Loading...    
   


ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथी पूर्व विधायक पर भीड़ का हमला, जान बचाकर भागे / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के कद्दावर भाजपा नेता श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कहने पर विधायक पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले श्री मुन्नालाल गोयल पर अचानक भीड़ ने हमला कर दिया। जबरदस्त पथराव किया गया। गोयल के सिर में तेज वार किया गया। उनके ड्राइवर ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए तत्काल गाड़ी रिवर्स कर दौड़ा दी नहीं तो पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल मॉब लिंचिंग के शिकार हो सकते थे।

दलित युवक की हत्या की पर पहुंचे थे मुन्नालाल गोयल

मुन्नालाल गोयल ने कहा कि आज सुबह सिरौल थाना क्षेत्र में दलित युवक की हत्या होने की उन्हें सूचना मिली थी। वे पीड़ित परिवार के प्रति सांत्वना व्यक्त करने पहुंचे थे। परिवार से मिलने के बाद जैसे ही वे थाने पहुंचे उनकी कार पर पथराव शुरू हो गया। उन्होंने कहा कि वे कुछ समझ पाते इससे पहले ही भीड़ ने कार को घेर लिया। इसी दौरान अचानक पीछे से उनके सिर पर वार किया गया। उनके सिर एवं चेहरे में चोट आई है। अगर ड्राइवर तुरंत गाड़ी रिवर्स नही करता तो बड़ा हादसा हो सकता था। 

मुन्नालाल गोयल ने कहा: मुझ पर हुआ जानलेवा हमला कांग्रेस की साजिश है

उन्होंने कहा कि हमलावर उनकी हत्या करना चाहते थे। मुन्नालाल गोयल ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस की ये साजिश है। उन्हें उनके मतदाताओं से मिलने से रोका जा रहा है। लेकिन वे इस तरह की घटनाओं से डरने वाले नहीं हैं। और अपने मतदाताओं से मिलने जाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि भगवान हमलावरों को सदबुद्धि दे कि भविष्य में इस तरह का कृत्य नहीं करें। 

उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी होंगे मुन्नालाल गोयल 

मुन्नालाल गोयल के विधायकी से इस्तीफा देने के बाद ग्वालियर पूर्व की सीट भी रिक्त हो गई है और यहां पर भी उपचुनाव होने हैं...मुन्नालाल गोयल टिकिट के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं और उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र में चुनाव की तैयारियां भी शुरु कर दी हैं।

ग्वालियर पूर्व से विधायक थे, ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ इस्तीफा दे दिया था

मुन्नालाल गोयल ग्वालियर पूर्व सीट से विधायक थे। 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में गोयल ने कांग्रेस की टिकट पर ग्वालियर पूर्व से चुनाव लड़ा था। तब बीजेपी के उम्मीदवार सतीश सिकरवार से हुए मुकाबले में उन्होंने जीत दर्ज की थी और विधायक बने थे। चुनाव में मुन्नालाल गोयल ने बीजेपी के सतीश सिकरवार को 17 हजार 819 वोटों से शिकस्त दी थी और मध्यप्रदेश विधानसभा में विधायक बनकर पहुंचे थे।

09 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ज्योतिरादित्य सिंधिया और राजमाता कोरोना पॉजिटिव
नरोत्तम मिश्रा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बदतमीजी कर रहे हैं: पूर्व मुख्यमंत्री
इंदौर में कोरोना से एक और डॉक्टर की मौत
दिग्विजय सिंह किस हैसियत से बयान दे रहे हैं: चौधरी राकेश सिंह
RGPV: परीक्षाओं के लिए नई नए नियम जारी
कंप्यूटर के पॉवर स्विच पर बना निशान, बाकी सभी से अलग क्यों होता है
एक व्यक्ति की असावधानी के कारण दूसरे की मृत्यु हो जाए तो FIR दर्ज होगी या नहीं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here