अमित शाह ने 'ऑपरेशन लोटस' की कमान संभाली, नए हमले की रणनीति | MP NEWS
       
        Loading...    
   

अमित शाह ने 'ऑपरेशन लोटस' की कमान संभाली, नए हमले की रणनीति | MP NEWS

भोपाल। मुख्यमंत्री के ब्लॉग के प्रकाशन के बाद कमलनाथ कैंप खुशियां मना रहा है लेकिन भाजपाई मठ से खबर आई है कि ऑपरेशन लोटस की कमान अब गृह मंत्री अमित शाह ने संभाल लिया। इस मामले में हुई भाजपा की किरकिरी के बाद शीर्ष नेतृत्व लड़ाई को हारने के मूड में नहीं है। कई दौर की मीटिंग के बाद नए हमले की रणनीति तैयार कर ली गई है। कुल मिलाकर खतरा अभी टला नहीं है।

हमला कब, कैसे और कहां होगा यह तो कोई नहीं जानता परंतु इतना पता चला है कि शनिवार को केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ अमित शाह ने कई बार बातचीत की। याद दिला दें कि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मध्य प्रदेश से राज्यसभा सदस्य हैं। जैसे ही यह खबर श्यामला हिल्स पहुंची सीएम हाउस एक बार फिर एक्टिव हो गया। मीडिया में बयानबाजी कुछ भी हुई हो लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और मुख्यमंत्री कमलनाथ शनिवार देर रात तक एक साथ थे।

नरोत्तम मिश्रा के साथ लौटे थे विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा

4 दिन से बेंगलुरु में डटे निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा शनिवार को भोपाल लौट आए। वे जिस फ्लाइट से लौटे, उसमें भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा साथ थे। एयरपोर्ट पर पहुंचते ही जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा उन्हें सीएम हाउस ले गए। यहां मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद शेरा ने कहा कि कमलनाथ राम हैं तो मैं उनका हनुमान हूं। सरकार में उन्हें जल्द बड़ी जिम्मेदारी मिलेगी। इसी संदर्भ में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के एक बयान आया। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल का विस्तार होना ही चाहिए लेकिन बजट सत्र के बाद। देर शाम शेरा फिर दिल्ली चले गए। 

तीन विधायक अब भी बेंगलुरु में है

बेंगलुरु में मौजूद कांग्रेस के 3 विधायक बिसाहूलाल सिंह, हरदीप डंग और रघुराज कंसाना भोपाल नहीं लौटे हैं। गायब कांग्रेस विधायकों पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का कहना है कि 3 विधायक कहां है, ये बात विधायक निर्दलीय विधायक शेरा और भाजपा विधायक अरविंद भदौरिया ही बता सकते हैं।