Loading...    
   


नेताओं के घर में 5 से ज्यादा बाहरी लोग ना हो, उल्लंघन करे तो कार्रवाई हो: मुख्यमंत्री @ कोरोना कंट्रोल / MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और उसे कंट्रोल करने के नाम पर बार-बार लॉकडाउन किया जा रहा है। पता ही नहीं चलता प्रदेश में किस कलेक्टर में किस इलाके को कितने समय के लिए लॉक डाउन कर दिया। इसके चलते आम जनता में आक्रोश देखा जा रहा है। 

लॉकडाउन तब करें जब कोई विकल्प ना हो

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 की समीक्षा बैठक में कहा कि किसी भी इलाके को लॉकडाउन करने से पहले यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि इसके अलावा कोई विकल्प शेष नहीं था। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन करने से अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित होती है। अतः अब हमें वर्तमान घोषित लोक डाउन के पश्चात लॉकडाउन नहीं करना है तथा पूरी सावधानी एवं सतर्कता के साथ विधि एवं नियमों का पालन करते हुए कोरोना को हराना है। 

कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन मुख्यमंत्री भी करे तो कार्रवाई होगी: शिवराज सिंह

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि कोई भी व्यक्ति चाहे वह मुख्यमंत्री हो, मंत्री हो, जनप्रतिनिधि हों अथवा अधिकारी हो, यदि उन्होंने कोरोनावायरस गाइडलाइन पालन नहीं किया तो फिर कार्यवाही होगी। कोरोना को समाप्त करने के लिए सभी को इन सावधानियों को बरतना अनिवार्य है। 

मंत्रियों के घर में 5 से अधिक बाहरी लोग नहीं हों: मुख्यमंत्री

उन्होंने मंत्री गणों से कहा कि आगामी 14 अगस्त तक कोई सार्वजनिक दौरे नहीं करें, वी सी के माध्यम से बैठने करें, वर्चुअल रैली करें, अपने आवास पर भी एक बार में 5 व्यक्तियों से अधिक से न मिलें। 

मध्यप्रदेश में कोई सार्वजनिक कार्यक्रम न करें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि चुनाव से अधिक आवश्यक है लोगों की जान बचाना। अतः कोई भी जनप्रतिनिधि कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम ना करे। गाइडलाइंस का पालन न करने पर जुर्माने तथा प्रकरण दर्ज करने, दोनों की कार्रवाई की जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस को काबू करने के लिए ग्वालियर और मुरैना की तारीफ की

कोरोना की जिलेवार समीक्षा के दौरान पाया गया कि मुरैना में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण पा लिया गया है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गत दिनों जिस तरह से वहां संक्रमण फैला उसके बाद जिस तत्परता के साथ वहां इसे रोकने के प्रयास किए गए वे सराहनीय है। अब वहां कोरोना पॉजिटिविटी रेट घटकर 3.03 प्रतिशत हो गई है। मुरैना ने उदाहरण प्रस्तुत किया है। ग्वालियर भी अब नियंत्रण में है वहां बाजार खुल गए हैं। मुख्यमंत्री ने दोनों जिलों के अमले को बधाई दी। 

ग्वालियर कलेक्टर जांच करें प्रकरण देरी से क्यों आया: मुख्य सचिव

ग्वालियर में कोरोना की मृत्यु के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान पाया गया कि वहां 4 प्रकरणों में बहुत देर से अस्पताल गंभीर हालत में आने के कारण व्यक्तियों की जान नहीं बचाई जा सकी। इस संबंध में मुख्य सचिव श्री बैंस ने निर्देश दिए कि हर प्रकरण की जड़ तक जाएं व जांच करें कि प्रकरण लेट क्यों आया। जनता को जागरूक किया जाना आवश्यक है, जिससे लक्षण दिखते हैं व्यक्ति को तुरंत अस्पताल लाया जाए। समय पर अस्पताल आने से हर कोरोना संक्रमित व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। 

30 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रही खबरें

बहन के बॉयफ्रेंड को फंसाने फिल्मी स्टाइल में साजिश रची
BIKE में CC का फुल फॉर्म क्या होता है, 100cc-150cc का क्या मतलब होता है
पिता जूते बनाते हैं, बेटी ने रिकॉर्ड बना दिया: INSPIRATIONAL STORY
ग्वालियर का हाई कोर्ट सील, गली-गली में कोरोना का कहर
ग्वालियर में 20 रुपये की बंदूक अड़ाकर ढाई लाख की लूट
फर्जी सर्टिफिकेट से ज्यादा गंभीर है फर्जी स्टांप पेपर छापना, पढ़िए कितनी सजा होती है
जबलपुर में कांग्रेस के पूर्व मंत्री एवं उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव
मध्यप्रदेश में कोरोना 30000 के पार, आज 14 मौतों के साथ 24 जिलों में 10+ पॉजिटिव
शेर और शेरनी में से शिकार कौन करता है, किसमें कितना दम होता है
एमपी बोर्ड 12वीं के टॉपर्स की लिस्ट
मध्य प्रदेश से रूठ गए इंद्रदेव, बादल बिना बरसे ही लौट गए
MP COLLEGE EXAM: कब होंगे, कैसे होंगे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया
एमपी बोर्ड 9वीं-12वीं एडमिशन के लिए गाइडलाइन एवं एप्लिकेशन के लिए लास्ट डेट
मध्यप्रदेश में 917 कोरोना पॉजिटिव, सिचुएशन कंट्रोल के लिए 2 मंत्री मैदान में
मध्यप्रदेश में सत्ता से संगठन तक सब के सब कोरोना पॉजिटिव
TATA SKY ने 6 सेवाओं का शुल्क 50% घटाया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here