Loading...    
   


इंदौर में 4415 लोग 1 माह विदेश से लौटे, मप्र के लोगों की जिले वार सूची जारी | INDORE NEWS

इंदौर। कोरोना वायरस (COVID-19) के कहर से पूरा देश जूझा रहा है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए देशव्यापी तालाबंदी की गयी है। इसके बावजूद कोरोना के संक्रमण के आंकड़े हर दिन बढ़ते नजर आ रहें। पिछले 1 माह में धार 134, इंदौर 4415, झाबुआ14, खंडवा 212, खरगोन 51,लोग  विदेश से लौटे हैं। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 15 फरवरी के बाद विदेश से लौटे मध्यप्रदेश के लोगों की जिले वार सूची जारी की है। जिसमें एक माह में 12 हजार से अधिक नागरिक मध्यप्रदेश लौटे हैं। जिनहें सरकार ने होम क्वारेंटाइन के लिए प्रेरित किया है।

प्रशासन ने कोरोना के प्रकोप पर नियंत्रण के लिए सख्त कदम उठाते हुए पॉजिटिव मिले मरीजों के घरों को सील कर एपिसेंटर घोषित कर दिया है। मरीज के परिजन होम क्वारेंटाइन पीरियड में रहेंगे। प्रशासन ने सख्त चेतावनी देते हुए घरों से बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके बावजूद बेवजह घरों से बाहर निकलना भयावह स्थित निर्मित होने की दिशा में बढ़ रहा है।

कोरोना से दो मौत के बाद अब प्रशासन की चिंताएँ बढ़ती जा रही है। तीन दिन में 11 संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। ऐसे में लोगों को बचाने के लिए मास्क और सेनिटाइज के साथ घरों से बेवजह बाहर ना निकले और 1 मीटर की दूरी में रहने के सख्त निर्देश जारी किए हैं। साथ ही पीड़ित के घर से बाहर के 5 किलोमीटर की परिधि को बफर जोन घोषित किया गया है। इस क्षेत्र के रहवासियों की रैंडम जांच की जाएगी। चिन्हित एरिया को नगर निगम सेनिटाइज किया जाएगा।

26 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा, पढ़िए
जींस में छोटी जेब क्यों होती है, कोई बड़ा कारण है या बस डिजाइन
जबलपुर में 148 लोग कोरोना संदिग्ध, होम क्वारंटाइन किया
जयारोग्य हॉस्पिटल में कोरोना पॉजीटिव 3 दिन भटकाया, अब पत्नी को भर्ती करने की नौबत
जबलपुर में होम क्वारंटाइन किए गए 74 लोग गायब
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
शिवराज सरकार में दो डिप्टी सीएम सहित 24 मंत्रियों का फार्मूला!
हिंदुओं का दंडवत, जिसे ढोंग कहा था, दुनिया को कोरोनावायरस से बचा रहा है: चीन और अमेरिका की रिसर्च रिपोर्ट
टोटल लॉक-डाउन में पैसा कैसे कमाए, यहां पढ़िए | HOW TO MAKE MONEY IN TOTAL LOCK-DOWN
CRPC की धारा 144 का उल्लंघन करने पर IPC की धारा 188 के तहत FIR क्यों होती है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here