Loading...    
   


पढ़िए किस तरह डॉक्टरों ने मप्र में कोरोना संक्रमण बढ़ने दिया | MP NEWS

भोपाल। सोशल मीडिया पर कुछ विद्वान कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ने के लिए लगातार जनता को जिम्मेदार बता रहे हैं लेकिन इस घटनाक्रम में हम आपको प्रमाणित कर देंगे कि किस तरह डॉक्टरों ने कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ने दिया। किस तरह वह संदिग्ध मरीजों का इलाज नहीं कर रहे। किस तरह डॉक्टर्स कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को मरने के लिए लावारिस छोड़ रहे हैं। यह कहानी मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के खनियाधाना शहर में रहने वाले मोहम्मद समीर की है। जो बेहद नाजुक स्थिति में है और आज उसे कोरोना वायरस से संक्रमित बताया गया है। दरअसल पिछले कई दिनों से उसकी जांच ही नहीं की गई थी जबकि वह बार-बार गिड़गिड़ा रहा था।

कोरोना वायरस से संक्रमित युवक ने फेसबुक पर वीडियो डाला

कोरोना पॉजिटिव पाए गए मोहम्मद समीर ने हैदराबाद से लौटने के बाद फेसबुक पर एक वीडियो डालकर स्वास्थ्य विभाग से मदद मांगी थी, उसने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही करने का आरोप भी लगाया था। वीडियो में मोहम्मद समीर ने कहा था कि हैलो सर, मैं शिवपुरी का रहने वाला हूं। जैसा कि आजकल देश में कोरोना का बहुत कहर है। मैं अभी-अभी बाहर से लौटा हूं। 13 को हैदराबाद गया था और 15 को लौटा हूं। मैं सोशल मीडिया में पढ़ रहा हूं कि कोरोना के लक्षण किस प्रकार के होते हैं, वैसे ही लक्षण मुझमें भी थोड़े से हैं। 

संक्रमण न फैले इसलिए युवक ने खुद को सेल्फ क्वॉरेंटाइन कर लिया था

मैंने एक कमरे में बंद कर लिया है और खाना वगैरह भी खुद ले लेता हूं। किसी से मिल नहीं रहा हूं, किसी से बात नहीं कर रहा हूं। घरवालों से भी सबसे दूर हूं। जिला अस्पताल बीएमओ साहब से बात हुई है, उनसे मिला भी हूं। उन्होंने कहा है कि कमरे में बंद हो जाइए, मैं बंद हो गया हूं। अभी दो दिन से मेरी ज्यादा कंडीशन खराब हो गई है। सर्दी-खांसी हो गई है, सूखी खांसी आ रही है। कमजोरी बहुत ज्यादा हो गई है।

तबीयत खराब हुई तो डॉक्टर बोला: चिंता मत करो लड़कों को कोरोनावायरस नहीं होता

प्रशासन और स्वास्थ्य केंद्र बिलकुल लापरवाही कर रहा है, मुझे कहते हैं कि तैयार हो जाइए, एंबुलेंस लेने आ रही है। शाम को 4 बजे कहा और रात को 10 बजे तक एंबुलेंस नहीं आई। फिर कहते हैं कि ये वायरस लड़कों को नहीं हो रहा है, 60 साल की उम्र के बाद हो रहा है। 

समीर गिड़गिड़ाता रहा, कम से कम चेकअप तो करा दीजिए

मैं कहता हूं कि जो भी हो रहा है तो आप हमारा चेकअप कराइए। अगर ऐसी कंडीशन हो रही है या फिर मना कर दीजिए, तब हमारा पर्सनल इलाज करा लेंगे। हमारे पेपर तैयार करके कह रहे हैं कि पेपर तैयार हैं और मरीज पहुंच गया है। इस तरीके की लापरवाही हो रही है, मेरी हालत बहुत ज्यादा खराब हो रही है, आप लोगों से दुआ की दरख्वास्त करता हूं, दुआ करना कि मैं जल्दी ठीक हो जाऊं। 

25 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

जींस में छोटी जेब क्यों होती है, कोई बड़ा कारण है या बस डिजाइन
यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा, पढ़िए
जयारोग्य हॉस्पिटल में कोरोना पॉजीटिव 3 दिन भटकाया, अब पत्नी को भर्ती करने की नौबत
जबलपुर में 148 लोग कोरोना संदिग्ध, होम क्वारंटाइन किया
हवाई जहाज कितना माइलेज देता है, प्रति व्यक्ति ईंधन का खर्चा कितना होता है
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
शिवराज सिंह: कलेक्टरों को गाइडलाइन, किसानों, गरीबों व विद्यार्थियों को राहत
हिंदुओं का दंडवत, जिसे ढोंग कहा था, दुनिया को कोरोनावायरस से बचा रहा है: चीन और अमेरिका की रिसर्च रिपोर्ट
भोपाल में कोरोनावायरस संदिग्ध लड़की पटवारी से लिपट गई
ना खांसी, ना जुकाम, मोहल्ले से बाहर नहीं निकली फिर भी कोरोनावायरस से मौत


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here