Loading...    
   


ग्वालियर में 1 और कोरोना पॉजिटिव, पत्नी किराने की दुकान चलाती है / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। जिले में 12 दिन से कोरोना का कोई मरीज नहीं मिला था। यदि 2 दिन ओर निकल जाते तो जिला ग्रीन जोन में आ गया होता। जिससे लॉकडाउन में काफी राहत मिल सकती थी। मगर इसी बीच सोमवार को पिछोर के एक ट्रक ड्रायवर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से खुशियां चौखट से लौट गई हैं। 

खास बात ये है कि पॉजिटिव मरीज मूलत: पिछोर का रहने वाला है। लेकिन जब टीम ने इसे डबरा जाने के लिए कहा तो यह भागकर लखनपुर अपने भाई के यहां चला गया था। ऐसे में ड्रायवर की एक गलती के कारण अब पिछोर एवं लखनपुर पर कोरोना का खतरा मंडराने लगा है। ग्वालियर में अब अब तक इसे मिलाकर 7 कोरोना संक्रमित मरीज मिले है, जिनमें से 6 पहले ही स्वस्थ होकर लौट चुके हैं। जीआर मेडिकल कॉलेज में 71 सैंपल जांच के लिए पहुंचे थे। जिसमें से 22 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। करीब 190 सैंपल पेंडिंग है। मुरैना निवासी एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की दूसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। साथ ही 91 सैंपल जांच के लिए सोमवार को भेजे गए।

प्रशासन ने मंगलवार को पिछोर में टोटल लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। वहीं रात में ही टीम लखनपुर पहुंची।पिछोर निवासी 38 वर्षीय ट्रक ड्रायवर पानीपत में एक ट्रांसपोर्टर के यहां काम करता है। वह फरीदाबाद से ट्रक लेकर 15 अप्रैल को अपने घर पिछोर जिला ग्वालियर पहुंचा था। आसपास के लोगों को जब पता चला तो सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी गई। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 16 को ट्रक ड्रायवर की स्क्रीनिंग की और उसे डबरा ले चलने की बात कही गई। यह सुनते ही ट्रक ड्रायवर वहां से भागकर अपने भाई एवं पिता के लखनपुर स्थित निवास पर पहुंच गया। यहां पर भाई का पूरा परिवार रहता है, साथ ही ट्रक ड्रायवर की कुछ जमीन भी है। काफी खोजबीन के बाद जब पता चला कि ट्रक ड्रायवर लखनपुर में है तो टीआई को भेजकर ट्रक ड्रायवर को बुलाया गया। तहसीलदार का कहना था कि ट्रक ड्रायवर होने के कारण कई राज्यों में आया गया होगा, इसलिए सैंपलिंग कराना जरूरी है।

इसके बाद उसे ट्रक ड्रायवर को शाम तक डबरा पहुंचा दिया गया। मगर एक गाड़ी में कई लोग जा रहे थे, इसलिए इसको 18 अप्रैल को अलग से मारुति वैन से ग्वालियर भेजा गया। जहां विधिचंद धर्मशाला के कमरा नंबर 217 में क्वारंटाइन कराकर सैंपलिंग की गई थी। सोमवार को जीआर मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने फोन पर प्रशासन को ट्रक ड्रायवर की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की सूचना दी है। हालांकि अधिकृत रिपोर्ट मंगलवार को प्राप्त होगी। पॉजिटिव मरीज की सूचना मिलते ही प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है।

मरीज के पॉजिटिव आने की सूचना मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन के अफसर विधिचंद धर्मशाला पहुंचे। यहां से मरीज को एंबुलेंस के जरिए सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में पहुंचाया गया। कोरोना पॉजिटिव मरीजों में सर्दी, जुकाम या बुखार जैसे लक्षण होते हैं। जबकि ट्रक ड्रायवर को इस प्रकार की कोई भी समस्या ही नहीं है। ड्रायवर भी यह मानने को तैयार नहीं है कि वह बीमार है।

अफसरों का कहना है मरीज के पानीपत से आने के बाद कहां-कहां गया, इसी पूरी जांच पड़ताल करने में प्रशासन और स्वास्थ्य अमला जुट गया है। लोगों ने बताया कि इससे पहले यह दवाई का ट्रक लेकर पिछोर आया था, यहां से वह जबलपुर की तरफ रवाना हुआ था।

ट्रक ड्रायवर की पत्नी घर में कालीन बनाने का काम करती है। उसके तीन बच्चे हैं। बताया गया है पत्नी परचून की दुकान भी चलाती है। मरीज के परिवार में करीब 20 लोग बताए जाते हैं। एसडीएम सहित प्रशासनिक अमला रात में ही पिछोर स्थित उसके घर पहुंचा। वहां उसके बच्चों व पत्नी का क्वारंटाइन कराया गया है। साथ ही वह पिछोर में कहां-कहां गया, किससे मिला पता लगाया जा रहा है।

21 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

मच्छर शाम के समय सिर के ऊपर क्यों भिनभिनाते हैं 
कूलर में यदि पानी की जगह बर्फ रख दें तो क्या वह ज्यादा ठंडी हवा देगा 
चरणामृत क्यों पीते हैं, कोई साइंस है या ब्राह्मणों की दूसरों को नीचा दिखाने वाली परंपरा
ग्वालियर में सरेआम महिला ने कपड़े उतारे, पुलिस और डॉक्टर के सामने हंगामा 
मध्य प्रदेश: 1307 सैंपल में से 78 पॉजिटिव, टोटल 1485, 3 जिले कोरोना क्लीन 
कोरोना प्रभावित 26 जिलों में सभी ऑफिस नहीं खुलेंगे: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 
जबलपुर SP को हटाया: किसान की हत्या और साधु की पिटाई के बाद हुई कार्रवाई 
भोपाल: गांव और झुग्गियों तक पहुंचा संक्रमण, आशा कार्यकर्ता, किसान और बस्ती के लोग पॉजिटिव 
भारत सरकार एडवाइजरी: प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और सांस संबंधी बीमारी के लिए आयुर्वेदिक दवाएं 
20 अप्रैल से 03 मई तक क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा, यहां पढ़िए 
मध्य प्रदेश में शिक्षक, बोर्ड परीक्षाओं के होम वैल्यूएशन के लिए तैयार नहीं 
कोरोना शहीद TI चंद्रवंशी के माता-पिता को पुलिस ने गांव में घुसने से मना किया 
आग की लौ ऊपर क्यों जाती है, गुरुत्वाकर्षण प्रभावित नहीं करता क्या 
लॉकडाउन में घर बैठे डॉक्टर को उसकी पत्नी ने पीटा, चाकू अड़ा दिया 
मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 20 अप्रैल के बाद क्या कर सकते हैं, क्या नहीं कर सकते, यहां पढ़िए 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here