Loading...    
   


CIMS द्वारा जारी भर्ती में 27 प्रतिशत OBC आरक्षण किस आधार पर / Khula Khat

महोदय जी, जैसा कि हम सबको विदित है कि मध्य प्रदेश में ओबीसी आरक्षण की सीमा 14 से बढ़ाकर 27 करने को लेकर कई याचिकाएं मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में लंबित है तथा पीएससी द्वारा बढ़ा कर दिए गए आरक्षण के विरुद्ध मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने सरकारी नौकरियों में ओबीसी को 27 आरक्षण पर रोक लगा रखी है और मामला अभी न्यायालय में है। 

इसी बीच मध्य प्रदेश सरकार ने छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज मैं में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए अस्थाई पदों पर भर्ती निकाली गई है जिसमें की आरक्षण की रोस्टर प्रणाली में ओबीसी को 27 फ़ीसदी आरक्षण दर्शाया गया है जो कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की सीधी तौर पर अवमानना है। 

मेरा यह सवाल है कि जब ओबीसी आरक्षण को लेकर मध्यप्रदेश में मामला लंबित है और मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने बढ हुई सीमा पर रोक लगा रखी है तो कैसे मध्यप्रदेश शासन ने सरकारी भर्ती में ओबीसी को 27 फ़ीसदी आरक्षण दिया। 

प्रथम दृष्टया यह न्यायालय की अवमानना है। निवेदन है कि इस पर स्वत: संज्ञान लिया जाए और संबंधित व्यक्ति, विभाग के खिलाफ न्यायालय की अवमानना की कार्यवाही की जाए। 
रानू पाठक 

23 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मिस्र देश की रानियां कभी बूढ़ी क्यों नहीं होती थी, क्या उनके पास कोई फार्मूला था
जब मोबाइल 100% चार्ज हो जाता है तो चार्जर ऑटोमेटिक ऑफ क्यों नहीं होता
पशुपालक किसानों के लिए KCC: 1.80 लाख का लोन, बिना गारंटी
क्या कर्मचारी के वेतनमान/पे स्केल में किसी भी प्रकार की घटोत्री की जा सकती है
ग्वालियर में बिजली बिल के लिए NGB प्रणाली शुरु
सूर्य की धूप से बाल सफेद हो जाते हैं तो फिर त्वचा काली क्यों पड़ जाती है
राजा मानसिंह ने CM का हेलीकॉप्टर तोड़ दिया था, पुलिस ने राजा को गोलियों से भून दिया था: 35 साल बाद कोर्ट का फैसला
मप्र कैबिनेट मीटिंग का आधिकारिक प्रतिवेदन
मध्य प्रदेश में 15 अगस्त पर जिला स्तरीय समारोह नहीं होंगे: कैबिनेट का फैसला
शिवराज सिंह का नायक अवतार: नाबालिग नौकरानी का रेप करने वाला SI बर्खास्त
सरकारी नीलामी में अयोग्य व्यक्ति शामिल हो तो क्या कार्यवाही होगी, पढ़िए
OMG! एक पक्षी जो बिना पंख फड़फड़ाए 5 घंटे, 170 किलोमीटर उड़ता है
सरकारी डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव लड़की का रेप कर रहा था, गिरफ्तार


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here