Loading...    
   


इंदौर में 24 घंटे चालू है कलेक्टर हेल्पलाइन सेवा- हेल्प ऑन कॉल / INDORE NEWS

इन्दौर। कोविड-19 के तहत आमजन की शिकायतों के निराकरण के लिए 6 अप्रैल 2020 को प्रशासनिक संकुल भवन में कलेक्टर हेल्पलाइन की शुरूआत की गई। शुरुआती दौर में कलेक्ट्रेट कार्यालय के लिपिक, ऑपरेटर एवं पटवारी को यह दायित्व सौंपा गया लेकिन इसे और प्रभावशाली तरीके से लागू करने के लिए समृद्धि कॉल सेंटर के श्री अनिल शर्मा एवं उनके कॉल सेंटर का सहयोग लिया गया। 0731-2363009 पर कॉल कर ले सकते हैं मदद, राउंड-द-क्लॉक उपलब्ध है यह सुविधा।

15 अप्रैल 2020 से कॉरपोरेट हाउस की छठी मंजिल पर स्थित समृद्धि कॉल सेंटर द्वारा कलेक्टर हेल्पलाइन का राउंड-द-क्लॉक संचालन किया जा रहा है। शुरुआती कॉल की तुलना में लगभग 5 गुना कॉल्स की संख्या बढ़ी है। तीन शिफ्ट में लगभग 24 लोग इस कार्य को अंजाम दे रहे हैं। आईएएस श्री चंद्र मौली शुक्ला द्वारा हेल्पलाइन को और प्रभावी बनाने की दृष्टि से ग्रीन एवं यलो अस्पताल से जुड़ी समस्याओं का नियंत्रण भी कलेक्टर हेल्पलाइन से किया जा रहा है। कंट्रोल रूम में कंप्यूटर सिस्टम से अस्पताल में खाली, भर्ती एवं न्यू एडमिशन वाले मरीजों की स्थिति का आंकलन किया जा रहा है।

इस कार्य के नोडल अधिकारी संयुक्त कलेक्टर श्री सत्येंद्र सिंह ने बताया कि, पहले एक बहुत बड़ी समस्या थी कि, ग्रीन अस्पताल वाले मरीज़ को कौन सी यलो अस्पताल में भेजा जाए? इसके लिए प्रत्येक अस्पताल को बारी-बारी फोन लगाकर, खाली बैड की जानकारी ली जाती थी तत्पश्चात मरीज को भेजने की व्यवस्था हो पाती थी। इसमें काफी समय  लगता था एवं कभी-कभी तो मरीज की हालत भी ज्यादा खराब हो जाती थी। श्री सत्येंद्र ने बताया कि नयी व्यवस्था को अंजाम देने के लिए तीन चिकित्सकों श्री सुबोध चतुर्वेदी, श्री चेतन पाटीदार एवं डॉ अग्रवाल की ड्यूटी लगाई गई है जो प्रति घंटे यलो अस्पताल के नोडल अधिकारी से संपर्क कर खाली, भर्ती एवं नए एडमिशन वाले मरीजों की जानकारी का अध्ययन करते रहते हैं। इससे पेशेंट को ग्रीन से यलो अस्पताल शिफ्टिंग में समस्या नहीं आती।

श्री सत्येंद्र ने बताया कि 17 अप्रैल 2020 से ओला एंबुलेंस की सेवा प्रारंभ की गई जिसका नियंत्रण भी कलेक्टर हेल्प लाइन से किया जा रहा है। साथ ही उबर एंबुलेंस सेवा का नियंत्रण भी इसी हेल्पलाइन के माध्यम से किया जा रहा है। इस हेल्पलाइन का पिछले दिनों केंद्रीय दल, संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी  एवं कलेक्टर श्री मनीष सिंह द्वारा भी निरीक्षण किया गया एवं हेल्पलाइन के कार्यो की सराहना की गई।


03 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

हवा फेंकने वाला पंखा गंदा क्यों हो जाता है, जबकि हवा से धूल साफ होती है 
रसोई गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है, क्या इससे खाना पकाना खतरनाक है, यहां पढ़िए 
सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह के बेटे का हाईप्रोफाइल ड्रामा VIDEO वायरल 
नाई को घर बुलाकर कटिंग/सेविंग कराने वालों के खिलाफ FIR होगी: कलेक्टर 
मध्यप्रदेश: कोरोना 33वें जिले में पहुंचा, बुरहानपुर और मंदसौर गंभीर, उज्जैन मौत का घर 
मध्यप्रदेश में केंद्रीय गाइडलाइन लागू होगी या नहीं: सीएम शिवराज सिंह के निर्देश जारी
कमलनाथ के खास विधायक सुरेंद्र सिंह सहित 17 लोगों में कोरोनावायरस का इन्फेक्शन 
रेंट एग्रीमेंट 11 महीने के लिए क्यों होता है, 6 या 12 महीने का क्यों नहीं होता 
ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण दीपक बावरिया से इस्तीफा लिया, मुकुल वासनिक नए प्रभारी
मुरैना में चली बंदूकें, 2 की मौत, 16 घायल, 1 गंभीर 
लॉकडाउन में शादी के लिए छूट, इन नियमों का पालन करना होगा 
छत पर चला रहा था सैलून, ड्रोन ने पकड़ा, मकान मालिक और नाई गिरफ्तार 
मध्यप्रदेश में शराब की दुकानें खोलने की तैयारी, हाई कोर्ट में कैविएट दाखिल 
लॉकडाउन 3.0: ऑरेंज ज़ोन में यात्रा परिवहन के बारे में केंद्रीय गृहमंत्रालय की गाइडलाइन
अपराध या भ्रष्टाचार की झूठी जानकारी देने का मामला IPC की किस धारा के तहत दर्ज होगा, कितनी सजा मिलेगी 
लॉकडाउन 3.0: पूरे भारत में शराब, पान मसाला और तम्बाकू के लिए छूट 
कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल 
मजदूरी या वेतन में से नियम विरुद्ध कटौती के खिलाफ FIR दर्ज करवा सकते हैं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here