Loading...

CHHATARPUR के कारोबारी का इंजीनियर बेटा BHOPAL में ड्रग्स बेचते पकड़ा गया | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले करीब एक साल से सक्रिय 'म्याऊं-म्याऊं ड्रग्स' से जुड़ी एक गिरफ्तारी के बाद इस गैंग के दूसरे सदस्यों की तलाश की जा रही है। 'म्याऊं म्याऊं ड्रग्स' को एमडी ड्रग्स भी कहा जाता है। शहर में इस ड्रग्स का चलन सबसे ज्यादा है। युवा वर्ग सबसे ज्यादा इसी ड्रग्स को लेता है।

आरोपी से लाखों की ड्रग्स बरामद

राजधानी में पुलिस संगठित अपराधों और मादक पदार्थ से जुड़ी गैंग को लेकर विशेष अभियान चला रही है। गैंग से जुड़े लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है। थाना क्राइम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि चौपाटी प्रोटिन्स की दुकान के पास, नरेला जोड़, अयोध्या बायपास रोड पर एक युवक ड्रग्स लेकर खड़ा है। क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर आरोपी को दबोच लिया। बताया गया कि आरोपी पिछले करीब एक साल से इस धंधे में लिप्त है। मौके से क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी के पास से 510 मिलीग्राम 'म्याऊं म्याऊं' यानि एमडी मादक पदार्थ को जब्त किया है। इस ड्रग्स की कीमत लाखों में बताई जा रही है। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट (NDPS Act) के तहत कार्रवाई की गई।

आरोपी की गर्लफ्रेंड भी नशे की आदी

मादक पदार्थ से जुड़ी गैंग के आरोपी की पहचान यशु वर्मा उर्फ ऐश्वर्य के रूप में हुई है। छतरपुर निवासी आरोपी यशु वर्तमान में भोपाल के अयोध्यानगर में रह रहा था। आरोपी के पास बीई सिविल (इंजीनियरिंग) की डिग्री है, अपनी पढ़ाई के दौरान आरोपी नशे का आदी हो गया था। जब नशे की लत को पूरा नहीं कर सका, तो वह धीरे-धीरे इस नशे के कारोबार में लिप्त हो गया। युवक की गर्लफ्रेंड भी नशे की आदी है।

होटल कारोबारी है आरोपी

आरोपी यशु वर्मा का होटल का कारोबार है। होटल के कारोबार पर परिवार का होल्ड है। यही वजह है कि अपने नशे के शौक को पूरा करने के लिए आरोपी नशे के कारोबार से जुड़ गया। आरोपी अपने दोस्तों के साथ दोस्तों के बताए गए लोगों को एमडी ड्रग्स बेचता था। ड्रग्स बेचने के बाद आरोपी कुछ ड्रग्स अपने और अपनी गर्लफ्रेंड के लिए रख लेता था।