Loading...    
   


दिल्ली और हिमाचल प्रदेश की तरह अतिथि शिक्षकों के हित में नीति बनाए सरकार / MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल। अतिथि शिक्षक व्यवस्था देश के अधिकांश राज्यों में लागू है। दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश ,हरियाणा ,छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी अतिथि शिक्षक वर्षों से कार्यरत हैं। सभी राज्यों की सरकारों ने अतिथि शिक्षकों के हित में अलग से नीति बनाकर अतिथि शिक्षकों का भविष्य सुरक्षित किया है। भले ही अतिथि शिक्षकों को नियमित नहीं  किया हो पर वहां की सरकारें वर्षों से कार्यरत अतिथि शिक्षकों को बेरोजगार नहीं करती। अतिथि शिक्षकों को प्रतिवर्ष आवेदन नहीं करना पड़ता और 58 वर्ष की उम्र तक अतिथि शिक्षकों को कार्य करने की अनुमति दी गई है। 

अतिथि शिक्षक समन्वय समिति के प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह परिहार ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से निवेदन किया है कि मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षकों के हित में भी राज्य सरकार नीति बनाकर सभी का भविष्य सुरक्षित करे। ताकि अतिथि शिक्षकों की आर्थिक तंगी दूर हो सके और परिवार का भरण पोषण बिना किसी परेशानी के संभव हो सके। अतिथि शिक्षक समाज में मान सम्मान से जीवन यापन कर सकें।

पी डी खेरवार और अनवर अहमद कुरैशी ने बताया है कि अतिथि शिक्षक ऑनलाइन सत्याग्रह के माध्यम से सरकार तक अपनी समस्याएं पहुंचा रहे हैं। बहुत से प्राचार्य और जिला शिक्षा अधिकारी अतिथि शिक्षकों को मार्च अप्रैल का वेतन नहीं दे रहे हैं। विभाग स्पष्ट आदेश जारी करके सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित करें ताकि सभी अतिथि शिक्षकों को मार्च अप्रैल का पूरा मानदेय का भुगतान करवाएं।

05 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मप्र में 17 मई तक किस जोन में क्या खुलेगा, क्या बंद रहेगा: मुख्यमंत्री ने बताया
हवा फेंकने वाला पंखा गंदा क्यों हो जाता है, जबकि हवा से धूल साफ होती है
यदि 7 साल से कम का बच्चा चोरी करे तो क्या उसके खिलाफ FIR दर्ज होगी, पढ़िए
कोरोना दहशत: पिता ने क्वॉरेंटाइन से लौटे बेटे की हत्या कर दी, ताकि गांव में किसी और को कोरोना ना हो जाए 
ज्योतिर्लिंग और शिवलिंग में क्या कोई अंतर है या सिर्फ नाम अलग-अलग हैं 
ग्वालियर में चश्मे की दुकानें खुलीं, टोपी बाजार, राज मार्केट, ज्येंद्रगंज में रौनक 
सिर्फ 14 दिन और दे दें, हम जीतने वाले हैं: भोपाल कलेक्टर की अपील 
मध्य प्रदेश: कटनी से कोरोना गायब, 2 नए जिलों में इन्फेक्शन, 52 में से 34 जिले चपेट में
मप्र में 17 मई तक किस जोन में क्या खुलेगा, क्या बंद रहेगा: मुख्यमंत्री ने बताया
पेन के ढक्कन में छेद क्यों होता है, क्या इससे लोगों की जान बचाई जाती है 
मध्यप्रदेश के 11 जिलों में शराब बिक्री के आदेश जारी, 4 मई से दुकान खुलेंगी 
मुरैना में चली बंदूकें, 2 की मौत, 16 घायल, 1 गंभीर 
भोपाल में जहांगीराबाद संक्रमण का बड़ा केंद्र, 91 कोरोना पॉजिटिव 
IAS अधिकारियों की पदस्थापना, निधि निवेदिता को FIR की जगह रोजगार गारंटी 
कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल 
UP के 2000 मजदूरों ने MP पुलिस पर हमला किया, वाहन तोड़े, कई पुलिसकर्मी घायल 
मध्य प्रदेश: मस्जिद में छुपे बांग्लादेश, WB और AP के 22 जमातियों के खिलाफ FIR 
योगी आदित्यनाथ के पिता की अस्थियां लेकर गए विधायक उत्तराखंड में गिरफ्तार 
मात्र 15 मिनट में फैसला, मध्यप्रदेश के किन इलाकों में शराब बिकेगी किन में नहीं, यहां पढ़िए 
यदि कोई विक्षिप्त व्यक्ति अपराध करे तो क्या उसे सजा नहीं होगी, यहां पढ़िए 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here