Loading...    
   


क्या शिवलिंग पर दाल और गेहूं भी चढ़ा सकते हैं, बेलपत्र ना मिले तो क्या करें / SHIV KA SAWAN

हिंदुओं के पवित्र मा सावन में शिव का अभिषेक लगभग हर हिंदू करता है। घर घर में विराजे शिवलिंग का भी अभिषेक किया जाता है। मनोकामना पूर्ति के लिए लोग तरह-तरह के अभिषेक करते हैं। भांग, धतूरा इत्यादि से भगवान शिव का श्रृंगार करते हैं परंतु क्या आप जानते हैं जहरीले पदार्थों के अलावा शिवलिंग पर खाद्य पदार्थ भी अर्पित किए जाते हैं। दाल, चावल एवं गेहूं चढ़ाने से भी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। आइए जानते हैं शास्त्रों में क्या लिखा है:- 

मनोकामना के अनुसार दाल, चावल, गेंहू या जौ का चयन करें


  • शिवलिंग पर मूंग की दाल अर्पित करने से रुके हुए काम पूरे होते हैं। 
  • शिवलिंग पर अरहर की दाल चढ़ाने से धन-ऐश्वर्य और सुख-समृद्धि की वृद्धि होती है। दुखों से मुक्ति मिलती है। 
  • शिवलिंग पर अरहर की दाल के पत्ते चढ़ाना अत्यंत शुभ माना जाता है। 
  • शिवलिंग पर गेहूं चढ़ाने से योग्य एवं प्रतिभाशाली संतान की प्राप्ति होती है। 
  • शिवलिंग पर जौ चढ़ाने से पूरे परिवार को सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। 


यदि बेलपत्र ना मिले तो क्या करें 


सावन के सोमवार में यदि शिवलिंग का अभिषेक करते समय आपको बेल पत्र प्राप्त नहीं हुए हैं तो दुखी होने की आवश्यकता नहीं है। शास्त्रों के अनुसार काले तिल को बेलपत्र के विकल्प के रूप में उपयोग करने की मान्यता है। इसके अलावा सामान्य रूप से भी यदि आप शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाते हैं तो जातक के जीवन के सभी प्रकार के क्लेश दूर हो जाते हैं। वह मानसिक एवं शारीरिक तौर पर स्वस्थ रहता है। जीवन में अचानक आने वाली तकलीफ आना बंद हो जाती है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here