Loading...    
   


BHOPAL SAMACHAR / केरवा डेम, भदभदा और कलियासोत सहित सभी डेम इलाकों में प्रतिबंध के आदेश

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री अविनाश लवानिया द्वारा वर्षा ऋतु के दौरान भोपाल शहर क्षेत्र में स्थित केरवा डेम, भदभदा और कलियासोत सहित छोटे-बड़े डेम पर सांय 7:00 बजे के बाद आवागमन को प्रतिबंधित किया गया है। वर्षा ऋतु के दौरान इन क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति, डेम का पानी छोड़ने और सुरक्षा संबंधी सावधानियों को दृष्टिगत रखते हुए उन्होंने धारा 144 अंतर्गत आदेश जारी किए हैं। 

शाम 7 बजे के बाद किसी भी डेम क्षेत्र में आवागमन प्रतिबंधित

संभावित दुर्घटनाओं को रोकने हेतु केरवा डेम, भदभदा गेट एवं कलियासोत डेम क्षेत्र में प्रभावी कार्यवाही के लिए और जनहानि को नियंत्रित करने के लिए सांय 7:00 बजे के बाद आवागमन को प्रतिबंधित किया गया है। इसके साथ ही जिले की जल सरंचना के आसपास 100 मीटर के दायरे में जाना प्रतिबंधित किया गया है। 

प्राइवेट नावों का संचालन प्रतिबंधित

जल सरंचनाओं में पर्यटन विभाग की अनुमति के बिना निजी नावों का संचालन प्रतिबंधित रहेगा। आदेश में बताया गया है कि डेम से पानी छोड़ने और जलभराव की स्थिति में पर्यटक और आम जनों को इन जगहों से दूर रखा जाए। यह आदेश आज दिनांक से 2 माह तक लागू रहेगा। धारा 144 के अंतर्गत जारी किए गए आदेश के उल्लंघन पर  धारा 188 के अंतर्गत दण्डतात्मक क्रर्रवाई की जाएगी।

जारी आदेश में कलियासोत डेम के पानी लेवल को नियंत्रित करने हेतु पानी को कलियासोत नदी में गेट के माध्यम से छोड़े जाने के दौरान सुरक्षा संबंधी सावधानियों को बरतने के आदेश दिये हैं। वर्षा ऋतु में भोपाल के ताल-तालाब एवं नालों में भारी मात्रा में पानी खतरे की सीमा में ऊपर निकलता है। वर्षा ऋतु में भारी संख्या में जन समुदाय जलाशयों के आसपास भ्रमण हेतु जाते है और नहाने एवं तैराकी करने का प्रयास करते हैं जिससे किसी भी प्रकार की घटना अथवा दुर्घटना घटित होने संभावना रहती है।      

कलेक्टर ने भोपाल क्षेत्र के केरवा डैम, भदभदा गेट एवं कलियासोत डैम के प्राकृतिक दृश्य को देखने हेतु आम जनता का सैलाब काफी अधिक रहता है वर्तमान में कलियासोत डेम का वाटर लेवल धारित क्षमता से अधिक होने के कारण समय-समय पर वाटर लेवल को नियंत्रित करने हेतु पानी को कलियासोत नदी में गेट के माध्यम से छोड़ा जाता है।

केरवा डेम, भदभदा गेट एवं कलियासोत डेम एक ऐसा स्थान है जहां पर भोपाल के अनेकों लोग बुजुर्ग महिलाएं बच्चे छात्र-छात्राएं एवं समाज के अन्य वर्ग के लोग घूमने जाते है। जिला भोपाल क्षेत्र के केरवा डेम, भदभदा गेट एवं कलियासोत डेम के उक्त दृश्य को देखने हेतु भोपाल शहर वासी काफी संख्या में एकत्रित होते हैं जिससे आवागमन अवरुद्ध होने के साथ जनहानि होने की संभावना बनी रहती है।

25 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इस लड़की से कोई शादी करने को तैयार नहीं था, आज मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लेना पड़ता है
कार की विंडशील्ड तिरछी क्यों होती है, जबकि बस में सीधी होती है
जीभ पर कड़वा स्वाद थोड़ी देर से क्यों आता है जबकि मीठा पहले
ग्वालियर में बैरल में फंसी गोली प्रॉपर्टी डीलर के पेट को चीरते हुए पड़ोसी की दीवार में धंसी, मौत
मध्यप्रदेश में क्या 1 जुलाई से स्कूल खुलेंगे, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया
जबलपुर विधायक के दो बैंक खाते खाली कर गए साइबर चोर, माननीय को पता तक नहीं चला
SIHORA: खुले में शौच को गई महिला की हत्या
MPPEB जुलाई में होने वाली परीक्षाएं रद्द, ऑफिशल नोटिफिकेशन का इंतजार
यदि इंटरनेट बैंकिंग के बाद लॉगआउट करना भूल जाएं तो क्या होगा
100% काला रंग क्या सामान्य आंखों से देखा जा सकता है, आइए जानते हैं दुनिया की सबसे काली चीज क्या है
मध्यप्रदेश: शादी के बाद प्यार की सजा, पति को कंधे पर बिठाकर गांव में घुमाया
कमलनाथ नहीं चाहते डॉक्टर गोविंद सिंह नेता प्रतिपक्ष बने
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
NRI लड़की को FB पर लाइक करने की कीमत, 1 क्लिक पर बैंक खाता खाली
मध्य प्रदेश कोरोना: 1100 से ज्यादा इलाकों में संक्रमण, एक्टिव केस 2400 से ज्यादा
जो उपभोक्ता पूरा बिजली बिल जमा कर चुके उनका क्या होगा, यहां पढ़िए
मंत्रिमंडल विस्तार के लिए भाजपा की बैठक के बाद सीएम शिवराज सिंह का बयान
एसबीआई में बंपर नौकरियां, 444 रिक्त पद, तत्काल आवेदन करें
शुक्र ग्रह 25 जून से मार्गी: पढ़िए आपकी राशि पर क्या असर पड़ेगा
BHOPAL: धारा 144 का संशोधित आदेश, पढ़िए क्या राहत मिली, कितने प्रतिबंध लगे
मध्यप्रदेश में कोरोना कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here