Loading...    
   


OMG! एक पक्षी जो बिना पंख फड़फड़ाए 5 घंटे, 170 किलोमीटर उड़ता है: स्वानसी यूनिवर्सिटी की स्टडी रिपोर्ट


विज्ञान और इंजीनियरिंग की दुनिया के लिए नई चुनौती सामने आ गई है। स्वानसी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि एंडियन कोंडोर (दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी) बिना पंख फड़फड़ाए 5 घंटे तक उड़ान भर सकता है और इस दौरान वह 170 किलोमीटर की दूरी तय करता है। यह बताने की जरूरत नहीं कि हेलीकॉप्टर से लेकर ड्रोन तक सबकी टेक्नोलॉजी पक्षियों से प्रेरित है। अब एक पक्षी की हवा में उड़ने की असीम शक्ति का पता चला है। इंजीनियर्स के सामने चुनौती है कि क्या वह कोई ऐसा विमान बना पाएंगे।

एंडियन कोंडोर (Andean condor) दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी है, जिसका वजन करीब 16 किलोग्राम तक और पंखों का फैलाव 3.3 मीटर तक होता है। अब एक आकर्षक नए अध्ययन के अनुसार, उसकी उड़ान के बारे में एक चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। बताया जा रहा है कि वह अपनी उड़ान के पूरे समय में से सिर्फ 1.3 फीसदी समय में ही अपने पंख फड़फड़ाते हैं।

एंडियन कोंडोर कितनी देर तक हवा में रह सकता है, कितनी दूर तक जा सकता है

इस पक्षी के वजन आदि को ध्यान में रखते हुए यह विश्वास करना लगभग असंभव है कि यह कम से कम पांच घंटे तक हवा में रह सकता है। साथ ही एक बार अपने विशाल पंखों को फड़फड़ाए बिना 160 किमी की दूरी तय कर सकता है। पांच साल तक कॉन्डोर्स के एक समूह की निगरानी के बाद स्वानसी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा प्रकाशित अध्ययन का यह सबसे दिलचस्प निष्कर्ष था।


साल 2013 से 2018 के बीच, बायोलॉजिस्ट एमिली शेपर्ड और उनकी टीम ने अर्जेंटीना के पास बारिलोचे में आठ एंडेन कॉन्डोर की निगरानी की। इस दौरान उन्होंने पक्षियों के शरीर में फ्लाइट-रिकार्डर्स को लगा दिया, जो उनकी उड़ान के दौरान पंखों के हर एक फ्लैप को रिकॉर्ड करने में सक्षम थे। ऐसा उन्होंने पक्षी की उड़ान पर मौसम की विभिन्न स्थितियों के प्रभावों का अध्ययन करने का लक्ष्य रखते हुए किया था। मगर, उन्हें कुछ अधिक आश्चर्यजनक जानकारी मिली।

एंडियन कोंडोर: बिना पंख फड़फड़ाए 5 घंटे उड़ता रहा, 172 किमी दूर तक गया


फ्लाइट रिकॉर्डर द्वारा लॉग किए गए सबसे चरम उदाहरण में, एक एंडेन कॉन्डोर ने अपने पंखों को फड़फड़ाए बिना हवा में करीब पांच घंटे तक बिताए। इस दौरान उसने 172 किमी की दूरी तय की। यहां तक कि पहाड़ों पर भी जहां जटिल वायुप्रवाह स्थितियां होती हैं, वहां भी वह बहुत कम गति के साथ वायु उड़ान भरने में सक्षम थे।


अध्ययन के लेखकों ने लिखा- पक्षियों ने बहुत कम बार ही अपने पंखों को फड़फड़ाया था। यहा उल्लेखनीय है क्योंकि उनमें से कोई भी पक्षी वयस्क नहीं था। शोधकर्ताओं ने आठ ट्रैक किए गए पक्षियों से 230 घंटे से अधिक उड़ान डेटा हासिल किया और उस सभी में ने कुल उड़ान में सिर्फ 1.3 प्रतिशत समय ही पंखों को फड़फड़ाने में खर्च किया।

अधिकांश का यह एक प्रतिशत समय उड़ान भरने के दौरान था। उनके आकार और वजन के कारण एंडेन कॉन्डोर को उतारने में बहुत अधिक ऊर्जा लगती है। मगर, एक बार जब वे हवा हो जाते हैं, तो वे अधिक दक्षता के साथ अपनी ऊर्जा का संरक्षण करते हैं।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here