Loading...    
   


राजभवन के 3 सुरक्षाकर्मी सहित भोपाल में 40 नए कोरोना पॉजिटिव मिले / BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 40 नए मरीज मिले, जबकि एक कोरोना पॉजिटिव ने मरीज ने दम तोड़ दिया। 

नए कोरोना पॉजिटिव में राजभवन के तीन सुरक्षाकर्मी और बागमुगालिया के एक ही परिवार के छह लोग शामिल हैं। शहर में अब 2725 मरीज हो गए हैं। सुरक्षाकर्मी ड्यूटी के दौरान संक्रमित हुए थे। उनका 17 जून को सैंपल लिया गया था। 16 जून को इन्हें बुखार आया था।

इधर, देश में 15532 नए केस मिले हैं, जबकि चौबीस घंटे में 396 मरीजों ने दम तोड़ा है। 12737 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं। स्वस्थ होने वालों की दर 57.3% हो गई है। अब 1.70 लाख सक्रिय मरीज हैं। कुल संक्रमित 4.32 लाख हो गए हैं।


23 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

गरीबों की पैसेंजर ट्रेन बंद करने जा रहा है रेलवे बोर्ड, मध्य प्रदेश की 4 पैसेंजर लिस्ट में
कमजोर कांग्रेस के कारण बेलगाम हो रही है शिवराज सिंह सरकार
INDORE यादव परिवार के 3 सदस्य एवं महाराष्ट्र के महंत की रोड एक्सीडेंट में मौत
100% काला रंग क्या सामान्य आंखों से देखा जा सकता है, आइए जानते हैं दुनिया की सबसे काली चीज क्या है
क्या शासकीय कर्मचारी को कोई भी अधिकारी दंडित/बर्खास्त कर सकता है, ध्यान से पढ़िए
CORONA की दवा मेडिकल स्टोर पर, कीमत ₹3500 प्रति टेबलेट स्ट्रिप
एमपी बोर्ड में जुलानिया का जादू चलेगा या नहीं!
SBI में FD-RD की बजाए SBI ETF में निवेश कीजिए, दुगना ब्याज (9%) मिलेगा
पैसेंजर ट्रेन कब से चलेंगी, तारीख घोषित, तैयारियां शुरू 
21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन क्यों कहा जाता है
सूर्य की किरणें समुद्र में कितनी गहराई तक प्रकाश फैला सकती हैं
मजबूरी भी शौक को जन्म देती है: SUCCESS TIPS by विनय तिवारी IPS
क्या जमानत की शर्तों का उल्लंघन अपराध है, नई FIR दर्ज हो सकती है
कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर: NPS छोड़कर OPS का लाभ पाने का विकल्प खुला
जबलपुर विधायक के दो बैंक खाते खाली कर गए साइबर चोर, माननीय को पता तक नहीं चला 
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
भोपाल में दादा के लिए बांधी रस्सी से पोते की मौत
दवा के पैकेट में 2 टेबलेट के बीच ज्यादा गैप क्यों होता है, सिर्फ 1 टैबलेट के लिए 10 टेबलेट जितना बड़ा पैकेट क्यों देते हैं
कील पानी में डूब जाती है लेकिन लोहे का जहाज तैरता रहता है, ऐसा क्यों
क्या किसी वेतन आयोग की अनुशंसा, सरकार पर पूर्ण रूप से बाध्यकारी होती है?


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here