Loading...    
   


भोपाल के दो जांबाज सिपाहियों ने नाले की बाढ़ में डूब रहे युवक को बचाया / MP NEWS

भोपाल। बाढ़ में फंसे नागरिकों को बचाना पुलिस की विभागीय जिम्मेदारी नहीं है, और अपनी रिस्क पर जान का जोखिम लेकर किसी की जान बचाना निश्चित रूप से बहादुरी का काम है। यह काम भोपाल पुलिस के दो जांबाज सिपाही बापूलाल वर्मा और मुकेश विश्वकर्मा ने कर दिखाया है। दोनों ने गंदे नाले की बाढ़ में डूब रहे एक युवक को व्यक्तिगत रूप से जोखिम लेकर बचाया।

रात 8:00 बजे कंट्रोल रूम से सूचना मिली

भोपाल पुलिस की ओर से प्रेस को जारी सूचना के अनुसार थाना प्रभारी, अयोध्यानगर निरीक्षक रेणु मुराब को सिटी कंट्रोल रूम भोपाल से दिनांक 22.08.2020 के रात 8:05 बजे आरक्षक अमित द्वारा सूचना दी गई कि कोच फेक्ट्री वाले नाले पर एक व्यक्ति टवेरा गाड़ी में बहते हुये डूब रहा है। सूचना मिलते ही हमराह स्टाफ प्र.आर.2594 बापूलाल वर्मा, आर.3019 मनीष, आर.684 राघवेन्द्र, आर.2958 प्रदीप को थाना मोबाईल वाहन को लेकर घटना स्थल लैण्डमार्क कालोनी के पीछे, गंदा नाला पर रवाना हुये। 

नाले की वार्ड में डूबती टवेरा, मोबाइल टॉर्च जलाकर मदद मांग रहा था

घटना स्थल पर थाना छोलामंदिर की FRV 144 मय प्र.आर.2718 अयुब खान, आर.1387 मुकेश विश्वकर्मा भी पहुंच गये थे। घटना स्थल पर देखा कि एक सफेद रंग की टवेरा नाले में डूब रही हैं जिसके उपर एक व्यक्ति बैठा हुआ था जो वाहन सहित डूब रहा था तथा अपने मोबाईल की टार्च जलाकर कर बचाने का इशारा कर रहा था। 

अत्यधिक अंधेरा और तेज बहाव के कारण सिचुएशन बिगड़ गई थी

नाला अत्यधिक तेज बहाव में बह रहा था ऐसा प्रतीत हो रहा था कि यदि तत्काल ही धीरे धीरे डूबती गाड़ी से उस व्यक्ति को नही निकाला गया तो उस व्यक्ति की मौत भी हो सकती थी। अत्यधिक अंधेरा होने के कारण कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था केवल नाले में फंसे हुये व्यक्ति द्वारा अपनी मोबाईल टार्च से इराशा करते हुये बचाने की गुहार लगाई जा रही थी। 

बापूलाल वर्मा और मुकेश विश्वकर्मा ने जान की बाजी लगाने कदम बढ़ाया

ऐसी स्थिति में उक्त उपलब्ध बल से डूबते व्यक्ति को बचाने के लिये आपस में चर्चा की गई जिसपर पुलिस स्टाफ के प्र.आर.2594 बापूलाल, थाना अयोध्यानगर व आर. 1387 मुकेश विश्वकर्मा, थाना छोलामंदिर द्वारा स्वेच्छा से कहा गया कि वे दोनों तैरना जानते हैं उक्त डूबते व्यक्ति को बचाने का प्रयास कर सकते हैं। 

कार के साथ डूब रहे युवक को पीठ पर बिठाकर बाहर लाए

पानी में फंसे हुये व्यक्ति की जान को खतरा देखते हुये दोनों कर्मचारियों थाना मोबाईल में रखी रस्सी के सहारे सुरक्षा के साथ नाले में उतारने का निर्णय लिया। दोनो पुलिस कर्मचारियों द्वारा अपने अपने कपड़े उतारकर कमर में रस्सी बांधकर सुरक्षा के साथ नाले में उतरे, अन्य उपस्थित स्टाफ द्वारा टार्च की रोशनी दिखाकर रस्सी का दूसरा हिस्सा पकड़कर रखा गया। दोनो पुलिस कर्मचारियों द्वारा अपनी जान की परवाह किये बिना साहस का परिचय देते हुये डूबती हुई गाड़ी के पास पहुंचकर पानी में फंसे व्यक्ति को अपनी पीठ पर बैठाकर तैरते हुये नाले से सुरक्षित बाहर लाया गया। 

सिर्फ 5 मिनट की देरी हो जाती तो बचाना मुश्किल था

जैसे ही उस व्यक्ति को बाहर लाया गया उसके तुरंत बाद की पानी के तेज बहाव से गाड़ी पानी में और नीचे धंस गई, यदि पुलिस द्वारा उसे जान की परवाह किये बगैर बाहर नहीं निकाला गया होता तो वह व्यक्ति निश्चित ही डूब जाता। 

