छिंदवाड़ा में आदिवासी लड़की की हत्या, गैंगरेप नहीं डबल लव स्टोरी के कारण: पुलिस | MP NEWS
       
        Loading...    
   

छिंदवाड़ा में आदिवासी लड़की की हत्या, गैंगरेप नहीं डबल लव स्टोरी के कारण: पुलिस | MP NEWS

छिंदवाड़ा। पुलिस ने दावा किया कि पिछले दिनों 17 साल की आवासीय लड़की की हत्या अपहरण और गैंगरेप के बाद नहीं बल्कि एक दोहरी प्रेम कहानी के कारण हुई है। पुलिस का दावा है कि लड़की का एक साथ दो युवकों से अफेयर था। जब दोनों लड़कों को इसकी जानकारी मिली तो प्यार में मिला धोखा वह सहन नहीं कर पाए। दोनों ने एक प्लान बनाया और किसी प्लान के तहत लड़की की हत्या कर दी गई। 

लावाघोघरी थाना प्रभारी कौशल सूर्या ने बताया कि थाना क्षेत्र में रहने वाली एक नाबालिग के दो युवकों से संबंध थे। इन संबंधों के चलते जब दोनों युवकों को इस बात का एहसास हुआ किउनके साथ प्यार में धोखा हो रहा है तो नाबालिग को 18 जनवरी को आरोपित चिखली मुकासा निवासी महेन्द्र पिता श्यामजी धुर्वे उम्र 22 साल और ढोलनखापा निवासी विजय पिता दाजीराम धुर्वे उम्र 23 साल अपने साथ पाठई के जंगल ले गए। जहां दोनों आरोपितों की बातचीत नाबालिग से हुई। इस बीच बातचीत के दौरान नाबालिग से कहासुनी करते हुए दोनों आरोपितों ने नाबालिग का गला घोंट दिया और उसकी हत्या कर मौके से भाग गए। 

नाबालिग की तलाश के दौरान 26 जनवरी को नाबालिग का शव जंगल मिला। पुलिस ने शव बरामद किए जाने के बाद मामले की पड़ताल करते हुए दोनों आरोपितों का पता कर उन्हें अलग-अलग क्षेत्र से गिरफ्तार किया। गिरफ्तार हुए आरोपितों को न्यायालय में पेश किया गया। जहां से दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।