Loading...    
   


राजधानी एक्सप्रेस से 200 यात्री ग्वालियर आए | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। कोरोना वायरस के चलते 21 मार्च की रात 12 बजे से ट्रेनों के संचालन पर लगी रोक के कारण ट्रेनें लेकर गई पेंट्रीकार कर्मचारी व अन्य शहरों में काम करने वाले लेाग अलग- अलग स्टेशनों पर फं स कर रह गए। अब रेलवे जो गाडियां छूट चुकी थीं, उनकी रैकों को उन सभी स्टेशनों पर वापस भेज रहा है, जहां से वे चलतीं हैं। शुक्रवार की सुबह राजधानी एक्सप्रेस के रैक से ढाई सौ ऐसे लोग झांसी से सवार होकर ग्वालियर स्टेशन पहुंचे।

गुरुवार को दक्षिण भारत में कई स्टेशनों पर फंसे 962 पेंट्रीकार वेंडरों को झांसी से इंटरसिटी रैक से ग्वालियर पहुंचाया गया था। इसके बाद शुक्रवार की सुबह भी राजधानी एक्सप्रेस के रैक से 250 से अधिक वेंडर व अन्य सामान्य यात्री जो कई दिनों से देश के अन्य जिलों में ट्रेन व बस सेवा नहीं होने के कारण फंसे हुए थे। ऐसे यात्रियों को लेकर आज राजधानी एक्सप्रेस का रैक ग्वालियर पहुंचा। इसमें वे वेंडर भी शामिल थे जो नागपुर, इटारसी व भोपाल स्टेशन के प्लेटफार्म के स्टॉलों पर काम करते थे।

सभी की हुई स्टेशन पर थर्मल स्क्रीनिंग

राजधानी एक्सप्रेस के रैक से ग्वालियर पहुंचे ये सभी लोग जैसे ही उतरे वैसे ही स्टेशन पर तैनात आरपीएफ जवानों ने उन्हें अपने घेरे में लेकर स्टेशन पर डेढ़ मीटर की दूरी पर बैठाकर वन-टू-वन स्क्रीनिंग रेलवे के स्थानीय रेल अधिकारियों की मौजूदगी में कराई। थर्मल स्क्रीनिंग होने के बाद इन लोगों को आरपीएफ की मदद से आसपास के कस्बों में भेजा जाएगा।

स्टेशन पर नहीं मिला खाना

पांच दिनों से ये भूखे प्यासे वेंडर जब ग्वालियर पहुंचे सभी लोगा को थर्मल स्क्रीनिंग के लिए प्लेटफार्म पर बैठा लिया गया। इस दौरान स्थानीय रेल अधिकारियों द्वारा खानपान की कोई व्यवस्था नहीं किए जाने के कारण ये सभी लोग भूख से व्याकु ल होते दिखे। जबकि इन सभी लोगों को लग रहा था कि ग्वालियर पहुंचने के बाद वे जल्द ही अपने-अपने घर पहुंच जाएंगे।

28 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

CRPC की धारा 144 का उल्लंघन करने पर IPC की धारा 188 के तहत FIR क्यों होती है
'पास आउट' का सही अर्थ, 'अकॉर्डिंग टू मी' का मतलब क्या होता है 
टोटल लॉक-डाउन में पैसा कैसे कमाए, यहां पढ़िए 
VVIP कारों की प्लेट पर नंबर क्यों नहीं होते, कोई लॉजिक है या अकड़ दिखाने के लिए, पढ़िए
यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
मध्यप्रदेश में शराब की दुकान मामले में शिवराज सिंह का यू-टर्न 
CORONA को खत्म करने महुआ के पेड़ से देवी प्रकट हुई, अफवाह उड़ी, मेला लगा, प्रशासन सोता रहा 
मप्र लॉकडाउन: कलेक्टर/एसपी के नाम संशोधित गाइडलाइन
मध्य प्रदेश कोरोना बुलेटिन: इंदौर-उज्जैन गंभीर, भोपाल-शिवपुरी चिंताजनक, जबलपुर-ग्वालियर कंट्रोल


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here