हो गई। 

नर्मदा खतरे के निशान से 3 फुट ऊपर, ओंकारेश्वर बांध के 10 गेट खोले

नर्मदा जहां खतरे के निशान से तीन फीट ऊपर बह रही है। शिप्रा का बड़ा पुल सहित निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं। सिद्धवट घाट स्थित मंदिर भी पानी-पानी हो चुका है। नर्मदा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए नर्मदा नदी पर बने ओंकारेश्वर बांध के 10 गेट खोल दिए गए हैं। बांध के पानी काे लेवल में रखने के लिए 4 हजार क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है। वहीं, नर्मदा किनारे के सभी घाटाें पर अलर्ट जारी कर दिया गया।

तवा और बरगी बांध के भी गेट खोले

बारिश के चलते तवा और बर्घी बांध के गेट भी खाेल दिए गए हैं। इससे नेमावर में शनिवार काे शाम 6 बजे तक नर्मदा खतरे के निशान 885 से चार फीट ऊपर 889 पर बह रही थी। प्रशासन ने एहतियातन नगर की निचली बस्तियाें काे खाली करवाकर लाेगाें काे राहत शिविराें में पहुंचाया। इधर नर्मदा में लगातार बढ़ रहे जलस्तर के कारण किनारे बसे गांवाें में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है।

नदी किनारे सरकारी स्कूलों में राहत शिविर

नगर परिषद नेमावर के सीएमओ हरिओम कचोले एवं खातेगांव तहसीलदार राधा महंत नगर की निचली बस्तियों में जाकर लोगों के मकान खाली करवाकर उन्हें शासकीय स्कूलाें में बनाए गए राहत शिविराें में पहुंचाने में जुट रहे। सीएमओ कचोले ने बताया निचली बस्ती हनुमान टेकरा और नर्मदा किनारे बसे लाेगाें का सामान शिविराें तक पहुंचाने के लिए ट्रैक्टर-ट्राॅलियां सहित अन्य वाहनाें लगाए गए। शिविरों में भोजन की व्यवस्था भी की गई। 

पुलिस ने प्राइवेट नावाें का अधिग्रहण कर लिया

थाना प्रभारी नीता देहरवाल ने बताया सुरक्षा की दृष्टि से निचली बस्तियाें व अन्य जगह नाले-रपट व पुल के समीप सुरक्षा उपकरणों से लैस पुलिस के तैराकों को तैनात कर दिया गया है। नावाें का भी अधिग्रहण कर लिया गया है।

कई गांवों का संपर्क कटा

इधर, नर्मदा का पानी नाले पर बनी रपट पर आने से नेमावर के पश्चिम किनारे बसे गांव निमनपुर, नवाड़ा, बजवाड़ा, सुरजना, दावठा, मंडलेश्वर, धरमपुरी आदि गांवों का नेमावर से संपर्क पूरी तरह से कट गया है। इसी तरह नर्मदा के पूर्व की और बसे गांव कुंडगांवखुर्द, कुंडगांवबुजुर्ग, मुरझाल, दैयत, चिचली, बिजलगांव का संपर्क भी नगर से कट गया। नगर के वार्ड क्रमांक 14 एवं 15 में नर्मदा का बैकवाटर घुसने से नगर से संपर्क कट गया। इधर, नर्मदा के मुख्य स्नान वाले सिद्धनाथ व नागर घाट भी जलमग्न हो गए है।

उज्जैन पूरे जिले में पानी पानी

उज्जैन में लगातार पिछले 24 घंटे से हो रही बारिश के बाद पूरा जिला पानी-पानी दिखाई दे रहा है। शहर में पिछले 24 घंटे में 7 इंच से अधिक बारिश हाे चुकी है। शहर के रामघाट सहित सिद्धवट घाट, केडी पैलेस, गणगौर दरवाजा, एकता नगर, शांति नगर सहित कई इलाके बारिश के पानी में डूबे हुए हैं। उज्जैन और आसपास के इलाकों में तेज बारिश के बाद शिप्रा नदी का रौद्र रूप रविवार को भी बना हुआ है। शिप्रा नदी के ऊपर बने बड़े पुल पर से करीब 2 फीट ऊपर पानी लगातार बह रहा है।

उज्जैन शहर में पानी घुस आया, 20 परिवारों को रेस्क्यू किया

लगातार हो रही बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। उज्जैन के शिप्रा नदी किनारे गणगौर दरवाजे स्थित कई बड़े और छोटे यात्री निवासों में 6 से 8 फीट तक पानी भरा चुका है। जहां से तकरीबन 20 परिवारों को प्रशासन ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। वहीं, उज्जैन के प्रसिद्ध सिद्धवट घाट स्थित मंदिरों में भी पानी-पानी ही दिखाई दिया। इसके अलावा केडी पैलेस पर भी शिप्रा नदी का रौद्र रूप देखने को मिल रहा है।

23 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इंदौर की लड़की से लंदन वाले BF ने गिफ्ट के नाम पर 4 लाख रूपये ठग लिए
चेक बाउंस होने पर क्या कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं, क्या थाने में FIR लिखवा सकते हैं
बड़ी खबर! गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ के घर जाकर बधाई दी
सोयाबीन में पीला मोजेक पर नियंत्रण के लिए क्या करें
भोपाल में बारिश का 14 साल पुराना रिकॉर्ड टूटा
रसोई गैस सिलेंडर में आग लग जाए तो क्या करें, यहां पढ़िए, हमेशा ध्यान रखिए
दुनिया के सबसे धनवान लोगों की कुर्सी किस लकड़ी से बनी होती है, यहां पढ़िए
क्या हम अपने मकान को स्मार्ट होम बना सकते हैं, पढ़िए क्या चेंज कर सकते हैं
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया, प्रेमी के खिलाफ केस दर्ज
क्या आपको सुरक्षा के लिए दूसरे पर हमला करने का हक है, पढिए कानून क्या कहता है
जबलपुर में GF से मिलने पहुंचे युवक को मोहल्ले वालों ने पीट-पीटकर अधमरा कर डाला
कमलनाथ ने तो 15 महीने पहले ही मंत्रालय लॉक डाउन कर दिया था: ज्योतिरादित्य सिंधिया
मध्यप्रदेश में बारिश के साथ रिकॉर्ड तोड़ कोरोना: पॉजिटिव और मौतें
टीकमगढ़ डिप्टी कलेक्टर का एक्सीडेंट, सागर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती
इंदौर: उफनते नाले में 6 घंटे जाली से लटका रहा, सरकारी मदद नहीं आई समाजसेवियों ने बचाया
ग्वालियर में अलसुबह से ही पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को उठाना शुरू कर दिया था
जबलपुर में अस्पताल से कूदकर आत्महत्या कर रहे कोविड-19 मरीज को बचाया
मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री कोरोना पॉजिटिव, कल ही सैंकड़ों कर्मचारियों से मिले थे
DElEd प्रैक्टिकल परीक्षा की अधिसूचना
शिवपुरी की लड़की का ग्वालियर के होटल में रेप
चयनित शिक्षकों ने डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए ग्वालियर में प्रदर्शन किया
कमलनाथ ने तो 15 महीने पहले ही मंत्रालय लॉक डाउन कर दिया था


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here