माध्यमिक शिक्षक: जब पात्रता परीक्षा एक साथ हुई है तो काउंसलिंग भी एक साथ होनी चाहिए | MP NEWS
       
        Loading...    
   

माध्यमिक शिक्षक: जब पात्रता परीक्षा एक साथ हुई है तो काउंसलिंग भी एक साथ होनी चाहिए | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के परिणाम आ चुके हैं परंतु उम्मीदवारों की समस्याएं अब भी बरकरार है। अब काउंसलिंग को लेकर जद्दोजहद शुरू हो गई है। स्कूल शिक्षा विभाग तो काउंसलिंग की तैयारी कर रहा है परंतु जनजातीय कार्य विभाग की तरफ से कोई हलचल नजर नहीं आ रही। उम्मीदवारों का कहना है कि जब पात्रता परीक्षा एक साथ हुई है तो काउंसलिंग भी एक साथ होनी चाहिए।

उम्मीदवार सोमवार को सीएम हाउस के अलावा जनजातीय एवं आदिम जाति कल्याण कार्य विभाग के मंत्री ओमकार सिंह मरकाम के बंगले पर पहुंचे और ज्ञापन दिया। वहीं मंत्रालय और लोक शिक्षक संचालनालय में भी ज्ञापन दिया। मप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थी संघ के रंजीत गौर का कहना है कि परीक्षा परिणाम घोषित हो चुके हैं, लेकिन भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी है। भर्ती के इंतजार में योग्य उम्मीदवार अपनी निर्धारित आयु सीमा को पार करने जा रहे हैं। इसके अलावा मांग की गई है कि EWS का आरक्षण लागू किया है। 

स्कूल शिक्षा विभाग की गाइडलाइन 10 तारीख को जारी होगी 

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से जानकारी आ रही है कि माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा पास उम्मीदवारों की काउंसलिंग के लिए गाइडलाइन 10 जनवरी 2020 को जारी की जाएगी और इसी के साथ काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी लेकिन जनजाति कार्य विभाग की ओर से इस संदर्भ में अब तक कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है।