कमलनाथ और दिग्विजय सिंह गुट में तकरार शुरू, खनिज मंत्री ने सवाल उठाया | MP NEWS
       
        Loading...    
   

कमलनाथ और दिग्विजय सिंह गुट में तकरार शुरू, खनिज मंत्री ने सवाल उठाया | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में अब तक ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ के बीच तनातनी चल रही थी लेकिन अब कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के बीच बीच तनाव शुरू होने के संकेत मिल रहे हैं। कमलनाथ की टीम के मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कंप्यूटर बाबा के जरिए दिग्विजय सिंह पर हमला किया है। उन्होंने सवाल किया है कि कंप्यूटर बाबा किसके इशारे पर अवैध उत्खनन के मामलों में छापामारी कर रहे हैं, जबकि एक आम खनिज विभाग का है।

कंप्यूटर बाबा किसके इशारे पर छापामार कार्रवाई कर रहे हैं

खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने नर्मदा सेवा न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जब खनिज विभाग अवैध खनन रोकने मे सक्षम हैं तो बाबा किसके इशारे पर छापा मार रहे हैं। वह भी ऐसी खदानों पर जो वैध है। उन्होंने कहा कि बाबा को न तो ज्ञान है तकनीक का और न ही वैज्ञानिक है। बावजूद इसके वे किसके इशारे पर छापेमार कार्रवाई कर रहे हैं। मंत्री प्रदीप जायसवाल के बयान से संकेत साफ है। उन्होंने दिग्विजय सिंह पर हमला किया है। 

कंप्यूटर बाबा के कारण खनिज विभाग के अधिकारियों को परेशानी हो रही है

अफसरों पर दबाव बनाकर प्रकरण दर्ज कराने का काम हो रहा है। जायसवाल शनिवार को मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कई बार पंचायत की स्वीकृत खदानों पर पहुंच जाते हैं। स्वीकृत खदानों पर ट्रैक्टर ट्राली खड़े होना कोई नई बात नहीं है। बाबा की इन कार्रवाइयों से विभाग को परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा 1 अप्रैल से प्रदेश में नई खनिज नीति से रेत खनन का काम होगा। 

दिग्विजय सिंह के आशीर्वाद से कंप्यूटर बाबा को मिला है मंत्री पद का दर्जा 

बताने की जरूरत नहीं फिर भी याद दिला देते हैं कि कंप्यूटर बाबा को कमलनाथ सरकार में मंत्री पद का दर्जा दिग्विजय सिंह के आशीर्वाद से मिला है। दिग्विजय सिंह की सिफारिश पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कंप्यूटर बाबा को नर्मदा सेवा न्यास का अध्यक्ष बनाया है।