महाकोशल-विंध्य में ओलावृष्टि, फसलें बर्बाद, कई जिलों में कोहरा और ठंड | MP WEATHER REPORT
       
        Loading...    
   

महाकोशल-विंध्य में ओलावृष्टि, फसलें बर्बाद, कई जिलों में कोहरा और ठंड | MP WEATHER REPORT

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई जिलों में रविवार को सुबह से कोहरा और ठंड का असर दिखाई दिया। महाकौशल विंध्याचल क्षेत्र में ओलावृष्टि हुई। करीब आधा दर्जन जिलों में ओलावृष्टि के कारण फसलें बर्बाद हो गई। सिवनी, मंडला, उमरिया और शहडोल में सबसे ज्यादा ओलावृष्टि दर्ज की गई।

5 से 10 मिनट तक चने व आंवले आकार के ओले गिरने से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। सूचना के बाद राजस्व अमले ने प्रभावित गांवों में निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद ओलावृष्टि से नुकसानी सामने आएगी। लखनादौन ब्लॉक के आदेगांव, लखनादौन, पहाड़ी, टीलेगंगई के अलावा घंसौर ब्लॉक के कहानी, खमरिया गोसाई सहित अन्य गांवों में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई।

घुनघुटी में भी ओलावृष्टि, उमरिया में खिली रही धूप

उमरिया जिले में पाली के घुनघुटी में दोपहर में करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि हुई जिससे फसलों को नुकसान हुआ है। वहीं जिले के दूसरे हिस्सों में धूप खिली रही। उमरिया नगर में मौसम खुला रहा।

शहडोल में दूसरे दिन भी ओलावृष्टि

शहडोल जिले में लगातार दूसरे दिन भी जमकर बारिश हुई साथ ही ओले भी गिरे हैं जिसके चलते किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ नजर आने लगी हैं। इतना ही नहीं खेतों में फसल बिछ जाने से दाना खराब होने की आशंका को बल मिल रहा है। रविवार को शहर में चने बराबर तो गांवों में कंचे के आकार के ओले गिरे है और इससे दलहनी फसलों के नष्ट होने की आशंका है। जिले के बुढ़ार, धनपुरी में भी ओले गिरे हैं। इधर, मंडला में भी शाम को बारिश के साथ ओले गिरे हैं।