Loading...    
   


खबर का असर: छिंदवाड़ा राजस्व अधिकारी की आत्महत्या के कारणों की जांच कमिश्नर करेंगे | MP NEWS

भोपाल। एक बार फिर भोपाल समाचार की खबर का असर दिखाई दिया है। छिंदवाड़ा के सहायक अधीक्षक, भू अभिलेख प्रवीण मरावी की आत्महत्या के कारणों की प्रशासनिक जांच के आदेश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के निर्देश पर जबलपुर कमिश्नर को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। बता दें कि मृत अधिकारी की बहन ने कलेक्टर छिंदवाड़ा पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। भोपाल समाचार ने इस मामले को प्रमुखता से प्रसारित किया था (click here for news)। 

15 दिन में जांच प्रतिवेदन मांगा

मध्यप्रदेश शासन की ओर से प्राप्त आधिकारिक सूचना के अनुसार छिंदवाड़ा में पदस्थ सहायक अधीक्षक, भू-अभिलेख श्री प्रवीण मरावी की मृत्यु की प्रशासनिक जाँच के आदेश जारी किये हैं। आयुक्त, जबलपुर संभाग को जाँच अधिकारी नियुक्त किया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी इस आदेश में कहा गया है कि आयुक्त, जबलपुर संभाग 15 दिन में राज्य शासन को अपना जाँच प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। छिंदवाड़ा में पदस्थ सहायक अधीक्षक, भू-अभिलेख श्री प्रवीण मरावी की मृत्यु दिनांक 19-20 दिसम्बर की दरम्यानी रात में हुई। जाँच अधिकारी मृत्यु की परिस्थितियों की जाँच करेंगे। 

मामला क्या है 

छिंदवाड़ा के सहायक भू अभिलेख अधिकारी श्री प्रवीण मरावी ने 19-20 दिसंबर की दरमियानी रात जहरीला पदार्थ सेवन करके आत्महत्या कर ली थी। उनकी बहन ने आरोप लगाया है कि छिंदवाड़ा कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा एक अवैध नियुक्ति कराना चाहते थे। उनके भाई ने इंकार किया तो उसे धमकी दी, प्रताड़ित किया, सस्पेंड कर दिया। यहां तक कहा कि " मेरे रहते तू कभी नौकरी नहीं कर पाएगा।" डिप्रेशन में आकर राजस्व अधिकारी ने आत्महत्या कर ली।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here