आशा कार्यकर्ता की संपत्ति और कॉल डिटेल की जांच होगी| GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

आशा कार्यकर्ता की संपत्ति और कॉल डिटेल की जांच होगी| GWALIOR NEWS

ग्वालियर। कलेक्टर एवं सक्षम प्राधिकारी पीसी-पीएनडीटी एक्ट श्री अनुराग चौधरी की अध्यक्षता में सोमवार को बैठक सम्पन्न हुई। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि झांसी में हुए स्टिंग ऑपरेशन में अच्छा काम करने के लिए श्रीमती मीना शर्मा सदस्य पीसी-पीएनडीटी की सराहना की। उन्होंने कहा कि जो लोग इस ऑपरेशन में संलिप्त पाए गए जिसमें आशा कार्यकर्ता एवं आंगनबाड़ी सहायिका सम्मिलित हैं उनकी सम्पत्ति की जांच कराई जाए। साथ ही उनकी तीन माह की कॉल डिटेल का भी परीक्षण करें। बैठक में डॉ. बिंदु सिंघल ने जानकारी प्रस्तुत की।

आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं पर निगरानी रखी जाए

कलेक्टर ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सुपरवाइजरों को ट्रेकर का प्रशिक्षण भी दिया जाए। जिससे उन्हें इस संबंध में पूरी जानकारी हो सके। पीसी-पीएनडीटी एक्ट सलाहकार समिति की सदस्य ने सुझाव दिया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व आशा कार्यकर्ताओं पर निगरानी रखी जाए, जिससे भविष्य में इस प्रकार के कृत्यों पर रोक लगाई जा सके।

श्रीमती मीना शर्मा ने कहा कि कुछ आशा कार्यकर्ताएं जो डबरा व भितरवार से आकर ग्वालियर में मरीजों की जांच कराती हैं, इस पर रोक लगाई जाए तथा विभाग के अधिकारी इन पर निगरानी रखें। इस पर कलेक्टर ने अपनी सहमति व्यक्त की। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री शिवम वर्मा, सीएमएचओ डॉ. एस के वर्मा, डॉ. के एन शर्मा, डॉ. अनीता श्रीवास्तव, डॉ. आर के चतुर्वेदी, डॉ. पंकज यादव आदि उपस्थित थे।