Loading...    
   


फॉलेन आउट अतिथि विद्वानों की बहाली और नियमितीकरण जल्द होगा: मंत्री मीना सिंह / ATITHI VIDWAN NEWS

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सिंह चौहान सरकार अतिथि विद्वानों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील है। हम जल्द फॉलेन आउट अतिथिविद्वानों की सेवा बहाली व नियमितीकरण पर निर्णय लेंगे। यह बातें मध्यप्रदेश सरकार में एकमात्र महिला कैबिनेट मंत्री सुश्री मीना सिंह ने अपने गृह जिले उमरिया के प्रवास पर उपस्थित हुए अतिथि विद्वानों के एक प्रतिनिधिमंडल से कही। 

उल्लेखनीय है कि उमरिया में फॉलेन आउट अतिथिविद्वान डॉ राजू रैदास के नेतृत्व में अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा की ओर से मंत्री मीना सिंह को ज्ञापन भी सौंपा गया। प्रतिनिधिमंडल में डॉ मंसूर अली, डॉ जेपीएस चौहान एवं रामायण वर्मा शामिल रहे। ज्ञापन में अतिथि विद्वानों की ओर से कहा गया है कि कोरोना संकट ने अतिथिविद्वानों की आर्थिक स्थिति को जर्जर कर दिया है। जहां प्रदेश सरकार संकट की इस घड़ी में मज़दूरों और किसानों की भरपूर मदद कर रही है।कोरोनाकाल के दौरान सभी फॉलेन आउट अतिथिविद्वानों को भी न्यूनतम मानदेय भुगतान किया जाए जिससे वे अपने परिवार का भरण पोषण करने की स्थिति में रहे।

फालेन आउट अतिथिविद्वानों के सम्बंध में जल्द लिया जाएगा निर्णय

अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के मीडिया प्रभारी डॉ आशीष पांडेय के अनुसार मंत्री मीना सिंह ने फॉलेन आउट अतिथि विद्वानों  के प्रति सहानुभूति जताते हुए जल्द निर्णय लेने की बात कही है। मंत्री जी द्वारा स्पष्ट कहा गया है कि कोरोना संकट के कारण बहुत सारे महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा नही हो पा रही है। इस संकटकाल  में सरकार का पूरा ध्यान इस विपदा से प्रदेश वासियों को बाहर निकालना है यही हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।  अतिथि विद्वानों मुद्दा भी बेहद महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक है इस पर जल्द निर्णय लिए जाएंगे।

अतिथि विद्वान नियमितीकरण हेतु दृढ़संकल्पित हैं

अतिथिविद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा में संयोजक डॉ देवराज सिंह ने कहा है कि प्रदेश के सभी अतिथिविद्वान अपने नियमितीकरण हेतु दृढ़संकल्पित  हैं। हमने  लंबा संघर्ष किया है हमारे मुद्दे पर ही सरकार सरकारें बनी हैं। हमारी पहली मांग फॉलेन आउट अतिथि विद्वानों की शीघ्र बहाली है, तत्पश्चात अतिथि विद्वानों का नियमितीकरण करे सरकार। कोरोना संकट ने अतिथिविद्वानों की मानसिक और आर्थिक स्थिति को अस्थिर कर दिया है 

अतिथि विद्वानों के मुद्दे पर ही शिवराज सरकार का कमबैक

अतिथि विद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के प्रवक्ता मंसूर अली ने कहा कि हमारी पीड़ा से मुख्यमंत्री जी भलीभांति परिचित हैं, अतिथि विद्वानों के मुद्दे को उन्होंने विधानसभा में भी प्रमुखता से उठाया था । यहां तक कि अतिथि विद्वान ही वह सीढ़ी हैं जिससे भाजपा सरकार फिर सत्ता के सिंहासन पर पहुंची है। हमें पूरी आशा है कि जल्द सभी फॉलेन आउट अतिथि विद्वानों की सेवा बहाली और फिर नियमितीकरण का श्रेयस्कर निर्णय वर्तमान सरकार लेगी।

07 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मैं कांग्रेस में लौट आया हूं 'महाराज' आने वाले हैं: सत्येंद्र यादव
दिवालिया बैंक में पैसा डूब जाता है तो क्या लिया गया LOAN भी नहीं चुकाना पड़ता
सिंधिया के सवाल पर तोमर ने कहा: भाजपा किसी को पचाने में सक्षम है
चिन्ह और चिह्न में से क्या सही है और क्या गलत, प्रमाण सहित उत्तर यहां पढ़िए
MP BOARD EXAM के लिए प्रवेश-पत्र जारी, यहां से डाउनलोड करें
धूम्रपान करने वालों के खिलाफ IPC की किस धारा के तहत FIR दर्ज होगी
सॉफ्ट ड्रिंक बॉटल का बेस 5 पॉइंट वाला क्यों होता है जबकि मिनरल का फ्लैट
ज्योतिरादित्य सिंधिया: राज्यसभा चुनाव के बाद भी चैन से नहीं बैठ पाएंगे
आईएएस अधिकारियों की नवीन पदस्थापनाएं
सीएम शिवराज सिंह गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर क्यों गए, जवाब की तलाश
कामवाली बाई से एन्क्लेव के 20 लोग पॉजिटिव, 750 क्वॉरेंटाइन
कोरोना के लक्षण दिखाई देते ही क्या करें: 1000 मरीजों का ठीक करने वाले डॉ. गोयनका के सुनिए
RGPV EXAM 2020 GUIDELINE जारी, ध्यान से पढ़िए क्या करना है, क्या नहीं
इंदौर-भोपाल सहित 12 जिलों के शराब ठेकेदारों ने दुकानें सरेंडर कर दी
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बिना आग के धुंए में कौन सी खिचड़ी पका रहे हैं
सॉफ्ट ड्रिंक बॉटल का बेस 5 पॉइंट वाला क्यों होता है जबकि मिनरल का फ्लैट
मिलावटखोर के खिलाफ थाने में FIR भी दर्ज करा सकते हैं, क्या आप जानते हैं
ज्योतिरादित्य सिंधिया: राज्यसभा चुनाव के बाद भी चैन से नहीं बैठ पाएंगे
मप्र कोरोना योद्धा: मर गया तो 50 लाख, बच गया तो चवन्नी भी नहीं
आईएएस अधिकारियों की नवीन पदस्थापनाएं / MP IAS NEW POSTING


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here