Loading...

शिक्षक को VRS देने वाले अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दायर करेगा TWTA

भोपाल। ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन जिला शाखा बड़वानी के शिक्षकों द्वारा एकत्रित की गई 55000₹ की सहयोग राशि प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर, संजीव सोनी, संदीप वर्मा, राकेश लोधी, विनीत शुक्ला, श्रवण कुमार मिश्रा, गंगासागर त्रिपाठी, कमलेश पाण्डेय, पंकज सिंह, अनुपम चतुर्वेदी, संजय तिवारी, गिरिराज शरण जयसवाल, देवेन्द्र रमण पनरिया, रामसिंह आदि साथियों की उपस्थिति में स्व यज्ञसेन श्यामले की पत्नी सुषमा देवी एवं पुत्र अजय श्यामले को सौंपी गई। बड़वानी के सभी सहयोगी शिक्षक साथियों को ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की प्रांतीय कार्यकारिणी की ओर से  धन्यवाद ज्ञापित कर आभार जताया।

ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन अपने खर्च पर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर यज्ञसेन श्यामले की पत्नी एवं पुत्र की ओर से अनुकंपा नियुक्ति, अनुग्रह राशि, ग्रेच्युटी आदि के लिए केस लड़ेगा। इसके लिए तुरंत वकालतनामा में हस्ताक्षर करा कर आवश्यक दस्तावेज लिया गया। एसोसिएशन 27 जनवरी को जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दायर करेगा, ताकि स्थानांतरण के बाद भी ऐसे अधिकारी गलत निर्णय के प्रति जवाबदेही से मुक्त ना हो सकें। प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर ने मौके पर ही एनएसडीएल  में जमा राशि की पूरी डिटेल निकालकर जमा राशि का वितरण देखा, जिसमें यज्ञसेन श्यामले के एनएसडीएल खाते में अब तक 469976₹ जमा हुई है। 

प्रांताध्यक्ष ने संकुल प्राचार्य एवं एनएसडीएल के अधिकारियों से फोन से बात कर जमा राशि  का 20% नगद एवं 80% राशि से पेंशन के लिए भी आवश्यक कार्यवाही पूरी कराने की बात की। साथ ही तुरंत 103जीडी फार्म निकाल कर नॉमिनी पत्नी सुषमा देवी के द्वारा भरवाया गया तथा सभी आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी दी गई। एनएसडीएल के अधिकारियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार श्यामले की पत्नी को प्रतिमाह सिर्फ 1999₹ की राशि पेंशन के रूप में मिलेगी।

ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि 20-50 के फार्मूले के तहत अनिवार्य सेवानिवृत्त किए गए 16 शिक्षकों में से यज्ञसेन श्यामले की 15 जनवरी को निधन हो गया। जिस पर विभिन्न शिक्षक संगठनों प्रशासन की इस दोषपूर्ण नीति का विरोध कर अपना रोष जताया। लेकिन ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने इस मामले को ना सिर्फ मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया बल्कि शिक्षकों से  मृतक शिक्षक के परिवार को आर्थिक सहायता देने की अपील भी की, जिससे मृतक शिक्षक के परिवार के खाते में अब तक 2,18,000₹ दो लाख अठारह हजार रुपए की सहयोग राशि जमा हो चुकी है। 

साथ ही बड़वानी के शिक्षकों की ओर से 55000₹ की सहयोग राशि प्रांताध्यक्ष द्वारा नगद दी गई। एसोसिएशन ने मृतक शिक्षक के परिवार के लिए एनएसडीएल से पेंशन दिलाने एवं हाईकोर्ट में याचिका दायर करने संबंधी ठोस कार्रवाई की। ज्ञातव्य हो कि 20-50 फार्मूले के तहत सेवानिवृत्त रीवा के शिक्षक शैलेन्द्र मिश्रा की ओर से भी एसोसिएशन ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करवाया है । जिसका निर्णय शीघ्र आने वाला है।