मिनाल रेजीडेंसी से वापस घर जा रहा था टवेरा ड्राइवर

पानी से बाहर निकाले गये व्यक्ति से उसका नाम पता पूछने पर उसके द्वारा अपना नाम दीपक प्रजापति पिता श्री सियाराम प्रजापति उम्र 27 साल निवासी गली नं. 7, द्वारका नगर, रोजमेरी स्कूल के पास, स्टेशन बजरिया भोपाल होना बताया गया एवं बताया कि मैं गोगा जी ट्रैवल्स, बेस्ट प्राईज के पास में, करोंद, भोपाल की गाड़ी चलाता हूँ तथा ट्रैवल्स मालिक के निर्देशानुसार सवारी को मीनाल रेसिडेंसी छोड़कर आयोध्या बायपास रोड के पास सागर लैण्डमार्क कालोनी के पीछे से कच्चे रास्ते से अपने घर द्वारका नगर जा रहा था तभी रास्ते में गंदे नाले पर बने ब्रिज से गाड़ी निकाल रहा था तभी अत्यधिक बारीश के कारण नाले का पानी नाले पर बने ब्रिज के उपर से बहने के कारण मेरी चार पहिया वाहन टबेरा नाले में बह गई और पानी में डूबने लगी। 

डूबते ड्राइवर ने खुद मोबाइल करके मदद मांगी

जब पानी गाड़ी के अंदर तेजी से भरने लगा तो मैं गाड़ी की छत पर चढ़ गया और अपने मालिक को फोन किया एवं मदद के लिये अपने मोबाईल की टार्च से इशारा करके बचाने की गुहार की गई। 

भोपाल पुलिस के दोनों जांबाज सिपाहियों को 10-10 हजार का इनाम

उक्त घटना की जानकारी मिलते ही श्रीमान कलेक्टर महोदय एवं श्रीमान पुलिस उप महानिरीक्षक, शहर रेंज भोपाल घटना स्थल पर पहुँच गये और उक्त साहसिक कार्य के लिये दोनों पुलिस कर्मचारियों को 10,000-10,000 रू.नगद पुरस्कार देने की घोषणा की गई। प्र.आर.2594 बापूलाल, थाना आयोध्यानगर व आर. 1387 मुकेश विश्वकर्मा, थाना छोलामंदिर को उक्त पुरस्कार के अतिरिक्त जीवन रक्षा पदक के लिये भी प्रस्ताव प्रेषित किया जावेगा।

23 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इंदौर की लड़की से लंदन वाले BF ने गिफ्ट के नाम पर 4 लाख रूपये ठग लिए
चेक बाउंस होने पर क्या कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं, क्या थाने में FIR लिखवा सकते हैं
बड़ी खबर! गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ के घर जाकर बधाई दी
सोयाबीन में पीला मोजेक पर नियंत्रण के लिए क्या करें
भोपाल में बारिश का 14 साल पुराना रिकॉर्ड टूटा
रसोई गैस सिलेंडर में आग लग जाए तो क्या करें, यहां पढ़िए, हमेशा ध्यान रखिए
दुनिया के सबसे धनवान लोगों की कुर्सी किस लकड़ी से बनी होती है, यहां पढ़िए
क्या हम अपने मकान को स्मार्ट होम बना सकते हैं, पढ़िए क्या चेंज कर सकते हैं
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया, प्रेमी के खिलाफ केस दर्ज
क्या आपको सुरक्षा के लिए दूसरे पर हमला करने का हक है, पढिए कानून क्या कहता है
जबलपुर में GF से मिलने पहुंचे युवक को मोहल्ले वालों ने पीट-पीटकर अधमरा कर डाला
कमलनाथ ने तो 15 महीने पहले ही मंत्रालय लॉक डाउन कर दिया था: ज्योतिरादित्य सिंधिया
मध्यप्रदेश में बारिश के साथ रिकॉर्ड तोड़ कोरोना: पॉजिटिव और मौतें
टीकमगढ़ डिप्टी कलेक्टर का एक्सीडेंट, सागर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती
इंदौर: उफनते नाले में 6 घंटे जाली से लटका रहा, सरकारी मदद नहीं आई समाजसेवियों ने बचाया
ग्वालियर में अलसुबह से ही पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को उठाना शुरू कर दिया था
जबलपुर में अस्पताल से कूदकर आत्महत्या कर रहे कोविड-19 मरीज को बचाया
मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री कोरोना पॉजिटिव, कल ही सैंकड़ों कर्मचारियों से मिले थे
DElEd प्रैक्टिकल परीक्षा की अधिसूचना
शिवपुरी की लड़की का ग्वालियर के होटल में रेप
चयनित शिक्षकों ने डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए ग्वालियर में प्रदर्शन किया
कमलनाथ ने तो 15 महीने पहले ही मंत्रालय लॉक डाउन कर दिया था


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here