Loading...

यह खंडहर नहीं सहजपुर पुलिस चौकी है, 1896 में बनी थी | SAGAR MP NEWS

केसली/सागर। केसली तहसील की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत सहजपुर की जनसंख्या 5000 से ज्यादा है। इस पंचायत का 40 ग्रामों से संपर्क है। अपराध के क्षेत्र में अब्बल है एवं यह क्षेत्र अति संवेदनशील है। सहजपुर ग्राम पंचायत में ब्रिटिश शासन काल में पुलिस चौकी रही है। केसली थाना बनने से पूर्व सहजपुर में पुलिस चौकी थी। केसली थाना बनने से यहां की पुलिस चौकी समाप्त कर दी गई। 

पुलिस चौकी अब मूत्रालय बन गई है, लोग कचरा फेंक जाते हैं

सहसजपुर का बाजार हाट सोमवार को लगता है। इस हिसाब से ज्यादा भीड़ भाड़ हो जाती है। जिससे लड़ाई झगड़े होते हैं। यहां पर पुलिस चौकी की स्थापना 1896 में हुई थी। चौकी के पास में पुलिस लाइन भी बनी थी जिसमें पुलिसकर्मी रहते थे। पुलिस लाइन पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। पुलिस चौकी में जनता पेशाब करती है और कचरा डालते हैं। पास में जैन समाज एवं सवर्ण समाज के मंदिर परिसर स्थित है। यहां का पूरा कचरा हवा में उड़कर मंदिर के आसपास जाता है जिससे श्रद्धालुओं को बेहद परेशानी होती है। 

सहजपुर पुलिस चौकी फिर से शुरू की जाए

गांव के 68 वर्षीय बुजुर्ग सुमत कुमार जैन ब पंडित जुगल तिवारी ने बताया कि विधायक हर्ष यादव वर्तमान में कैबिनेट मंत्री से मांग की थी कि पुलिस चौकी बनाई जाए पर मांग पूरी नहीं हुई अब कैबिनेट मंत्री बनने के बाद अब मांग पूरी होने की उम्मीद की किरण नजर आ रही है।केसली तहसील के साथ सहजपुर राजस्व निरीक्षक का पद है और राजस्व निरीक्षक का क्वार्टर है पर राजस्व निरीक्षक ना ही सहजपुर जाते हैं ना निवास करते हैं।