Loading...    
   


PPF और सुकन्या योजना ब्याज दरों में कटौती, 7% से नीचे जा सकती है ब्याज दर

नई दिल्ली। भारत में आम आदमी की रिटायरमेंट स्कीम PPF और बढ़ती महंगाई में बेटी के हाथ पीले करने के लिए चलाई गई बचत योजना 'सुकन्या समृद्धि योजना' की ब्याज दरों को घटाने की तैयारी चल रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि नई ब्याज दरें 7% से कम हो सकती है। यदि ऐसा हुआ तो 46 साल बाद पहली बार पब्लिक प्रोविडेंट फंड की ब्याज दर 7% से कम होगी।

सरकार (Government of India) ने वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए पीपीएफ (PPF)  में न्‍यूनतम जमा की आखिरी तारीख 30 जून तक बढ़ा दी है। पहले इसकी समयसीमा 31 मार्च 2020 थी। अगर आपने न्यूनतम रकम 500 रुपये इस महीने के अंत तक जमा नहीं की तो आप पर जुर्माना लग सकता है। 

अप्रैल में भी घट चुकी हैं PPF, NSC और सुकन्या स्कीम की ब्याज दरें 

पीपीएफ की दर अप्रैल में 7.9 फीसदी से घटाकर 7.1 फीसदी की गई थी। सीनियर सिटीजंस सेविंग्‍स स्‍कीम की दर 8.6 फीसदी से घटकर 7.4 फीसदी रह गई थी। नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट (एनएससी) की दरें 7.9 फीसदी से कम होकर 6.8 फीसदी और सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट स्‍कीम की 8.4 फीसदी से घटकर 6.9 फीसदी रह गई थीं।

46 साल में ऐसा पहली बार होगा! 

अंग्रेजी के अखबार इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) की ब्‍याज दर 7 फीसदी से नीचे पहुंच सकती है। पिछले 46 साल में ऐसा नहीं हुआ जब पीपीएफ पर इससे कम ब्‍याज मिला हो। इसके पीछे मुख्य वजह बॉन्‍ड यील्‍ड में लगातार गिरावट बताई जा रही है। इसका मतलब है कि छोटी बचत स्‍कीमों (Small Saving Schemes) की ब्‍याज दर में कमी की जा सकती है। इनकी ब्‍याज दर हर तिमाही तय होती है. अगले हफ्ते ब्‍याज दर में बदलाव होना है। 

अगर ब्याज दरों में कटौती होती है तो साल 1974 से पहली बार पीपीएफ की ब्‍याज दर 7 फीसदी से कम होगी। छोटी बचत स्‍कीमों की ब्‍याज दर सरकार के बॉन्‍ड यील्‍ड से लिंक होती है। पीपीएफ की दर 10 साल के सरकारी बॉन्‍ड की यील्‍ड से लिंक है। अप्रैल-जून तिमाही के लिए पीपीएफ की ब्‍याज दर को 7.1 फीसदी रखा गया था।

क्यों पीपीएफ समेत छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें घटेंगी! 

अप्रैल में ब्‍याज दरों में तेज गिरावट आई थी। एक अप्रैल से 10 साल के बॉन्‍ड की यील्‍ड औसतन 6.07 फीसदी रही है। अभी यह 5.85 फीसदी है। इससे साफ संकेत मिलते हैं कि छोटी बचत स्‍कीमों की ब्‍याज दर घट सकती है। रेट कट से पहले खरीदे गए एनएससी और केवीपी पर मेच्‍योरिटी तक कॉन्‍ट्रैक्‍ट की दर से ब्‍याज मिलता रहेगा। लेकिन, पीपीएफ और सुकन्‍या स्‍कीम के निवेश पर असर पड़ेगा।

छोटी बचत स्‍कीमों की ब्‍याज दरें बैंक डिपॉजिट की दरों की तर्ज पर घट रही हैं। छोटी अवधि के फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट की दरें कुछ मामलों में सेविंग्‍स अकाउंट जितनी रह गई हैं।सात से 45 दिन की एफडी के लिए एसबीआई 2.9 फीसदी ब्‍याज ऑफर कर रहा है। यह उसके सेविंग्‍स बैंक अकाउंट के ब्‍याज 2.7 फीसदी से कुछ ज्‍यादा है।

23 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

गरीबों की पैसेंजर ट्रेन बंद करने जा रहा है रेलवे बोर्ड, मध्य प्रदेश की 4 पैसेंजर लिस्ट में
कमजोर कांग्रेस के कारण बेलगाम हो रही है शिवराज सिंह सरकार
INDORE यादव परिवार के 3 सदस्य एवं महाराष्ट्र के महंत की रोड एक्सीडेंट में मौत
100% काला रंग क्या सामान्य आंखों से देखा जा सकता है, आइए जानते हैं दुनिया की सबसे काली चीज क्या है
क्या शासकीय कर्मचारी को कोई भी अधिकारी दंडित/बर्खास्त कर सकता है, ध्यान से पढ़िए
CORONA की दवा मेडिकल स्टोर पर, कीमत ₹3500 प्रति टेबलेट स्ट्रिप
एमपी बोर्ड में जुलानिया का जादू चलेगा या नहीं!
SBI में FD-RD की बजाए SBI ETF में निवेश कीजिए, दुगना ब्याज (9%) मिलेगा
पैसेंजर ट्रेन कब से चलेंगी, तारीख घोषित, तैयारियां शुरू 
21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन क्यों कहा जाता है
सूर्य की किरणें समुद्र में कितनी गहराई तक प्रकाश फैला सकती हैं
मजबूरी भी शौक को जन्म देती है: SUCCESS TIPS by विनय तिवारी IPS
क्या जमानत की शर्तों का उल्लंघन अपराध है, नई FIR दर्ज हो सकती है
कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर: NPS छोड़कर OPS का लाभ पाने का विकल्प खुला
जबलपुर विधायक के दो बैंक खाते खाली कर गए साइबर चोर, माननीय को पता तक नहीं चला 
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
भोपाल में दादा के लिए बांधी रस्सी से पोते की मौत
दवा के पैकेट में 2 टेबलेट के बीच ज्यादा गैप क्यों होता है, सिर्फ 1 टैबलेट के लिए 10 टेबलेट जितना बड़ा पैकेट क्यों देते हैं
कील पानी में डूब जाती है लेकिन लोहे का जहाज तैरता रहता है, ऐसा क्यों
क्या किसी वेतन आयोग की अनुशंसा, सरकार पर पूर्ण रूप से बाध्यकारी होती है?


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here